[gtranslate]

भारत ने मेहमान वेस्टइंडीज के खिलाफ दो टेस्ट मैचों की सीरीज के पहले टेस्ट मैच में सबसे बड़ी जीत दर्ज की है। इस दौरान भारतीय टीम के नए सितारे भी उभरते नजर आए। फॉलोऑन को मजबूर हुई विंडीज के खिलाफ घरेलू पहले क्रिकेट टेस्ट के तीसरे ही दिन पारी और 272 रन से अपने टेस्ट इतिहास की भी सबसे बड़ी जीत भारत ने अपने नाम दर्ज कर ली। दूसरी पारी में विंडीज 196 रन पर ढेर हो गई। भारत की टेस्ट इतिहास में भी यह अब तक की सबसे बड़ी जीत है। उसने इसी वर्ष अफगानिस्तान के खिलाफ बेंगलुरू में खेले गए एकमात्र टेस्ट में पारी और 262 रन से टेस्ट में अपनी सबसे बड़ी जीत दर्ज की थी, वहीं विंडीज के खिलाफ यह भारत की अब तक की सबसे बड़ी जीत भी है। भारत ने आखिरी बार विंडीज को नवंबर 2013 में मुंबई में पारी और 126 रन से हराया था। इससे पहले भारत की पहली पारी के 649 रनों के जवाब में विंडीज की पहली पारी 181 पर ढेर हो गई। भारतीय गेंदबाजों ने मैच की पहली पारी में एकतरफा प्रदर्शन किया और तेज गेंदबाज मोहम्मद शमी ने विंडीज के दोनों ओपनरों कार्लोस ब्रेथवेट और कीरन पावेल के विकेट शुरुआत में ही दिला दिए। बाकी विकेट भी सस्ते में गिरते रहे।

वेस्टइंडीज के खिलाफ बतौर ओपनर अपने पदार्पण टेस्ट मैच में शतक लगाकर क्रिकेट फैंस की नजरों में आने वाले 18 साल के भारतीय बल्लेबाज पृथ्वी शॉ ने मैन ऑफ द मैच अवॉर्ड लेने के बाद कहा कि उन्होंने अपने पहले ही टैस्ट में ऐसे प्रदर्शन की कल्पना भी नहीं की थी। पृथ्वी को पदार्पण टेस्ट में कप्तान विराट कोहली ने ओपनिंग का सुनहरा मौका दिया था जिसे उन्होंने भुनाते हुए 134 रनों की शतकीय पारी खेल डाली। वह इसके साथ ही पदार्पण टेस्ट में शतक लगाने वाले भारत के सबसे युवा बल्लेबाज भी बन गए। पृथ्वी बोले-जब भी आप अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट खेलते हैं तो आपके लिए बहुत चुनौतीपूर्ण होता है। मैं लेकिन अपना स्वाभाविक खेल खेलना चाहता था। मैंने प्रथम श्रेणी क्रिकेट में खेला है और उसका अनुभव मुझे काम आया। मुझे बहुत अच्छा लग रहा है। यह बड़ी जीत है। मैंने जैसे स्कोर किया और पदार्पण मैच में ही टीम को जीत में मदद की उसकी मैंने कल्पना भी नहीं की थी। भारत ने वेस्टइंडीज को पारी और 272 रन से हराकर तीन दिन के भीतर ही हराकर अपनी टेस्ट इतिहास की सबसे बड़ी जीत दर्ज कर ली। पृथ्वी को उनके करिश्माई प्रदर्शन की बदौलत मैन ऑफ द मैच चुना गया।

भारत दौरे पर आई वैस्टइंडीज टीम को पहले ही टैस्ट मैच में भारत के हाथों शर्मनाक हार का सामना करना पड़ा। इससे पहले रविंद्र जडेजा के पहले टेस्ट शतक के बाद भारत ने नौ विकेट पर 649 रन के विशाल स्कोर पर पारी घोषित कर दी। अपने घरेलू मैदान पर खेल रहे जडेजा ने 132 गेंद पर नाबाद 100 रन बनाए। वहीं कप्तान विराट कोहली ने अपना 24वां टेस्ट शतक लगाते हुए 230 गेंद में 139 रन की पारी खेली।

इससे पहले 72 रन पर खेल रहे कोहली ने संयम के साथ खेलते हुए शतक पूरा किया। 17 रन पर नाबाद रहे पंत ने आक्रामक खेल दिखाते हुए 84 गेंद में 92 रन बनाए। पंत अपने चौथे टेस्ट में दूसरा शतक बनाने की ओर अग्रसर थे लेकिन मिडविकेट पर दूसरा छक्का लगाने के प्रयास में कैच दे बैठे।

कोहली डान ब्रैडमेन के बाद सबसे तेजी से 24 टेस्ट शतक पूरे करने वाले बल्लेबाज बन गए हैं। ब्रैडमेन ने 66 पारियों में यह मुकाम हासिल किया जबकि कोहली की यह 123वीं पारी रही। गेंदबाजी में कुलदीप यादव ने पहली पारी में एक और दूसरी पारी में सर्वाधिक पांच विकेट लिए।

वेस्टइंडीज के रैगुलर कप्तान जेसन होल्डर चोट के कारण पहले ही पहले टेस्ट से बाहर हो गए थे। ऐसे में उनकी जगह क्रेग ब्रेथवेट को कार्यवाहक कप्तान बनाया गया था। ब्रेथवेट कप्तानी के मिले मौके को भुना नहीं सके और उनकी टीम भारतीय गेंदबाजों के आगे घुटने टेकती नजर आई। हार के बाद कारण तलाशते हुए ब्रेथवेट ने कहा कि हम पहले टेस्ट में आक्रामक शाट्स खेलने के दोषी रहे। लेकिन हमें सतर्कता और आक्रामकता में सही संतुलन बिठाना होगा। भारत ने दो टेस्ट मैचों की शृंखला के शुरुआती मुकाबले में पारी और 272 रन से जीत दर्ज की जिसके बाद ब्रेथवेट ने कहा-आगे बढ़ते हुए हमें आक्रामक शॉट्स के अलावा रक्षात्मक होने पर भी भरोसा दिखाना होगा। निश्चित रूप से क्षेत्ररक्षण करते हुए विपक्षी टीम के खिलाड़ी पीछे हो जाते हैं तो डिफेंस में भी सकारात्मक रहना और खराब गेंदों को दूर कर एक रन के लिए इन्हें भेजना मायने रखता है। मुझे नहीं लगता कि हमने अपने डिफैंस पर इतना भरोसा नहीं किया जितना हमें करना चाहिए था।

ब्रेथवेट ने भारतीय बल्लेबाज पृथ्वी शॉ की भी जमकर सराहना की। पृथ्वी ने जिस तरीके से भारतीय पारी की शुरुआत की वह धीरे-धीरे हमारे हाथ से मैच को दूर ले गए। वहीं, भारत के गेंदबाज भी कमाल के रहे। खास तौर पर भारतीय स्पिनरों का सामना करना मुश्किल रहा। हमारी टीम तीसरे दिन दो बार आऊट हो गई। यह शर्मनाक हार है। भारत और वेस्टइंडीज के बीच दो टेस्ट मैचों की सीरीज का दूसरा मैच बारह अक्टूबर से हैदराबाद में खेला जाएगा।

You may also like

MERA DDDD DDD DD