Latest news The Sunday Post Special

आज UP दिवस समारोह का उद्घाटन करेंगे राज्यपाल आनंदीबेन और मुख्मयंत्री योगी

भारत में कई राज्य अपने राज्य के लिए एक दिन को ख़ास बनाते है और उसे अपने राज्य दिवस के रूप में बड़े उत्साह से मनाते है। स्थापना दिवस वह दिन होता है जिस दिन वहां के नागरिक राज्य की संस्कृति और परम्पराओं से परिचित होते है। और उन्हें राज्य की आने वाली योजनाओं के बारे में जानने का अवसर मिलता है।

आज यानी शुक्रवार को प्रदेश की राज्यपाल आनंदीबेन पटेल और मुख्मयंत्री योगी आदित्यनाथ स्थापना दिवस समारोह का उद्घाटन करेंगे। इस समारोह का आयोजन अवध शिल्पग्राम में 24 से 26 जनवरी तक किया जाएगा। इस दौरान लोक कलाकार सांस्कृतिक कार्यक्रम प्रस्तुत करेंगे। साथ ही प्रदेश सरकार की ओर से एमएसएमई, एक जनपद-एक उत्पाद योजना में सर्वश्रेष्ठ कार्य करने वाले उद्यमियों और खेल प्रतिभाओं को सम्मानित किया जाएगा।

समापन समारोह को मुख्यमंत्री और राज्यपाल संबोधित करेंगे। प्रदेश दिवस पर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ 15 मंडल मुख्यालयों में अटल आवासीय विद्यालयों की नींव रखेंगे। इन विद्यालयों में श्रमिकों के बच्चों और निराश्रित बच्चों को मुफ्त शिक्षा दी जाएगी।

आज उत्तर प्रदेश दिवस को 70 वर्ष होने जा रहे हैं। पूर्व राज्यपाल राम नाईक की पहल पर पहली बार उत्तर प्रदेश दिवस 24 जनवरी, 2018 से मनाया जा रह है। इससे पहले यह महाराष्ट्र में मनाया जाता था। उत्तर प्रदेश का गठन 1950 में 24 जनवरी के ही दिन हुआ था। उत्तर प्रदेश राज्य को वैदिक काल में ब्रहमर्षि देश या मध्य देश कहा जाता था। मुगल काल में इसे क्षेत्रीय स्तर पर विभाजित किया गया।

उत्तर प्रदेश 24 जनवरी, 1950 को अस्तित्व में आया जब भारत के गवर्नर जनरल ने यूनाइटेड प्राविंसेज (आल्टरेशन ऑफ नेम) ऑर्डर 1950 पारित किया। इसके तहत यूनाइटेड प्राविंसेज को उत्तर प्रदेश नाम दिया गया। उत्तर प्रदेश ने तब से अब तक तमाम बदलाव देखें। उत्तराखंड का गठन नौ नवंबर 2000 को उत्तर प्रदेश को काटकर किया गया।

You may also like