[gtranslate]
Uttarakhand

सांसद बलूनी के प्रयास से कुंदन सिंह के परिवार को मिली दस लाख रुपए की मदद 

रविवार  19 जुलाई को राजधानी दिल्ली में हुई जबरदस्त बारिश से मिंटो रोड ब्रिज पर हुए जलभराव में पिथौरागढ़ निवासी वाहन चालक  कुंदन सिंह  पानी में डूब गया, उसकी मौके पर ही  मौत हो गई ।जब यह खबर सांसद अनिल बलूनी के कानों में गूंजी  तो उन्होंने बिना देर किए तत्काल मृतक के परिवार को आर्थिक मदद पहुंचाई।

बलूनी हमेशा उत्तराखंड के लिए अच्छा कार्य करने का प्रयास करते रहते हैं l इस बार  उन्होंने वाहन  चालक पिथौरागढ़ निवासी कुंदन सिंह की दुखद मृत्यु के बाद दिल्ली के लेफ्टिनेंट गवर्नर (उप राज्यपाल) श्री अनिल बैजल से कुंदन सिंह के परिवार को आर्थिक सहायता और एक परिजन को दिल्ली सरकार में नौकरी का अनुरोध किया है ।अनिल बलूनी के इस  प्रयास के बाद उपराज्यपाल द्वारा मृतक के परिवार को 10 लाख रुपए का चेक जारी कर दिया गया।कुंदन सिंह का परिवार इस राशि को लेने दिल्ली आने में असमर्थ है, अतः जिलाधिकारी पिथौरागढ़ के माध्यम से उक्त सहायता राशि उन्हें पहुंचाई जाने व उनके परिजन के लिए सरकारी नौकरी के लिए अनिल बलूनी ने राज्यपाल से अनुरोध किया lपीड़ित परिवार के लिए बीजेपी के राज्यसभा सांसद फिर संकट मोचक साबित हुए हैं।

गरीबी में गुजर-बसर कर रहे परिवार के कुंदन ही एकमात्र कमाऊ सदस्य थे।  इसे देखते हुए भाजपा के राष्ट्रीय मीडिया संयोजक और राज्यसभा सांसद अनिल बलूनी ने उप राज्यपाल अनिल बैजल से घटना के बाद फोन पर बात की। वहीं उन्होंने पत्र लिखकर भी परिवार की मदद का अनुरोध किया था। जिसके बाद भाजपा सांसद अनिल बलूनी की पहल पर उप राज्यपाल अनिल बैजल द्वारा मृतक के परिवार को 10 लाख रुपए का चेक जारी कर दिया गया है । कुंदन सिंह अपने पीछे पत्नी मुन्नी देवी और 24 और  12 वर्ष की दो बेटियां  छोड़ गए हैं। अत्यधिक निर्धन कुंदन सिंह पर ही पूरे परिवार का भार था।

लोगों की मदद के लिए जाने जाते हैं  अनिल बलूनी

उत्तराखंड से राज्यसभा सांसद, अनिल बलूनी राज्य के लोगों की मदद के लिए जाने जाते हैं। इससे पूर्व वह दुबई में फंसे उत्तराखंड के पांच सौ लोगों की वापसी के लिए विदेश मंत्री और नागरिक उड्यन मंत्री से बात कर चुके हैं।  अनिल बलूनी की पैरवी से  उत्तराखंड के लगभग सोलह हजार विशिष्ट बीटीसी शिक्षकों को मान्यता प्राप्त हो सकी है। अनिल बलूनी की कोशिशों के बाद ही केंद्र सरकार ने एनसीटीई एक्ट में संशोधन के जरिए विशिष्ट बीटीसी शिक्षकों को मान्यता प्रदान की थी। लॉकडाउन के दौरान देश के विभिन्न राज्यों में फंसे उत्तराखंड के लोगों की वापसी के लिए उन्होंने रेल मंत्री पीयूष गोयल से भेंट की थी। जिसके बाद मुंबई, पुणे, इंदौर बेंगलुरु जयपुर, और गुजरात के विभिन्न शहरों में फंसे उत्तराखंडियो की सकुशल वापसी हो सकी और भी कई कार्य वह समय-समय पर उत्तराखंड के लोगों के लिए करते रहे हैं। उत्तराखंड से राज्यसभा सांसद अनिल बलूनी उत्तराखंड के सबसे सक्रिय सांसद रहे हैं l

You may also like

MERA DDDD DDD DD