sport

विराट की बेमिसाल पारी

भारतीय क्रिकेट टीम और मेहमान ऑस्ट्रेलिया के बीच नागपुर में खेले गए दूसरे वनडे मैच के दौरान विराट कोहली ने ऐतिहासिक पारी को अंजाम दिया। विराट कोहली ने अपने वनडे करियर का 40वां शतक जड़कर सबका दिल जीत लिया। भारत ने ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ दूसरे वनडे में 8 रन से रोमांचक जीत दर्ज कर 5 मैचों की वनडे सीरीज में 2-0 की बढ़त बना ली है।

इसके अलावा भारत ने एक और मुकाम हासिल किया और वह वनडे फॉर्मेट में 500 मैच जीतने वाला दूसरा देश बन गया है। भारत की यह ओवरऑल 500वीं वनडे जीत रही। दो बार वनडे वर्ल्ड कप जीत चुकी भारतीय टीम ने अपना 963वां वनडे मैच खेला और 500वीं जीत दर्ज की। उसे अब तक 414 मैचों में हार झेलनी पड़ी है, वहीं 40 का कोई परिणाम नहीं मिल सका। इसके अलावा 9 मैच टाई रहे। ऑस्ट्रेलिया के बाद वह 500 वनडे मैच जीतने वाली दूसरी टीम बन गई है। पांच बार की वर्ल्ड कप चैंपियन ऑस्ट्रेलिया ने अब तक कुल 924 वनडे मैच खेले हैं जिसमें से 558 में जीत दर्ज की है। उसे 323 में हार झेलनी पड़ी, जबकि 34 का कोई परिणाम नहीं निकल सका। इसके अलावा 9 मैच टाई रहे। पाकिस्तान ने अब तक 479 वनडे मैच जीते हैं जबकि इस लिस्ट में चौथे नंबर पर मौजूद वेस्ट इंडीज ने 390 वनडे मैचों में जीत दर्ज की है।

नागपुर में खेले गए दूसरे वनडे में भारतीय टीम और कप्तान विराट कोहली ने रिकॉर्ड्स की झड़ी लगा दी। ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ इस जीत के साथ ही अब कोहली वनडे क्रिकेट इतिहास में सबसे ज्यादा शतक लगाने के मामले में सिर्फ महान बल्लेबाज सचिन तेंदुलकर के 49 शतकों से मात्र 9 शतक पीछे हैं। कोहली ने ये उपलब्धि सिर्फ 215वीं पारी में ही हासिल कर ली है। विश्व क्रिकेट में कोहली की तुलना स्टीव स्मिथ, केन विलियम्सन और जो रूट के साथ की जाती है, पर क्या आप जानते हैं आंकड़ों में ये खिलाड़ी कोहली के सामने कहीं भी नहीं टिकते। विराट 215 वनडे पारियों में 40 शतक लगा चुके हैं, वहीं स्मिथ, विलियम्सन और रुट कुल मिलाकर 346 पारियों में सिर्फ 33 शतक ही बना पाए हैं। कोहली वनडे क्रिकेट में अपने कद को इतना विराट रूप दे दिया है कि वर्तमान में शायद ही कोई खिलाड़ी उनके रिकॉर्ड के नजदीक पहुंच पाए।

कोहली वनडे क्रिकेट में शानदार फॉर्म में चल रहे हैं और ऐसे में उनके रिकॉर्ड्स के नजदीक पहुंच पाना फिलहाल तो इन तीनों खिलाड़ियों के लिए नामुमकिन जैसा ही लग रहा है। विराट की तुलना इस समय किसी भी बल्लेबाज से करना बेमानी होगी क्योंकि इस समय उनके जैसी क्षमता वाला बल्लेबाज विश्व क्रिकेट में कोई नहीं दिख रहा। विराट ने 40 में से 22 शतक लक्ष्य का पीछा करते हुए बनाए हैं। इस आंकड़े से आप अंदाजा लगा सकते हैं कि वो किस क्षेणी के बल्लेबाज हैं। नागपुर में इस पारी के बाद कोहली अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में कुल 65 शतक लगा चुके हैं और अब वो सिर्फ ऑस्ट्रेलिया के पूर्व कप्तान रिक्की पोंटिंग (71) और सचिन तेंदुलकर (100) से ही पीछे हैं। कोहली कप्तान के रूप में भी सफलता की नई इमारत खड़ी करते जा रहे हैं। विराट दूसरे वनडे में कप्तान के रुप में 9000 रन बनाने वाले छठे कप्तान बन गए हैं। कोहली ने ये उपलब्धि 159 पारियों में हासिल की है और इस मामले में उन्होंने रिक्की पोंटिंग को पीछे छोड़ दिया है। कोहली का 40वां शतक ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ कप्तान के रूप में उनका 6वां शतक है और इस मामले में उन्होंने डेविड गोवर, ब्रायन लारा और क्लाइव लॉयड जैसे दिग्गज खिलाड़ियों को पीछे छोड़ दिया है। इन रिकॉर्ड्स के अलावा कोहली ने कई अन्य कीर्तिमान भी स्थापित किए हैं। कई दिग्गज खिलाड़ियों का मानना है कि विराट जल्द ही सचिन के 100 शतकों का रिकॉर्ड भी तोड़ देंगे। श्रीलंका के महान बल्लेबाज कुमार संगकारा ने तो यहां तक कह दिया है कि विराट क्रिकेट का हर रिकॉर्ड तोड़ेंगे। सभी फॉर्मेट को मिलाकर सबसे अधिक 100 शतक सचिन तेंदुलकर ने लगाए हैं। ऑस्ट्रेलिया के रिक्की पोंटिंग 71 शतकों के साथ दूसरे नंबर पर हैं। विराट कोहली इस लिस्ट में तीसरे नंबर पर आ गए हैं। उन्होंने अब तक 65 शतक लगा लिए हैं, इनमें 25 शतक टेस्ट के शामिल हैं। श्रीलंका के कुमार संगकारा 63 शतक के साथ चौथे नंबर पर हैं।

You may also like