[gtranslate]
Uttarakhand

जनता के सामने ही भिड़े कांग्रेस नेता

कांग्रेस में मुख्यमंत्री के चेहरे को लेकर पौड़ी में हुआ पंगा

 

उत्तराखण्ड में मुख्यमंत्री के चेहरे को लेकर कांग्रेस के भीतर इस कदर वैचारिक भिडंत चल रही है कि पार्टी नेता इस जंग में जनता की भी परवाह नहीं कर रहे हैं। उनका अंदरूनी झगड़ा खुलेआम सार्वजनिक स्थलों पर सामने आ रहा है। अभी हाल ही में गढ़वाल मंडल के अंतर्गत पौड़ी विधानसभा क्षेत्र में मुख्यमंत्री के चेहरे को लेकर कांग्रेस कार्यकर्ताओं के बीच का घमासान खुलकर सामने आया। कार्यकर्ताओं का यह घमासान बैठक स्थल आडीटोरियम से बाहर सड़क तक पहुंच गया। बैठक में मौजूद वरिष्ठ पदाधिकारियों को बैठक छोड़ कर जाना पड़ा। हालांकि बाद में वरिष्ठ पदाधिकारियों ने कहा कि बैठक पूरी हो चुकी थी। बैठक में सभी अपना पक्ष रख चुके थे।

1 फरवरी को पूर्व काबीना मंत्री एवं पौड़ी जनपद प्रभारी राजेंद्र भंडारी सहित कई वरिष्ठ कांग्रेस नेता जनपद मुख्यालय पहुंचे। यहां इन वरिष्ठ नेताओं को कार्यकर्ताओं के साथ बैठक करनी थी। बैठक से जनपद भर से पहुंचे कांग्रेस  कार्यकर्ताओं ने शहर में बस अड्डे से संस्कृति  भवन तक रैली निकाली। इसके बाद संस्कृति भवन के ऑडीटोरियम में कार्यकर्ताओं की बैठक आयोजित की गई। बैठक में जनपद प्रभारी राजेंद्र भंडारी, चुनाव संचालन समिति के समन्वयक मनीष खंडूड़ी, सह जिला प्रभारी नवीन जोशी, प्रदेश उपाध्यक्ष व श्रीनगर के पूर्व विधायक गणेश गोदियाल सहित अन्य वरिष्ठ नेता मौजूद थे। बैठक के दौरान प्रदेश उपाध्यक्ष गणेश गोदियाल ने मुख्यमंत्री के चेहरे के लिए पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत को सुयोग्य बताया। जिस पर बैठक में मौजूद प्रदेश महासचिव राजेंद्र शाह ने कड़ा एतराज जताया।

शाह ने कहा कि सीएम का चेहरा निर्धारित करना हाईकमान का कार्य है। यह मंच इस इस बात पर चर्चा करने के लिए उचित नहीं है। शाह की इस बात पर कई कार्यकर्ता मंच पर चढ़़ गए और शाह के साथ बहस करने लगे। मामला इतना बढ़ा कि बैठक में मौजूद वरिष्ठ नेता उठ कर चले गए। लेकिन कार्यकर्ता उनके पीछे सड़़क तक आ गए। सड़क पर भी कुछ देर कार्यकर्ताओं के बीच विवाद चलता रहा। हालांकि बाद में वरिष्ठ नेताओं के चले जाने पर मामला शांत हो गया। वहीं जनपद प्रभारी राजेंद्र भंडारी ने कहा कि यह संगठन की बैठक् थी। जिसमें सभी कार्यकर्ताओं ने अपना पक्ष रखा है। समय आने पर मुख्यमंत्री का चेहरा भी निर्धारित कर दिया जाएगा। गौरतलब है कि गोदियाल हरीश रावत खेमे के तो शाह-प्रीतम खेमे के माने जाते हैं।

You may also like

MERA DDDD DDD DD