[gtranslate]
sport

T-20 वर्ल्ड कप के स्थगित होने से खुले आईपीएल के दरवाजे 

कोरोना वायरस की वजह से टी -20 वर्ल्ड कप 2020 को अब अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट बोर्ड (आईसीसी ) ने स्थगित कर दिया  है। इस जानलेवा वायरस से अब जान का ही नहीं बल्कि खेलों का भी बड़ा नुकसान हुआ है।भारत में क्रिकेट तो कोरोना की वजह से बुरी तरह प्रभावित हुआ है , देश में कोरोना मरीजों की तादाद भी लगातार बढ़ती ही जा  रही है जिसका कोई अंदाज नहीं लगा पा रहा है कि आखिर भारत में क्रिकेट कब से शुरू होगा।

कल हुई  आईसीसी की बैठक ने इस साल ऑस्ट्रेलिया में अक्टूबर-नवंबर में आयोजित होने वाले टी20 वर्ल्ड कप को स्थगित कर दिया है। कोरोना वायरस के कारण ये विश्व स्तरीय टूर्नामेंट रद किया गया है। आईसीसी टी-20 वर्ल्ड कप के स्थगित होने के चलते इंडियन प्रीमियर लीग यानी आईपीएल के आयोजन के दरवाजे खुल गए हैं। भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड ( बीसीसीआई )को आईपीएल 2020 के आयोजन के लिए अक्टूबर-नवंबर की विंडो मिल गई है।

दरअसल, कल 20 जुलाई  को वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए  आईसीसी की बोर्ड मीटिंग हुई। इसी मीटिंग में टी20 वर्ल्ड कप 2020 के भविष्य का फैसला करना था, क्योंकि अब इस टूर्नामेंट में बहुत कम समय बाकी रह गया था।यह आयोजन  ऑस्ट्रेलियाई की मेजबानी में 18 अक्टूबर से 15 नवंबर के बीच आयोजित होना था, लेकिन काफी समय से लग रहा था कि कोरोना वायरस महामारी की वजह से इस साल ये टूर्नामेंट नहीं खेला जाएगा, क्योंकि इतने बड़े टूर्नामेंट का आयोजन संभव नहीं लगता।

ICC ने टी20 वर्ल्ड कप को स्थगित करते हुए ये तर्क दिया है कि वे द्विपक्षीय सीरीजों के लिए समय निकालने के इरादे से इस साल होने वाले टी20 विश्व कप को स्थगित कर रहे हैं। हालांकि, आईसीसी ने अभी ये साफ नहीं किया है कि 2020 में ऑस्ट्रेलिया में प्रस्तावित टी20 विश्व कप अगले साल होगा या फिर 2022 में, क्योंकि अगले साल भारत में भी टी20 विश्व कप होना  था। इसके अलावा आईसीसी ने ये भी बताया कि 2021 और 2022 में लगातार दो टी20 विश्व कप होंगे, जबकि 2023 में भारत में वनडे विश्व कप होगा।

अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट परिषद के टी-20 विश्व कप के स्थगित करने का फैसला लिया गया , जिससे आईपीएल के फैंस में खुशखबरी का माहौल है। आईसीसी के टी20 विश्व कप 2020 को टालने के फैसले के बाद बीसीसीआई  को अक्टूबर-नवंबर की विंडो दुनिया की सबसे महंगी टी-20 लीग के आयोजन के लिए मिल गई है। बीसीसीआई  ने हाल ही में तय किया था कि आईपीएल के 13वें सीजन का आयोजन 26 सितंबर से 8 नवंबर के बीच किया जाएगा। हालांकि, अभी इसका आधिकारिक ऐलान बीसीसीआई  को करना है कि कब और कहां ,आईपीएल 2020 का आयोजन बड़े पैमाने पर होना है।

कोरोना वायरस के कारण पहले ही सभी खेलों को काफी नुकसान हुआ है। यहां तक कि कई द्विपक्षीय क्रिकेट सीरीज और टूर्नामेंट भी कोरोना के कारण रद हुए हैं या फिर टाल दिए हैं। टी20 फॉर्मेट में होने वाला एशिया कप भी इस साल कोरोना की भेंट चढ़ गया है, लेकिन टी20 विश्व कप साल का दूसरा सबसे बड़ा विश्व स्तरीय टूर्नामेंट है, जो स्थगित किया गया है, क्योंकि इससे पहले जापान के टोक्यो में आयोजित होने वाले ओलंपिक खेलों को भी एक साल के लिए स्थगित किया जा चुका है।

सोमवार 20 जुलाई तक  इस साल इंडियन प्रीमियर लीग यानी आईपीएल का आयोजन हो पाएगा भी या नहीं? इस पर संशय बना हुआ था, क्योंकि भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड यानी बीसीसीआई  तब तक आईपीएल के आयोजन पर फैसला नहीं ले सकती थी, जब तक कि इंटरनेशनल क्रिकेट काउंसिल यानी आईसीसी इस साल ऑस्ट्रेलिया में होने वाले टी20 वर्ल्ड कप को स्थगित नहीं कर देती। सोमवार की देर शाम को ऐसा हो गया और टी20 वर्ल्ड कप स्थगित कर दिया गया।

टी20 वर्ल्ड कप के स्थगित होते ही आईपीएल 2020 के लिए भी दरवाजे खुल गए, लेकिन बीसीसीआई  को अब छह  महीने के अंदर-अंदर आईपीएल के दो संस्करणों का आयोजन करना होगा। इसके पीछे एक नहीं, बल्कि कई कारण हैं,  आखिर क्यों बीसीसीआई  की मजबूरी है कि दो एक के बाद एक  आईपीएल आयोजित करने पड़ेंगे। बीसीसीआइ के ऊपर आइपीएल एक आयोजन को लेकर किसी बोर्ड या आईसीसी का दवाब नहीं है।

आईसीसी ने टी20 विश्व कप 2021 के लिए अक्टूबर-नवंबर की विंडो तय की है, जबकि इस साल टी20 फॉर्मेट में आयोजित होने वाले एशिया कप को भी टाल दिया है। ऐसे में एशिया कप 2020 में न होकर 2021 में होगा और इस टूर्नामेंट के लिए सितंबर की विंडो एशियन क्रिकेट काउंसिल अपना सकती है। इसके अलावा मई के आखिर से अगस्त-सितंबर तक इंग्लैंड और अन्य देशों में क्रिकेट खेली जाती है। ऐसे में बीसीसीआइ के पास सिर्फ  अप्रैल और मई 2021 की विंडो आईपीएल की बचती है।

अप्रैल और मई की विंडो आईपीएल को इसलिए भी शूट करती है, क्योंकि एशिया को छोड़कर उस दौरान किसी भी देश में क्रिकेट खेलने का मौसम नहीं होता। ऐस में सभी खिलाड़ी इस लीग में खेलते हैं। यही कारण है कि बीसीसीआइ को नवंबर में आईपीएल के 13वें सीजन को समाप्त करना होगा, जबकि 14वें सीजन के लिए बीसीसीआई को फिर से 2021 में अप्रैल और मई की विंडो चाहिए होगी। इस तरह बीसीसीआई  को 6 महीने में दो आइपीएल आयोजित कराने होंगे।

You may also like

MERA DDDD DDD DD