sport

पार्थ जिंदल ने ऋषभ पंत को प्लेइंग 11 में नहीं खेलाने पर खड़े किए सवाल

पार्थ जिंदल ने ऋषभ पंत को प्लेइंग 11 में नहीं खेलाने पर खड़े किए सवाल

भारतीय टीम ने न्यूजीलैंड दौरे पर टी-20 सीरीज़ में क्लीन स्वीप करते हुए दौरे की शुरुआत की थी। इसका बदला लेते हुए न्यूजीलैंड टीम ने भी वनडे सीरीज़ में भारत के खिलाफ क्लीन स्वीप कर बेहतरीन बदला लिया।  अब दोनों टीमों का लक्ष्य 21 फरवरी से शुरु हो रही दो मैचों की टेस्ट सीरीज़ पर कब्ज़ा करने की है।

इस दौरे पर गए विकेट कीपर ऋषब पंत को न तो टी-20 में और न ही वनडे में मैच खेलने का मौका मिला। टीम इंडिया ने पांच मैचों की टी-20 सीरीज में 3-0 की बढ़त बना ली थी और तीन मैचों की वनडे सीरीज में न्यूजीलैंड से टीम 0-2 से पिछड़ गई थी। फिर भी ऋषभ पंत का नंबर नहीं आया। अब विराट कोहली के कप्तानी पर जेएसडब्‍ल्यू के डायरेक्टर और इंडियन प्रीमियर लीग की फ्रेंचाइजी दिल्ली कैपिटल्स के सहमालिक पार्थ जिंदल ने सवाल खड़े किए है।

पार्थ जिंदल कहा कि भारत के दो अहम खिलाड़ियों ऋषभ पंत  और रविचंद्रन अश्विन को टीम इंडिया में मौका क्यों नहीं दिया जा रहा है। ऋषभ पंत दिल्ली कैपिटल्स टीम का हिस्सा हैं। आगामी सीजन के लिए फ्रेंचाइजी ने रविचंद्रन अश्विन को भी अपने साथ जोड़ लिया है।  पार्थ जिंदल ने ऋषब पंत और रविचंद्रन आश्विन को एक्स फैक्टर बताते हुए कहा कि ऋषब पंत को सिर्फ बेंच पर बैठने के लिए ले गए थे क्या? इससे अच्छा होता कि उनको दौरे पर नहीं ले जाते। वो कम-से-कम घरेलू क्रिकेट तो खेल सकते। या वो न्यूजीलैंड ए के खिलाफ खेलकर लाभ उठाते।

पंत जैसे प्रतिभाशाली खिलाड़ी को न्यूजीलैंड के खिलाफ 5वें टी-20 और तीसरे वनडे की प्लेइंग इलेवन से बाहर रखे जाने का कोई मतलब नहीं था। दिल्ली कैपिटल्स के सहमालिक जिंदल का ये बयां चौकाने वाला है क्योंकि आईपीएल फ्रेंचाइजी मालिक राष्ट्रीय टीम के चयन के मसले पर अपनी आवाज नहीं उठाते हैं। वह आईपीएल टीम के कोच सबंधी मामलों में वह अपनी राय रखते है।  

यही वजह है कि दिल्ली कैपिटल्स के कोच और ऑस्ट्रेलिया के पूर्व कप्तान रिकी पॉन्टिंग ने भी इस बात पर हैरानी जताई थी कि पंत को आईसीसी वर्ल्ड कप 2019 की शुरुआती टीम से बाहर क्यों रखा गया था। जिंदल ने रविचंद्रन आश्विन की टीम इंडिया में न चयन करने पर भी सवाल उठाए। उन्होंने कहा, ‘मैं नहीं जानता कि अश्विन इस टीम में क्यों नहीं है। ऐसा लगता है कि विकेट लेने वाले खिलाड़ियों का विरोध किया जा रहा है।

You may also like