[gtranslate]
sport

मोहम्मद कैफ ने लगाया आरोप, कहा- भारतीय क्रिकेट टीम में है एकता की कमी

मोहम्मद कैफ ने लगाया आरोप, कहा- भारतीय क्रिकेट टीम में है एकता की कमी

पूर्व भारतीय क्रिकेटर मोहम्मद कैफ जो मैदान पर अपने बेहतरीन क्षेत्ररक्षण (फील्डिंग) के लिए जाने जाते हैं। उन्होंने वर्तमान भारतीय टीम पर हैलो ऐप वीडियो सेशन के दौरान अपने विचार साझा किए है। मोहम्मद कैफ के अनुसार वर्तमान भारतीय टीम में एकता का अभाव है। खिलाड़ियों के निरंतर आदान-प्रदान और नए खिलाड़ियों की निरंतर आगमन के कारण भारतीय टीम अभी भी तैयार नहीं है जैसा कि होना चाहिए। इसलिए भारतीय टीम सभी महत्वपूर्ण मैचों में अपना पूर्ण प्रदर्शन नहीं कर पाई है। भारत ने 2013 के बाद से कोई बड़ा ICC टूर्नामेंट नहीं जीता है। यह स्पष्ट है कि भारतीय टीम में एकता की कमी है।

हमारे समय में सौरव गांगुली ने सभी खिलाड़ियों को एक साथ लाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई थी। आज भी दादा ने बीसीसीआई जैसे बड़े निकाय के अध्यक्ष की स्वीकृति के बाद कई महत्वपूर्ण निर्णय लिए हैं। मुझे विश्वास है कि दादा भविष्य में भारतीय क्रिकेट में पारदर्शिता लाएंगे। मोहम्मद कैफ ने आगे कहा कि हालांकि हमारे समय में कई खिलाड़ी उतने फिट नहीं थे जितने कि आज के हैं। पर वे महान क्रिकेटर थे और खुद को साबित कर चुके थे।

टी-20 विश्व कप के बारे में बात करते हुए, कैफ ने कहा कि भारतीय टीम में अब सुसंगतता और समन्वय की भावना होनी चाहिए और यह तय करना होगा कि कौन से खिलाड़ी टीम में खेलेंगे। भारतीय टीम के पास छोटे प्रारूप में खेलने के लिए कई चुनौतियां हैं। इसलिए विराट का नेतृत्व और उनके फैसले बहुत महत्वपूर्ण हैं। मुझे लगता है कि भारत के प्रमुख खिलाड़ी महेंद्र सिंह धोनी को टीम में होना चाहिए। धोनी के बिना भारतीय टीम अधूरी है। जब धोनी खुद कहते हैं कि वह अब थक गए हैं। अब जब वह सेवानिवृत्त हो गए हैं, तो मैं समझता हूं कि उनका क्रिकेट खत्म हो चुका है।

मोहम्मद कैफ ने इस चैट के दौरान यो-यो टेस्ट पर बात करते हुए कहा कि फिटनेस क्रिकेटरों के लिए बेहद अहम होता है। अगर हम अपने समय में यो-यो टेस्ट कराते तो लक्ष्मीपति बालाजी और मैं उसे पास कर लेते। युवराज सिंह की भी फिटनेस अच्छी थी। पर मुझे नहीं लगता कि उस टीम में कोई और खिलाड़ी यो-यो टेस्ट पास कर पाता। आपको बता दें मोहम्मद कैफ जिस टीम में खेलते थे, उस टीम में सचिन तेंदुलकर, सौरव गांगुली, राहुल द्रविड़ और वीरेंद्र सहवाग जैसे दिग्गज भी थे।

You may also like