sport

भारतीय क्रिकेट फैंस कभी नहीं भुला पाएंगे आज की तारीख, जानिए क्यों?

भारतीय क्रिकेट फैंस कभी नहीं भुला पाएंगे आज की तारीख, जानिए क्यों?

आज की तारीख यानी 23 मार्च को भारतीय क्रिकेट टीम के फैंस कभी भूल नहीं पाएंगे। इस तारीख को न ही पूर्व कप्तान सौरव गांगुली भूल पाएंगे और न ही भारतीय टीम के विकेटकीपर और बल्लेबाज महेंद्र सिंह धोनी। आज की तारीख याद कर फैंस की आंखे नम हो जाएगी। भारत ने इसी तारीख को जश्न मनाया था।

आज से ठीक 17 साल पहले यानी 23 मार्च, 2003 को भारत ने दूसरी बार वर्ल्ड कप जीतने का मौका गवां दिया था। जोहान्सबर्ग के मैदान मैं वर्ल्ड कप का फाइनल मैच इंडिया बनाम ऑस्ट्रेलिया से हो रहा था। इस मैच का मुक़ाबला एकतरफा रहा और इसके साथ ऑस्ट्रेलिया ने इंडिया को हराकर दूसरी बार वर्ल्ड कप अपना नाम दर्ज किया था। ऑस्ट्रेलिया ने पहले बल्लेबाजी करते हुए 2 विकेट पर 359 रनों का विशाल स्कोर बनाया था।

उस मैच में ऑस्ट्रेलिया के कप्तान रिकी पोंटिंग ने बल्लेबाजी करते हुए शतकीय पारी खेली थी। रिकी पोटिंग ने तेज तरार 121 गेंदों पर 140 रन बनाए थे। वहीं डेमियन मार्टिन ने 88 रनों की पारी खेली थी। ऐडम गिलक्रिस्ट ने 57 रनों की उपयोगी पारी खेली थी। इसके जवाब में उत्तरी भारतीय टीम वर्ल्ड कप जीतने से महज 125 रन पहले ही ऑल आउट हो गई। भारतीय टीम 234 रन ही बना पाई। पहले ही ओवर में सचिन तेंदुलकर ग्लेन मैक्ग्रा के शिकार बने। वहीं भारतीय टीम के तरफ से सर्वाधिक रन वीरेंद्र सहवाग ने बनाए।

आज ही के दिन यानी 23 मार्च, 2016 को भारतीय टीम के कप्तान महेंद्र सिंह धोनी ने बांग्लादेश की टीम को बेहद रोमांचक अंदाज में 1 रन से हराया था। यह मुकाबला बेंगलुरू के चिनाना स्टेडियम में खेला गया था। भारतीय टीम ने पहले बल्लेबाजी करते हुए 20 ओवरों में 146 रन बनाए थे। इसके जवाब में उतरी बांग्लादेश बड़ी आसानी से जीत की ओर बढ़ रही थी। लेकिन आखरी ओवर में कैप्टेन कूल धोनी ने जीत को उनके हाथ से अपने तरफ खींच लिया।

आखरी ओवर में बांगलादेश को 11 रन की जरूरत थी। क्रीज पर बांग्लादेश के अनुभवी बल्लेबाज मुस्ताफिर रहमान और महमुदुल्ला बल्लेबाजी कर रहे थे। धोनी ने आखरी ओवर ऑल राउंडर हार्दिक पांड्या को दिया। आखरी ओवर के पहले गेंद पर 1 रन आया और दूसरी गेंद पर रहीम ने चौका लगाया। तीसरी गेंद पर भी रहीम ने चौका मारा। अब बांग्लादेश को 2 गेंदों मे 3 रन की जरूरत थी। चौथे गेंद पर हार्दिक पांड्या को सही तौर पर सफलता मिली।

पांचवीं गेंद पर भी हार्दिक पांड्या को विकेट मिली। मेहमुदुल्ला जडेजा के हाथों कैच आउट हुए। अब बांग्लादेश को 1 गेंद पर 2 रन की जरूरत थी। आखरी गेंद के लिए होम बल्लेबाजी कर रहे थे। पांड्या की बॉल करने के बाद बल्लेबाजी कर रहे होम बॉल देख नहीं पाए और बॉल सीधा विकटकीपर धोनी के पास पहुंच गई। रहमान की एक रन चुराने की कोशिश रही। धोनी ने तेजी से भागकर स्टंप उड़ा दिया और टीम इंडिया ने 1 रन से मैच जीत लिया।

You may also like