[gtranslate]
sport

ओलंपिक को लेकर आईओसी का बड़ा बयान ,खेल होंगे और होकर रहेंगे

सालभर से भी ज्यादा समय से पूरी दुनिया में कोरोना महामारी से हाहाकार मचा हुआ है ।इस महामारी के चलते बीते साल ओलंपिक सहित कई खेल इसकी भेंट चढ़ गए और कई खेलों को स्थगित करना पड़ा जो अब यानि इस साल खेले जाने हैं,लेकिन कोरोना संक्रमण पिछले साल से ज्यादा इस साल भयानक हो गया है।इसके चलते खेलों का महाकुंभ कहे जाने वाले ओलंपिक के आयोजन को लेकर देश में उठ रहे सवालों के बीच अंतरराष्ट्रीय ओलंपिक समिति (आईओसी) के प्रवक्ता मार्क एडम्स ने इन सवालों  को खारिज करते हुए कहा है कि जापान की जनता की राय  से टोक्यो ओलंपिक रद्द नहीं  होंगे। एडम्स ने कहा कि  हम जनता की राय सुनते हैं लेकिन उसके आधार पर फैसला नहीं लेते। खेल होंगे और होकर रहेंगे।
 इस दौरान  आईओसी की वर्चुअल प्रेस कॉन्फ्रेंस में प्रदर्शनकारियों ने बाधा भी डाली। प्रदर्शनकारियों स्क्रीन पर एक प्रदर्शनकाली काला और सफेद बैनर लेकर ओलंपिक का विरोध करते नजर आए ।उन्होंने  कहा, कोई ओलंपिक नहीं होंगे। कहीं नहीं होंगे। ना लॉस एंजिलिस में और ना ही टोक्यो में। इसके बाद लाइन काट दी गई। एडम्स ने इस बाधा को तूल नहीं देते हुए कहा कि आईओसी अध्यक्ष बाक मौजूद होते तो यह स्टंट और रोचक होता।

यह भी पढें :ओलंपिक  एथलीटों को मुफ्त वैक्सीन 

दरअसल ,टोक्यो में कोरोना  के बढ़ते संक्रमण  के कारण आपात स्थिति लागू है। जापान में हुई रायशुमारी में भी अधिकांश लोगों की राय थी कि 23 जुलाई से 8 अगस्त तक होने वाले इन खेलों को रद्द कर दिया जाए। एडम्स ने कहा, हम जनता की राय सुनते हैं लेकिन उसके आधार पर फैसला नहीं लेते। खेल होंगे और होकर रहेंगे। एडम्स आईओसी अध्यक्ष थॉमस बाक की नुमाइंदगी कर रहे थे जिनकी अगले सप्ताह होने वाली जापान यात्रा रद्द कर दी गई है।

  गौरतलब है कि  खेलों का महाकुंभ यानी ओलंपिक हर चार साल पर होता है, लेकिन कोरोना वायरस महामारी के कारण 2020 में इसका आयोजन नहीं हो पाया था। अब साल भर की देरी से जापान के टोक्यो में इसकी शुरुआत 23 जुलाई से होनी है । कोरोना संक्रमण के मामले बढ़ने के चलते जापान ने अपने यहां लॉकडाउन बढ़ा दिया है, जिसके बाद आशंका जताई जा रही थी  कि 23 जुलाई, 2021 से शुरू होने वाले खेलों के महाकुंभ ओलंपिक को रद्द किया जा सकता है।

You may also like

MERA DDDD DDD DD