[gtranslate]
  • अली खान

पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत चुनाव अभियान में जुटे हुए हैं। वे जनता को अपने शासन की उन योजनाओं से अवगत करा रहे हैं जिन्हें त्रिवेंद्र सरकार ने बंद कर दिया

उत्तराखण्ड में कांग्रेस ने 2021 को देखते हुए अपना चुनाव अभियान तेज कर दिया है। प्रदेश में हुए नेतृत्व परिवर्तन को पार्टी अपने लिए एक नई संभावना के तौर पर देख रही है। पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत तो जगह-जगह जाकर अपने शासन की विकास नीतियों की याद दिला रहे हैं। इसके साथ ही वे जनता को अहसास करा रहे हैं कि भाजपा जिन लोगों को भी मुख्यमंत्री की कुर्सी पर बिठाती है, वे अयोग्य साबित होते हैं। खुद ही भाजपा उन्हें कुर्सी से उतार देने को विवश होती है।

कांग्रेस के राष्ट्रीय महासचिव और पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत ने कहा कि प्रदेश में महिलाओं की पेंशन खत्म करने पर ही त्रिवेंद्र सिंह रावत की कुर्सी गई है। कांग्रेस ने महिलाओं के लिए जो पेंशन योजना शुरू की थी, वह त्रिवेंद्र सिंह रावत ने खत्म कर दी थी। अगर फिर से प्रदेश में कांग्रेस की सरकार आई तो महिलाओं की दोबारा पेंशन शुरू की जाएगी। पूर्व सीएम ने कहा कि प्रदेश में दोबारा सरकार आने पर प्रदेश की जनता को बिजली और पानी भी मुफ्त दिया जाएगा। आगामी चुनाव में प्रदेश की जनता भाजपा को सत्ता से बाहर का रास्ता दिखाएगी। उन्होंने कार्यकर्ताओं से अभी से चुनाव की तैयारियों में जुटने का आह्वान किया।

रुड़की के ढंडेरा में कांग्रेस की ओर से जल, जंगल, जमीन संगोष्ठी का आयोजन किया गया। पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत और पूर्व प्रदेश अध्यक्ष किशोर उपाध्याय का कार्यकर्ताओं ने फूल माला और शाॅल ओढ़ाकर स्वागत किया। संगोष्ठी में पूर्व सीएम हरीश रावत ने कहा कि कांग्रेस सरकार के आते ही एक साल में किशोर उपाध्याय का वनाधिकार एजेंडा लागू कर दिया जाएगा। वनाधिकार आंदोलन के प्रणेता किशोर उपाध्याय जल, जंगल, जमीन और जन मुद्दों पर जो अभियान लेकर चल रहे हैं, वह इसका समर्थन करते हैं। आज जो आपदाएं आ रही हैं, उसमें पर्यावरण संतुलन बिगड़ना मुख्य कारण है।

पर्यावरण संतुलन बनाए रखना हम सभी की जिम्मेदारी है। कांग्रेस सरकार सत्ता में आती है तो प्रदेश की जनता को बिजली व पानी की कुछ मात्रा निशुल्क दी जाएगी। प्रदेश के हर परिवार को इसका लाभ मिलेगा। रावत ने कहा कि जब वह सीएम थे, उन्होंने प्रदेश की जनता के लिए कई योजनाएं शुरू की थी। जिनका प्रदेश की जनता को लाभ मिल रहा था। लेकिन जब भाजपा सत्ता में आई तो उसने यह योजनाएं बंद कर जनता को ठगने का काम किया। कांग्रेस ने महिलाओं के लिए जो पेंशन योजनाएं चलाई थी, उन्हें त्रिवेंद्र सिंह रावत ने बंद कर दिया था। इसके चलते ही उन्हें सीएम के पद से हाथ धोना पड़ा है। भाजपा के राज में कोई भी सीएम जनता की समस्या को नहीं सुन रहा है। भाजपा सरकार ने जनता से जो वादे किए थे, वह उनपर खरी नहीं उतर पाई है। इसका जवाब जनता आने वाले चुनाव में भाजपा को देकर एक बार फिर कांग्रेस के हाथ में सत्ता सौंपेगी। हरीश रावत ने कहा कि आज प्रदेश में गुंडाराज चल रहा है। मीडियाकर्मियों पर खनन माफिया हमले कर रहे हैं। अगर मीडिया जनता की आवाज को उठाता है तो उस पर केस दर्ज कर उन्हें दबाने का काम सरकार की ओर से किया जा रहा है। मीडिया पर लगातार हो रहे हमले प्रदेश सरकार की कायरता को दर्शाते हैं। प्रदेश के नए सीएम तीरथ सिंह रावत महिलाओं के पहनावे पर गलत बयानबाजी कर रहे हैं। ऐसे बयान देना उनकी मानसिकता को दर्शाता है। कांग्रेस ने महिलाओं के सम्मान के लिए हमेशा लड़ाई लड़ी है और आगे भी लड़ती रहेगी। रावत बोले कि केंद्र सरकार ने तीन कृषि कानून बनाकर देश के किसानों को डुबाने का काम किया है।

पिछले कई माह से कृषि कानून वापस लेने की मांग को लेकर देशभर के किसान गाजीपुर बाॅर्डर पर बैठे हुए हैं। लेकिन सरकार तानाशाही रवैया अपना रही है और किसानों की मांगों को अनसुना कर रही है। कांग्रेस सरकार किसानों के लिए कंधे से कंधा मिलाकर लड़ाई लड़ेगी। जब तक कृषि कानून वापस नहीं होंगे, तब तक कांग्रेस किसानों के साथ यह लड़ाई लड़ती रहेगी। उन्होंने कहा कि आगामी विधानसभा चुनाव के लिए कार्यकर्ता अभी से तैयारियों में जुट जाएं और बूथ स्तर तक पार्टी को मजबूत बनाने का काम करें। आज का युवा कार्यकर्ता कांग्रेस की रीढ़ है। इसलिए युवा कार्यकर्ता जोश के साथ पार्टी को मजबूत बनाने का काम करें। कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष किशोर उपाध्याय ने कहा कि सन 2006 में यूपीए सरकार ने वन अधिनियम के माध्यम से वनों में रहने वाले लोगों को उनके अधिकार दिए थे, लेकिन उन अधिकारों को मोदी सरकार पूरी तरह से लागू नहीं कर पाई है। जिसके लिए वह बराबर मांग उठा रहे हैं। इस दौरान प्रदेश कांग्रेस प्रवक्ता श्रीगोपाल नारसन, कार्यक्रम संयोजक उदय सिंह पुंडीर आदि मौजूूद रहे।

You may also like

MERA DDDD DDD DD