[gtranslate]
sport

कप्तानी के लिए परिपक्व नहीं है पांड्या!

मुंबई इंडियंस ने रोहित शर्मा को जब से कप्तानी से हटाकर हार्दिक पांड्या को कमान सौंपी है तब से मुंबई टीम में मनमुटाव लगातार देखने को मिल रहा है। आलम यह है कि गुजरात टाइटंस के खिलाफ आईपीएल 2024 के अपने पहले ही मुकाबले में मुंबई इंडियंस को मिली हार और कुछ अजीबो- गरीब निर्णयों को लेकर पहली बार कप्तानी कर रहे हार्दिक पांड्या की जमकर आलोचना हो रही है। खेल विशेषज्ञों और पूर्व दिग्गज खिलाड़ियों का कहना है कप्तान नया हो और जीतते-जीतते हार जाए तो टीम के लिए मुश्किल समय होता है। लेकिन मैदान में पूर्व कप्तान और गेंदबाजों के साथ किसी चर्चा को छोड़कर भाग जाना, अनुभवी खिलाड़ियों से बातचीत न करना दर्शाता है कि वे अभी कप्तानी के लिए परिपक्व नहीं हैं। उम्मीद है गुजरात और मुंबई के बीच खेले गए मुकाबले में जो कुछ हुआ उसे भूलकर हार्दिक अगले मुकाबलों में अपनी पावर का इस्तेमाल सही से करेंगे


जसप्रीत बुमराह और रोहित शर्मा को अनसुनाकर जाते पांडया

हमारे देश में क्रिकेट एक ऐसा खेल बन गया है जिसे खेल प्रेमी सबसे ज्यादा पसंद करते हैं। इनका यह प्रेम तब और बढ़ गया जब वर्ष 2007 में इंडियन प्रीमियर लीग यानी आईपीएल की शुरुआत हुई। यह लीग खेलों में सबसे महंगी लीग के साथ ही अब दुनिया की सबसे लोकप्रिय लीग भी बन गई है। इस लीग से कई ऐसे खिलाड़ी उभरकर आए हैं जो अब देश का नाम रोशन कर रहे हैं। यहां तक कि मुंबई इंडियंस के बतौर कप्तान रहते रोहित शर्मा ने पांच बार आईपीएल खिताब जिताया। उनके इस प्रदर्शन के चलते उन्हें राष्ट्रीय टीम की कमान मिली है। लेकिन इस सीजन 2024 में मुंबई इंडियंस ने जब से उन्हें कप्तानी से हटाकर हार्दिक पांड्या को कमान सौंपी है तब से मुंबई टीम में मनमुटाव देखने को मिल रहा है जो अब अपने चरम पर पहुंचता नजर आ रहा है।

आलम यह है कि गुजरात टाइटंस और मुंबई इंडियंस के बीच बीते दिनों अहमदाबाद के नरेंद्र मोदी स्टेडियम में खेला गया हाई वोल्टेज मैच में गुजरात से मुंबई को मिली हार और कुछ अजीबोगरीब निर्णयों को लेकर मुंबई इंडियंस के लिए पहली बार कप्तानी कर रहे हार्दिक पांड्या की जमकर आलोचना हो रही है। मैच के दौरान पूरे स्टेडियम में दर्शक उनकी मजाक बनाते नजर आए।
वहीं मुंबई इंडियंस की गेंदबाजी के दौरान हार्दिक ने रोहित शर्मा के साथ एक ऐसी हरकत भी की, जिससे फैंस का गुस्सा और बढ़ गया। हार्दिक पांड्या पूर्व कप्तान रोहित शर्मा की फील्डिंग पोजीशन चेंज करते हुए नजर आए। उन्होंने 30 यार्ड सर्कल के दायरे में खड़े रोहित शर्मा को बाउंड्री पर भेज दिया। इस पूरी घटना की वीडियो काफी वायरल हो रही है।

दरअसल गुजरात टाइटंस की पारी का आखिरी ओवर मुंबई इंडियंस की तरफ से जेराल्ड कोएट्जी डाल रहे थे। ओवर के दौरान हार्दिक गेंदबाज के साथ मिलकर फील्ड सजा रहे थे। ऐसे में एक वीडियो वायरल हो रहा है, जिसमें हार्दिक 30 यार्ड सर्कल में खड़े रोहित शर्मा को बाउंड्री पर जाकर फील्डिंग करने के लिए कहते हैं। अक्सर सर्कल में फील्डिंग करने वाले रोहित लॉन्ग ऑन की तरफ चले जाते हैं। बाउंड्री पर जाने के बाद भी पांड्या रोहित को उनकी जगह से इट्टार से उट्टार करते हैं। रोहित के साथ इस तरह का बर्ताव फैंस को बिल्कुल पसंद नहीं आया जिसकी वजह से पांड्या सोशल मीडिया पर भी जमकर ट्रोल हो रहे हैं। यही नहीं मैच के दौरान हार्दिक ने कुछ अजीबोगरीब फैसले भी लिए। मैच खत्म होने के बाद हार्दिक पांड्या पूर्व कप्तान रोहित शर्मा को गले लगाने जाते हैं, जोकि उन्हें काफी भारी पड़ा। हिटमैन ने ग्राउंड में ही पांड्या की क्लास लगा डाली।

इस वीडियो में हार्दिक पीछे से आकर रोहित शर्मा को गले लगा लेते हैं। जैसे ही वह देखते हैं कि पांड्या हैं, वह वैसे ही उन्हें डांटना शुरू कर देते हैं। हालांकि जिस तरीके से रोहित शर्मा उन्हें डांटते हैं, ऐसा लग रहा है वह मैच में की गई हार्दिक द्वारा गलतियों बतौर कप्तान पर उन्हें समझा रहे हैं। जब रोहित उन्हें गुस्सा करना शुरू करते हैं तो ठीक पीछे खड़े राशिद खान और आकाश अंबानी भी देखने लगते हैं। इस घटनाक्रम को लेकर खेल विशेषज्ञों और पूर्व दिग्गज खिलाड़ियों का कहना हैं कप्तान नया हो और जीतते-जीतते हार जाए तो टीम के लिए मुश्किल वक्त होता है। लेकिन मैदान पर पूर्व कप्तान और गेंदबाज के साथ किसी चर्चा को छोड़कर भाग जाना, पूर्व कप्तान और अनुभवी खिलाड़ियों से बातचीत न करना दिखलाता है वे अभी कप्तानी के लिए परिपक्व नहीं हैं।

किसी का भी व्यक्तित्व तभी पता चलता है जब उसके पास पावर आती है। अब हार्दिक पांड्या को ही ले लीजिए। टीम में जसप्रीत बुमराह, ल्यूक वुड, शम्स मुलानी और गेराल्ड कोएट्जी जैसे तेज गेंदबाज होने के बावजूद हार्दिक पांड्या ने कप्तान के तौर पर पहले मैच में गेंदबाजी की शुरुआत की। यह बात न केवल दर्शकों, बल्कि क्रिकेट के दिग्गजों को भी कुछ खास पसंद नहीं आई। हालांकि, टीम के बैटिंग कोच पोलार्ड यह कहते नजर आए कि यह टीम का प्लान था। हो भी सकता है कि ऐसा हो, लेकिन कप्तान के तौर पर खुद हार्दिक पंड्या अपनी जगह किसी पेस स्पेशलिस्ट से गेंदबाजी करवाते तो शायद टीम को जरूर फायदा होता। उम्मीद है गुजरात और मुंबई के बीच खेले गए मुकाबले में जो कुछ हुआ उसे भूलकर हार्दिक अगले मुकाबलों में अपनी पावर का इस्तेमाल सही से करेंगे।

ताकत का सही या गलत इस्तेमाल कौन तय करेगा?
हार्दिक ने शुरुआती स्पेल में दो ओवर किए और 20 रन खर्च किए। इन दो ओवरों ने विपक्षी टीम के बल्लेबाजों को खुलकर खेलने का मौका दिया। बाद में हार्दिक फिर एक ओवर करने आए तो 10 रन खर्च किए। इस तरह से उनकी बॉलिंग का एनालिसिस 3 ओवर 30 रन देकर कोई विकेट रहा। रोचक बात यह है कि टीम यह मैच जीतते-जीतते सिर्फ 6 रनों के अंतर से हार गई। यहां वह समझ सकते थे कि यह कोई गांव या गली क्रिकेट नहीं है, जहां कप्तान ही पहला ओवर करेगा और खिलाड़ियों को ट्टाकियाते फिरेगा।

कप्तानी कम, फ्रस्टेशन ज्यादा

इस मैच में हार्दिक पंड्या की कप्तानी की ट्टाार तो कुछ खास नजर नहीं आई, लेकिन मैदान पर एक फ्रस्टेटेड कप्तान जरूर नजर आया। स्टेडियम में हजारों फैंस की हूटिंग के बीच हार्दिक हंसता हुआ चेहरा लेकर जरूर घूम रहे थे, लेकिन उनके फैसलों और उसे लागू करने के तरीकों से पता चल रहा था कि वह बेहद परेशान हैं। उन्होंने रोहित शर्मा को 20वें ओवर में फील्डिंग के लिए बाउंड्री रेखा पर भेजा और 2 से 3 मिनट तक यह तय करते दिखे कि रोहित को फील्डिंग कहां से खड़ा होकर करना है। या यूं कह लें कि वह यह बताने की कोशिश कर रहे थे कि वह कप्तान हैं और वह जहां चाहे अपनी मर्जी से रोहित शर्मा को फील्डिंग के लिए भेज सकते हैं।

कैसा होगा रोहित का व्यवहार?

इसमें कोई दो राय नहीं है कि हार्दिक पांड्या कप्तान हैं और उनके पास यह हक है कि वह जहां चाहें खिलाड़ी को फील्डिंग के लिए खड़ा कर सकते हैं, लेकिन उनका तरीका बेहद शर्मनाक था। रोहित मुंबई के कप्तान भले ही नहीं हैं, लेकिन वह टीम इंडिया के कप्तान हैं। जब हार्दिक पांड्या टीम इंडिया में आएंगे तो टी-20 वर्ल्ड कप संभवतः रोहित की कप्तानी में खेलना होगा। आईपीएल में किए गए हर एक्शन का रिएक्शन इंटरनेशनल मैच में दिख सकता है। संभव है कि रोहित शर्मा मेच्योर खिलाड़ी और कप्तान हैं तो वह इस तरह का व्यवहार न करें, लेकिन फिर भी ‘वन फैमिली’ होने का दावा करने वाली मुंबई इंडियंस की मैनेजमेंट को इसका ट्टयान रखना होगा कि 5 बार टीम को चौंपियन बनाने वाले कप्तान के साथ ऐसा व्यवहार न हो।

हार्दिक पहले भी कर चुके हैं दुर्व्यवहार

ऐसा नहीं है कि हार्दिक पांड्या मैदान पर इस तरह का व्यवहार पहली बार करते नजर आए। इससे पहले पिछले सीजन ही मोहम्मद शमी को बुरा भला कहते दिखे थे, जिस पर शमी ने खुलेआम अपना गुस्सा जाहिर किया था। इंटरनेशनल मैच में कप्तानी के दौरान 2022 में न्यूजीलैंड के खिलाफ टी-20 सीरीज में ‘मैं कप्तान, मेरा फैसला, मैं ही सब कुछ’ जैसा बयान देते नजर आए थे। मैदान पर साथी खिलाड़ियों को गाली देना हार्दिक के लिए आम है। 2022 में इंग्लैंड के खिलाफ टी-20 मैच में भी एक वीडियो वायरल हुआ, जिसमें वह गाली देते नजर आए। 2023 में विराट कोहली को किसी बात पर इग्नोर करते दिखे तो आयरलैंड के खिलाफ डीआरएस गंवाने के बाद हर्षल पटेल और ईशान किशन पर गुस्से में कुछ कहते नजर आए थे।

क्रुणाल पंड्या भी कर चुके हैं कुछ ऐसा ही बर्ताव

हार्दिक के भाई क्रुणाल पंड्या स्पिन स्पेशलिस्ट हैं और इसके बावजूद वह दो बार आईपीएल में टीम की कप्तानी करने के दौरान पहला ओवर कर चुके हैं। 2023 में वह केएल राहुल की गैरमौजूदगी में लखनऊ सुपरजायंट्स की कप्तानी कर रहे थे और दोनों ही मौके पर मुंबई इंडियंस के खिलाफ गेंदबाजी की शुरुआत की थी। हालांकि, अब वह लखनऊ के उप कप्तान भी नहीं हैं। उनकी जगह निकोलस पूरन केएल उप कप्तान हैं। यानी केएल की गैरमौजूदगी में अब क्रुणाल पांड्या की मनमानी नहीं चलेगी। इसी तरह से जब हार्दिक टीम के कप्तान बने तो उन्हें पता था कि मुंबई बड़ी टीम है। इसमें रोहित शर्मा और जसप्रीत बुमराह के अलावा सूर्यकुमार यादव जैसे सीनियर खिलाड़ी हैं। वह लखनऊ या किसी क्लब टीम के कप्तान की तरह व्यवहार नहीं कर सकते हैं।

You may also like

MERA DDDD DDD DD