[gtranslate]
Uttarakhand

डेंगू मच्छर के सामने लाचार सरकार…

उत्तराखंड में डेंगू रुकने का नाम नहीं ले रहा है। हल्द्वानी के सुशीला तिवारी अस्पताल में 14 साल की बच्ची की डेंगू से उपचार के दौरान मौत हो गई, हल्द्वानी शहर और आसपास के इलाकों में डेंगू से मौत का आंकड़ा अब तक 15 पहुंच गया है, जबकि डेंगू के मरीजों की संख्या 1833 के आसपास है, यानी हल्द्वानी के हर दूसरे तीसरे घर में डेंगू के मरीज हैं। डेंगू से निपटने के सभी सरकारी इंतजाम फेल साबित हो गए हैं और तमाम सरकारी दावे खोखले साबित हो रहे हैं, डेंगू ही नहीं संदिग्ध बुखार, वायरल, टाइफाइड, स्क्रब टायफस के तमाम मरीज सरकारी और निजी अस्पतालों में भर्ती हैं, लाइलाज बीमारी डेंगू से आम जनता परेशान है तो डेंगू का डंक सियासत को भी लग गया है, ऑल इंडिया कांग्रेस कमेटी के सदस्य सुमित हृदेश और कांग्रेस के पार्षदों ने सरकार और हल्द्वानी नगर निगम से डेंगू के बढ़ते मामलों को देखते 13 सवाल पूछ लिए, सवाल यह कि डेंगू को रोकने के लिए अब तक नगर निगम ने क्या कदम उठाए, अब तक डेंगू से जितनी भी मौतें शहर में हुई है इन मौतों का जिम्मेदार कौन है ?  बीजेपी गांधी जयंती के ऊपर पदयात्रा तो कर रही है अगर यह पदयात्रा हल्द्वानी के मेयर डेंगू प्रभावित इलाकों में करते तो डेंगू को रोका जा सकता था आखिर ऐसा क्यों नहीं हुआ ?  जो मेडिकल वेस्ट हल्द्वानी के आसपास जंगल में फेंका जा रहा है उसका ठोस प्रबंधन क्यों नहीं ?  क्योंकि शहर में अधिकतर बीमारियां तो वहीं से संक्रमित हो रही हैं, उन्होंने इसे सरकार का फेलियर बताया और कहा कि डेंगू से निपटने में सरकार बुरे तरीके से फेल हो चुकी है। आरोप सरकार पर लगा तो बीजेपी के प्रदेश अध्यक्ष एवं नैनीताल सांसद अजय भट्ट सरकार के बचाव में उतरे, उन्होंने कहा कि दिनों दिन डेंगू के मरीजों की संख्या घट रही है, और उम्मीद करनी चाहिए कि जल्द डेंगू पर काबू पा लिया जाएगा, साथ ही विपक्ष को नसीहत भी दी कि यह समय सरकार पर हमला करने और राजनीति करने का नहीं है, लिहाजा डेंगू जैसे मामले पर हम एकजुट हो और यदि उनके पास कोई ऐसा तरीका है जिससे सरकार डेंगू से निपटने में सफल हो सकती है तो वह सरकार के साथ उसको साझा कर सकते हैं, अजय भट्ट के मुताबिक बीजेपी के कार्यकर्ता वार्ड मेंबर डेंगू प्रभावित इलाकों का दौरा कर रहे हैं लोगों को जागरूक कर रहे हैं कि डेंगू के लिहाज से क्या प्रभावी कदम उठाए जाने चाहिए और कैसे डेंगू से बचाव किया जा सकता है।

You may also like

MERA DDDD DDD DD