[gtranslate]
sport

मोहम्मद शमी शहर से दूर अपने फार्म हाउस पर कर रहे हैं स्पेशल ट्रेनिंग

मोहम्मद शमी शहर से दूर अपने फार्म हाउस पर कर रहे हैं स्पेशल ट्रेनिंग

कोरोना महामारी दिन पर दिन बढ़ती जा रही है। इसके रोक थाम के लिए सभी तरह के इवेंट्स को स्थगित कर दिया गया है। साथ ही पूरे देश को लॉकडाउन कर दिया गया है। ऐसे में खेल जगत में भी सन्नाटा छाया हुआ है। क्योंकि सभी खिलाड़ी अपने घरों में हैं। इस बीच भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड ने कहा है कि देशव्यापी लॉकडाउन में पाबंदियों में ढील दी गई तो शीर्ष क्रिकेटर 18 मई के बाद आउट डोर ट्रेनिंग के लिए निकल सकते हैं।

भारतीय खिलाड़ी अपने आप को फिट रखने के लिए अपने घरों पर एक्सरसाइज जरूर कर रहे हैं, पर यह पर्याप्त नहीं है। बीसीसीआई के कोषाध्यक्ष अरुण धूमल का कहाना है, “खिलाड़ी यात्रा नहीं कर सकते, इसलिए वे अपने घरों के पास मैदान में प्रैक्टिस करें, इस विकल्प पर विचार किया जा रहा है। इसके लिए केंद्र सरकार का दिशा-निर्देश जरूरी हैं। ऐसे में 17 मई तक इंतजार करना होगा।” बीसीसीआई ने लॉकडाउन खत्म होने के बाद के चरण के लिए खिलाड़ियों के लिए रोडमैप पहले से ही तैयार कर लिया है।

धूमल ने बताया कि अगर खिलाड़ी स्थानीय मैदानों पर भी ट्रेनिंग करते हैं तो नेट सत्र में बल्लेबाज के लिए तीन नेट गेंदबाज शामिल हो सकते हैं। फिलहाल सभी भारतीय खिलाड़ी ट्रेनर निक वेब की फिटनेस ड्रिल पर काम कर रहे हैं। शीर्ष भारतीय क्रिकेटरों में मोहम्मद शमी दौड़ने का अभ्यास कर पा रहे हैं। क्योंकि वह अपने पैतृक गांव उत्तर प्रदेश केअमरोहा जिले के सहसपुर गांव में; वहां पर उनका खुद का क्रिकेट ग्राउंड है। वहीं दूसरी तरफ लॉकडाउन में अन्य खिलाड़ी बड़े शहरों में हैं, जहां जगह की कमी के कारण जिम के जरिए खुद को फिट रख रहे हैं।

कुछ दिन पहले मोहम्मद शमी और पूर्व भारतीय तेज गेंदबाज इरफान पठान दोनों ने इंस्टाग्राम चैट में बताया कि लॉकडाउन के दौरान वह ‘स्पेशल ट्रेनिंग’ कर रहे हैं। वह शहर से दूर अपने गांव के फार्म हाउस में समय बिता रहे हैं। साथ ही उन्होंने फार्म हाउस में क्रिकेट ग्राउंड बनवाया है, जिसकी 80 मीटर की बाउंड्री है। जिसके साइड में रनिंग ट्रैक भी है। शमी ने आगे बताया कि ग्राउंड के बाहर खेत के बगल में रेतीले ट्रैक पर रोजाना दौड़ लगाता हूँ।

लॉकडाउन के दिनों में देर से सोने की वजह से दोपहर 12 बजे से पहले नहीं उठ पाता हूँ। फिर में तीन बजे से प्रैक्टिस शुरू कर देते हैं। वह सबसे पहले वह कैचिंग प्रैक्टिस करते हैं। इससे जुड़ी सारी सुविधाएं उनके पास मौजूद हैं। वह बताते हैं कि उनकी बिल्डिंग ढाई-तीन एकड़ में फैली है। जिससे अंदर ही कैचिंग हो जाती है और जमकर पसीना बहाते हैं। उनके फार्म हाउस में स्विमिंग पूल भी है। शमी ने कहा लॉकडाउन के दौरान उनके पास और कोई दूसरा काम नहीं है, ऐसे में फिटनेस पर पूरा ध्यान दे पाते हूँ जिससे खुद को तरोताजा रखते हैं।

https://twitter.com/imjadeja/status/1244878456053211137

हालांकि, अभी उनका फार्म हाउस पूरा तैयार नहीं हो पाया है। अभी उनके पास घोड़े या कोई बर्ड्स नहीं हैं, सिर्फ डॉगी हैं। वहीं दूसरी तरफ आल राउंडर रविंद्र जडेजा अपने फार्म हाउस में घुड़सवारी करते हुए नजर आए। उन्होंने अपने ट्विटर हैंडल पर वीडियो शेयर किया था। इसके अलावा उन्होंने एक वीडियो भी पोस्ट किया था, जिसमें वह घर में पसीना बहाते देखे जा रहे हैं। उन्होंने लिखा- दौड़ना मेरी ताकत है! मेरे शरीर को ठीक करने का सही समय…

बीसीसीआई ने खिलाड़ियों और सहयोगी स्टाफ को विशेष ऐप मुहैया कराया है। जिससे वे लॉकडाउन के दौरान ट्रेनिंग के लिए इस ऐप का इस्तेमाल कर रहे हैं। भारत के सभी सीनियर खिलाड़ियों और सहयोगी स्टाफ के पास यह ऐप है।

यह स्पष्ट है कि स्थिति के पूरी तरह सामान्य नहीं होने तक बीसीसीआई किसी भी तरह के शिविर का आयोजन नहीं करेगी। टीम इंडिया के कप्तान विराट कोहली ने एक शो के दौरान कहा था कि शुक्र है कि मेरे घर पर जिम है। अच्छी बात यही है कि मैं अभ्यास कर पा रहा हूं। मैं फिट हूं और प्रैक्टिस कर रहा हूं। उन्होंने बतया कि शुरुआती दिनों में मौजूदा स्थिति से निपटना आसान नहीं था।

You may also like