sport

खिताब से दो कदम दूर

विश्व कप 2019 के सेमीफाइनल के लिए तीन टीमों ने अपनी जगह पक्की कर ली है। न्यूजीलैंड का भी अंतिम चार में पहुंचना तय है, क्योंकि पाकिस्तान के सामने ऐसी स्थिति पैदा हो गई है कि उसका सेमीफाइनल में जगह बनाना अब असंभव ही है। दरअसल, उसे बांग्लादेश के खिलाफ बहुत बड़ी जीत ही उसे सेमीफाइनल तक पहुंचा सकती है। जैसे कि अगर पहले बल्लेबाजी करते हुए पाकिस्तान ने 350 रन का स्कोर बनाया, तो उसे बांग्लादेश को 312 रन से मात देनी होगी। ऐसे में न्यूजीलैंड का अंतिम चार में पहुंचना तय माना जा रहा है।

सेमीफाइनल की साफ होती तस्वीर के बाद अब भारतीय फैंस के दिमाग में एक ही बात घूम रही है कि आखिर सेमीफाइनल में टीम इंडिया का मुकाबला किस टीम से होगा। सेमीफाइनल में भारत कौन सी टीम से भिड़ेगा इसका फैसला ऑस्ट्रेलिया और दक्षिण अफ्रीका के बीच खेले जाने वाले आखिरी लीग मैच से तय हो जाएगा। अगर ऑस्ट्रेलियाई टीम दक्षिण अफ्रीका को हरा देती है, तो टीम इंडिया सेमीफाइनल में 11 जुलाई को इंग्लैंड से भिड़ेगी। दूसरी ओर अगर टीम इंडिया अपने आखिरी लीग मैच में श्रीलंका को हरा देती है और दक्षिण अफ्रीका की टीम ऑस्ट्रेलिया को पटखनी दे देती है, तो भारतीय टीम को अपना सेमीफाइनल न्यूजीलैंड से खेलना पड़ेगा।

इंग्लैंड के खिलाफ मैच को छोड़ दे तो टीम इंडिया इस विश्व कप में जबर्दस्त फार्म में दिख रही है। टीम इंडिया का मध्यक्रम जरूर थोड़ा लचर दिख रहा है, लेकिन गेंदबाज शानदार लय में हैं और वो किसी भी टीम को हराने में सक्षम हैं। भारत की सेमीफाइनल में अगर टक्कर न्यूजीलैंड की टीम से होती है, तो भारत के लिए फाइनल में पहुंचना आसान होगा, क्योंकि न्यूजीलैंड की टीम अब जीत की पटरी से उतर गई है। उसे लगातार तीन मैचों में हार का सामना करना पड़ा है।

न्यूजीलैंड से टीम इंडिया को सेमीफाइनल में भिड़ने के लिए टीम इंडिया को श्रीलंका को हराना होगा। दूसरी ओर दक्षिण अफ्रीका को ऑस्ट्रेलिया को मात देनी होगी। न्यूजीलैंड की टीम थोड़ी कमोजर लगने लगी है। उसकी बल्लेबाजी रंग में नहीं है, ऐसे में टीम इंडिया के लिए न्यूजीलैंड थोड़ा आसान विरोधी होगा। मगर सेमीफाइनल में भारतीय टीम की टक्कर मेजबान इंग्लैंड से होती है, तो मेन इन ब्लू के लिए फाइनल में पहुंचना इतना आसान नहीं होगा, क्योंकि इंग्लिश टीम अपने पुराने रंग में लौट आई है। इंग्लैंड ने अपने पिछले दोनों मैच जीते हैं। एक में उसने विराट सेना को भी पटखनी दी है।

भारतीय टीम विश्वकप में बांग्लादेश को हराकर सेमीफाइनल में पहुंचने वाली दूसरी टीम है। सेमीफाइनल में पहुंचने के बाद भारतीय कप्तान विराट कोहली काफी खुश हैं। उन्होंने कहा कि लीग चरण का एक मैच शेष रहते सेमीफाइनल में जगह बनाना काफी सुखद है। टीम इससे बेहद खुश है। भारतीय टीम के लिए खिताब अब महज दो कदम दूर दिख रहा है। भारतीय टीम से पूरा देश उम्मीद लगाए बैठा है कि वो तीसरी बार भारत को विश्व विजेता बनाएंगे।

सलामी बल्लेबाज रोहित शर्मा-कप्तान कोहली बल्ले से धूम मचा रहे हैं तो गेंदबाजी में बुमराह की भी कमाल कर रहे हैं। इसके बावजूद कई चुनौतियां भी हैं, जो भारत के खिताबी सफर को मुश्किल बना सकती है। भारतीय सलामी बल्लेबाज केएल राहुल ने पिछले मैच में अर्धशतक बनाया है, लेकिन उनमें अभी भी आत्मविश्वास की कमी दिख रही है। अभी तक विश्वकप में सात मैचों में सिर्फ दो अर्धशतक बनाए हैं। भारतीय टीम के लिए उसका मध्यक्रम में बल्लेबाजी करते कोई शतक नहीं बना पाया है। जो भारत को कमजोर कर सकता है। भारत के लिए मैच जिताने वाले खिलाड़ी की कमी दिख रही है। 100 से अधिक का स्ट्राइक रेट सिर्फ पंत और हार्दिक पांड्या का है।

गेंदबाजी में जब से दो नई गेंदों का नियम आया है तब से कई खिलाड़ी इसकी खिलाफत कर चुके हैं। असल में इससे बल्लेबाजों को फायदा मिलता है, लेकिन गेंदबाजों को रिवर्स स्विंग कराने में मुश्किल होती है। पर भारतीय गेंदबाजों ने इस समस्या का हल निकाल लिया है। टीम की रणनीति है कि जब भी बाउंड्री के पास से गेंद थ्रो की जाएगी वो एक टप्पे यानी वन बाउंस में की जाएगी। इससे गेंद अपनी चमक खो बैठेगी और गेंदबाजों को रिवर्स स्विंग कराने में मदद मिलेगी।

You may also like