[gtranslate]
Technology

WhatsApp इस्तेमाल करते हैं तो बरतें ये सावधानी, वरना आपका अकाउंट हो जाएगा ब्लॉक

WhatsApp में आया नया अपडेट, अब 8 लोग एक साथ कर सकते हैं वीडियो कॉलिंग

आज कल WhatsApp हर स्मार्टफोन में होता है। लोकप्रिय होने के कारण इसका इस्तेमाल दोस्तों या परिजनों को मैसेज करने के लिए भी किया जाता है। इस ऐप में यूजर्स की प्राइवेसी का भी ख्याल रखा जाता है। WhatsApp का कहना है कि सभी यूजर्स के मैसेज कोई और नहीं देख सकता है।

WhatsApp का कहना है कि ऐप की सर्विस और शर्तें ऐसे तैयार की गई हैं, ताकि प्लेटफॉर्म पर सभी यूज़र्स सिक्योर रहें। WhatsApp का इस्तेमाल करने के लिए कंपनी ने कुछ नियमों को तैयार किया है। व्हाट्सऐप का कहना है कि चाहे यूज़र आम नागरिक हो, सरकारी अफसर या राजनीतिक पार्टी से हो, सभी को इन नियमों को ध्यान में रखकर ही व्हाट्सऐप का इस्तेमाल करना चाहिए।

WhatsApp से अनचाहे, ऑटोमेटेड या बल्क मैसेज भेजने की गलती से बचें। WhatsApp मशीन लर्निंग टेक्नोलॉजी और अपने यूज़र्स से मिली रिपोर्ट के ज़रिए ऐसे अकाउंट का पता लगा रहा है जो अनचाहे मैसेज भेजते हैं, इसके बाद कंपनी ऐसे अकाउंट को बैन कर देती है। यूज़र्स को सिस्टम के ज़रिए संपर्क करना भी इसी में शामिल है। अमान्य या ऑटोमेटेड तरीकों से अकाउंट या ग्रुप न बनाएं। साथ ही WhatsApp के किसी बनावटी वर्जन का इस्तेमाल न करें।

WhatsApp के ओर से दी गई जानकारी के मुताबिक, ब्रॉडकास्ट लिस्ट के ज़रिए आप सिर्फ उन्हीं कॉन्टैक्ट को मैसेज भेज सकते हैं, जो आपकी लिस्ट में हैं। WhatsApp ने अपने एफएक्यू पेज पर बताया कि अगर आप यूज़र ब्रॉडकास्ट लिस्ट का ज़रूरत से ज़्यादा इस्तेमाल करेंगे, तो बाकी यूज़र्स आपके मैसेज की रिपोर्ट कर सकते हैं। जिन अकाउंट की कई बार रिपोर्ट की जाती है उन अकाउंट को WhatsApp ब्लॉक कर देता है।

WhatsApp कहता है कि ये यूज़र्स के लिए एक रिमाइंडर की तरह है कि WhatsApp सर्विस की शर्तें अन्य बातों के साथ-साथ झूठ को प्रकाशित करने और अमान्य, धमकी, डराने, घृणित और नस्ल या जातीय रूप से अप्रिय व्यवहार पर रोक लगाती है। सेवा की शर्तें आपका WhatsApp के साथ रिश्ता बताती है और अगर सेवा की शर्तों के साथ किसी भी तरह का उल्लंघन होता है, तो उसके लिए कदम उठाती है।

WhatsApp के पॉलिसी में लिखा है कि WhatsApp की थर्ड पार्टी ऐप GB WhatsApp और WhatsApp Plus इस्तेमाल करने पर WhatsApp यूज़र को टेम्पररी बैन कर देता है। अगर आप भी ऐसी ऐप्स का इस्तेमाल करते हैं तो सावधान हो जाएं। WhatsApp के FAQ पेज पर दी जानकारी के अनुसार, कंपनी ऐसा इसलिए करती है। क्योंकि ये दोनों WhatsApp के ऑफिशियल वर्जन नहीं बल्कि थर्ड पार्टी ऐप्स हैं। ये अनऑफिशियल ऐप्स थर्ड पार्टी की बनाई हुईं हैं और ये WhatsApp के नियमों का उल्लंघन करती है और WhatsApp इन्हें सपोर्ट नहीं करता है।

You may also like

MERA DDDD DDD DD