[gtranslate]
sport

टीम इंडिया को पिछले कई सालों से है नंबर पांच बल्लेबाज की तलाश

टीम इंडिया को पिछले कई सालों से है नंबर पांच बल्लेबाज की तलाश

टीम इंडिया को पिछले कुछ सालों से नंबर 5 बल्लेबाज की तलाश है। इस नंबर पर धोनी, ऋषभ पंत, हार्दिक पंड्या जैसे बल्लेबाज का प्रयोग कर देखा गया पर कोई इस नंबर पर सटीक नहीं बैठा। पूर्व भारतीय क्रिकेटर संजय मांजरेकर ने इसी पर कहा कि स्टार बल्लेबाज लोकेश राहुल वनडे मैचों में भारतीय बैटिंग ऑर्डर में पांचवें स्थान के लिए बेस्ट हैं। पर उन्होंने भारतीय टीम को सुझाव दिया कि भारतीय टीम मैनेजमेंट को सुरेश रैना और युवराज सिंह जैसे बल्लेबाजों को ढूंढ़ना चाहिए।

राहुल ने इस साल की शुरुआत में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ घरेलू वनडे मैच में मध्यक्रम में बल्लेबाजी की थी। उसके बाद राहुल ने न्यूजीलैंड दौरे पर वनडे और T20 मैचों में अपना अच्छा प्रदर्शन जारी रखा। अभी इस साल के आख़िर में होने वाले T20 वर्ल्ड कप में उनको पांच नंबर पर खेलाना चाहिए। ऋषभ पंत के नाकामियों के बाद से टीम मैनेजमेंट ने लोकेश राहुल को बल्लेबाजी के साथ-साथ ही विकटकीपेर का जिम्मा दे दिया था जिस पर वह खरे उतरे। वह वनडे ओर T20 में विकेटकीपिंग कर रहे है। मांजरेकर ने भारत के लिए 37 टेस्ट और 74 वनडे खेले है।

मांजरेकर से जब पूछा गया कि क्या भारत को वनडे मैचों में राहुल को पांचवें नंबर पर बल्लेबाजी करवाना जारी रखना चाहिए या राहुल के अलावा अन्य बल्लेबाजों को इसके लिए उतारना चाहिए। इसका जवाब मांजरेकर अपने ट्विटर पेज पर दिया। मांजरेकर ने कहा, “फिलहाल वह उपयुक्त हैं, लेकिन हमें रैना और युवी जैसे बल्लेबाज की तलाश जारी रखनी चाहिए, राहुल को बाद में शीर्ष क्रम पर खेलना होगा।”

ऑस्ट्रेलिया में इस साल प्रस्तावित T20 वर्ल्ड कप में भारत के लिए नंबर चार के बल्लेबाज और हरफनमौला खिलाड़ी के बारे में पूछे जाने पर उन्होंने कहा कि श्रेयस अय्यर चौथे क्रम और हार्दिक पंड्या हरफनमौला के लिए सटीक विकल्प है। रणजी ट्रॉफी में मुंबई के लचर प्रदर्शन के बारे में पूछे जाने पर मांजरेकर ने कहा कि असाधारण नेतृत्व की कमी के कारण टीम का यह हाल है। लोकेश राहुल कर्नाटक से आते है। कुछ दिन पहले उनको भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड ने कॉमेंट्री पैनल से बाहर कर दिया था।

उन्होंने ट्विटर पर लिका, “मैंने कॉमेंट्री को हमेशा अपना सौभाग्य माना। लेकिन कभी इस पर हक नहीं जमाया। यह BCCI पर निर्भर करता है कि वे मुझे चुनते हैं या नहीं। मैं हमेशा उनका सम्मान करूंगा। हो सकता है कि बोर्ड मेरे काम से खुश न हो। मैं इसे एक पेशेवर के रूप में स्वीकार करता हूं।’’

पिछले साल इंग्लैंड में खेले गए वर्ल्ड कप में संजय माकंजेकर ने ऑलराउंडर रविंद्र जडेजा की आलोचना की थी। कमेंट्री के दौरान उन्होंने जडेजा को लेकर कहा था कि वह टुकड़ों में प्रदर्शन करने वाले खिलाड़ी है। इसके बाद जडेजा ने उन्हें ट्वीट कर जवाब दिया था। ऑलराउंडर जडेजा ने अपने में लिखा था कि मैंने आपसे दोगुने मैच खेले हैं और मैं अभी भी खेल रहा हूं। जिन लोगों ने कुछ हासिल किया है, उनका सम्मान करना सीखें। मैंने आपके वर्बल डायरिया के बारे में सुना।

You may also like