Latest news The Sunday Post Special

जन्मदिवस स्पेशल :शांत-सामान्य और सहज प्रधानमंत्री डॉ. मनमोहन सिंह

2004 से 2014 के बीच भारत के लगातार दो बार प्रधानमंत्री पद पर रह चुकें डॉ मनमोहन सिंह आज 87 वर्ष के हो गये हैं। इसी दौरान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी समेत तमाम नेताओं ने उन्हें बधाई दी। मोदी इस समय संयुक्त राष्ट्र महासभा में शामिल होने के लिए न्यूयॉर्क (अमेरिका) गए हुए हैं, उन्होंने वहीं से एक ट्वीट में भी कहा, “डॉ. मनमोहन सिंह जी को जन्मदिन की ढेरों शुभकामनाएं… ईश्वर उन्हें लंबा और स्वस्थ जीवन दे…

डॉ मनमोहन सिंह का जन्म 26 सितम्बर, 1932 को हुआ था। इन्होंने पंजाब विश्वविद्यालय से 1954 में अर्थशास्त्र से एमए की डिग्री हासिल की। यूं तो प्रधानमंत्री कार्यकाल के दौरान डॉ. मनमोहन सिंह पर तमाम आरोप लगे। लेकिन उन्होंने अपने कार्यकाल में बहुत से अच्छे काम भी किए थे। बहुत सी योजनाएं भी बनाई थी।

आधार कार्ड को लागू करने वाले मनमोहन सिंह ही थे। 
इकोनॉमी की हालत खराब थी। देश तमाम मोर्चे पर जूझ रहा था। उस दौरान मनमोहन सिंह आर्थिक उदारीकरण की रूपरेखा लेकर आए।कई बार उनकी चुप्पी देश में बेचैनी बन जाती थी। और लोग कहते थे कि ऐसा प्रधानमंत्री मिला है जो कुछ बोलते ही नही हैं। लेकिन ऐसा भी नहीं था कि वह कुछ बोलते नहीं थे वह भाषण देने के बजाए हमेशा संयमित जवाब देते थे.”
डॉ. मनमोहन सिंह ने कई अंतरराष्ट्रीय संगठनों और सम्मेलनों में भारत का प्रतिनिधित्व किया है। उन्होंने 1993 में साइप्रस में राष्ट्रमंडल प्रमुखों की बैठक में और वियना में मानवाधिकार पर हुए विश्व सम्मेलन में भारतीय प्रतिनिधिमंडल का नेतृत्व किया है।
डॉ. मनमोहन सिंह को मिले कई पुरस्कारों और सम्मानों में से सबसे प्रमुख सम्मान है – भारत का दूसरा सर्वोच्च नागरिक सम्मान पद्म विभूषण से (1987) में सम्मानित किया गया।

You may also like