[gtranslate]
Uttarakhand

जेल में आरजे बनकर कैदियों ने बनाया संगीतमय माहौल…

कारागार में बंद कैदियों का मनोरंजन उनके साथी कैदी आरजे बनकर करेंगे। उत्तराखंड की दूसरी बड़ी हल्द्वानी जेल में अब कैदियों के सुनने के लिये प्रदेश के पहले एफएम रेडियो की शुरुआत हो चुकी है। जिसके जरिये कैदी अपने मनपसंद के फरमाइशी गाने सुन सकेंगे, जिसमे सुबह और शाम कैदियों के लिए धार्मिक भजन भी लगाए जा रहे हैं ताकि उनका मन शांत रह सके, वरिष्ठ जेल अधीक्षक मनोज आर्य का कहना है कि हल्द्वानी जेल में वर्तमान समय मे 1230 पुरुष और 70 महिला कैदी हैं जिनके मनोरंजन के लिये जेल परिसर में एफएम रेडियो की शुरुआत की गयी हैं। सुबह 6 से 8 बजे तक और शाम 5 से 6 बजे तक भजन सुनाया जाता है, वही महिला कैदियों की फरमाइश के गाने दोपहर 1 से 2 बजे तक और पुरुष कैदियों की फरमाइश के गाने दोपहर 3 से 5 बजे तक सुनाए जाते हैं। वही कैदियों द्वारा प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के मन की बात के कार्यक्रम को सुनने की बात कही गयी है जिस पर जेल प्रशासन द्वारा 27 अक्टूबर को कैदियों को जेल में रेडियो के माध्यम से मन की बात कार्यक्रम सुनाया जाएगा और जिसके लिए हर बैरक में रेडियो की व्यवस्था की जा रही है, वरिष्ठ जेल अधीक्षक का कहना है कि कैदियों के जन्मदिन के मौके पर भी उनको एफएम पर बधाई संदेश भी सुनाया जाता है। एफएम रेडियो को चलाने के लिये जेल के 4 कैदियों को आरजे के रूप में नियुक्त किया गया है, जो अलग अलग समय पर एफएम रेडियो को चलाते हैं। हल्द्वानी जेल उत्तराखंड का पहला ऐसा जेल बन गया है जहां कैदियों के लिये एफएम रेडियो की शुरुआत हुई है ताकि उनका मनोरंजन हो सके और वो अपने जीवन मे व्यस्त रह सके।

You may also like

MERA DDDD DDD DD