[gtranslate]
The Sunday Post Special

विश्व रक्तदान दिवस: वर्ष 2020 की थीम है ‘सुरक्षि‍त रक्त, बचाए जीवन’

हर साल 14 जून को विश्व रक्तदान दिवस मनाया जाता है। इसका  उद्देश्य रक्तदान को बढ़ावा देना है। इस बार ‘विश्व रक्त दान दिवस 2020’ की थीम है ‘सुरक्षि‍त रक्त, बचाए जीवन’,। जाहिर है की आज के समय मेंसुरक्षित रक्त की जरूरत बढ़ गई है। दूसरे शब्दों में कहे तो सुरक्षित रक्त मिलना एक चुनौती है। यही वजह है कि सुरक्षित रक्त को थीम बनाया गया।

विश्व रक्तदान दिवस 14 जून, 1868 में पैदा हुए कार्ल लैंडस्टेनर के जन्म दिवस पर मनाया जाता है, जिन्हें ए,बी,ओ  रक्त समूह की खोज के लिए नोबल पुरस्कार प्राप्त हुआ था। लोगों को रक्तदान की मुहिम में शामिल करने के लिए वर्ष 2004 से 14 जून को विश्व रक्तदान दिवस के तौर पर मनाने का फैसला किया गया। किसी दूसरे की जान बचाने के लिए अपना खून देने वाले को ईश्वर के बराबर दाता का दर्जा दिया जाता है।

रक्तदान तब होता है,जब कोई व्यक्ति अपनी इच्छा से रक्त दान करता है। वर्तमान में रक्त की गुणवता और सुरक्षा सुनिश्चित करना भी एक अहम चुनौती है जो इस दिन के माध्यम से किया जाता है।रक्त की हमारे जीवन में अहम भूमिका है। सुरक्षित रक्त की जरूरत हर जगह होती है। इलाज के दौरान अक्सर सुरक्षित रक्त महत्वपूर्ण होता है। रक्त जीवन को बचाने वाली चिकित्सीय जरूरतों में से एक है। सभी प्रकार की आपात स्थितियों (प्राकृतिक आपदा, दुर्घटना, सशस्त्र संघर्ष आदि) के दौरान घायलों के इलाज के लिए रक्त भी अहम है।

इसी रक्त के महत्व और रक्तदान के महत्व को जन-जन तक पहुंचाने के लिए और जागरुकता के लिए विश्व रक्त दाता दिवस महत्व रखता है भारत में कई जगहों पर रक्त दान के लिए कैंप लगाए जाते है। इसके साथ ही लोगों में इसके प्रति जागरुकता फैलाने के लिए जगह-जगह पर विशेष कार्यक्रमों का आयोजन किया जाता है। आमतौर पर रक्तदान को लेकर लोगों में कई गलत धारणाएं भी आती हैं कि इससे शरीर कमजोर हो जाता है साथ ही एचआईवी की समस्या हो जाती है।

रक्त दान करने से ऐसा कुछ नहीं होता बल्कि, शरीर को लाभ मिलने के साथ मानसिक संतुष्टि मिलती है।
रक्तदान से पहले खास बातों का रखें ध्यान   18 साल की उम्र के बाद ही रक्तदान करें।शरीर में आयरन की मात्रा भरपूर रखें।मेडिकल जांच के बाद ही रक्तदान करे।खून देने से 24 घंटे पहले से ही शराब, धूम्रपान एवं तंबाकू का प्रयोग न करें।रक्तदाता का वजन 45 से 50 किलो से कम न हो।

You may also like