[gtranslate]
sport

ऑल इंग्लैंड ओपन में सिंधु से उम्मीदें 

वर्ल्ड  चैंपियन और भारत की स्टार बैटमिंटन खिलाड़ी पीवी सिंधु को स्विस ओपन फाइनल में मिली हार को भुलाकर  इंग्लैंड ओपन बैडमिंटन चैंपियनशिप में सितारों की गैर मौजूदगी का फायदा उठाकर खिताब जीतने की कोशिश करेंगी। सिंधु को स्विस ओपन फाइनल में स्पेन की कैरालिना मारिन ने एकतरफा मुकाबले में हराया था। तीन बार की विश्व चैंपियन मारिन ने चोट के कारण इस टूर्नमेंट से नाम वापिस  ले लिया है।

चीन, कोरिया और चीनी ताइपे के खिलाड़ी भी इससुपर-1000 टूर्नामेंट में नहीं खेलेंगे जो टोक्यो ओलंपिक क्वालिफिकेशन दौर का हिस्सा नहीं है। इससे टूर्नामेंट की रौनक कुछ कम हो गई है, लेकिन इससे भारत के 19 सदस्यीय दल को बेहतर प्रदर्शन करने का मौका मिला है। भारत के लिए प्रकाश पादुकोण (1980) और पुलेला गोपीचंद (2001) के अलावा यहां कोई खिताब नहीं जीत सका है। दुनिया की पूर्व नंबर-1 खिलाड़ी साइना नेहवाल 2015 में उपविजेता रही थीं।

सिंधु यहां 2018 में सेमीफाइनल तक पहुंचीं, लेकिन उनके अलावा कोई और भारतीय आगे नहीं बढ़ सका। ओलंपिक सिल्वर मेडलिस्ट सिंधु एक बार फिर खिताब की प्रबल दावेदार होंगी, लेकिन साइना अपने सर्वश्रेष्ठ फार्म में नहीं है। वह पिछले दो साल में सिर्फ दो बार क्वार्टर फाइनल तक ही पहुंच सकी। अन्य भारतीयों में दुनिया के पूर्व नंबर-1 किदांबी श्रीकांत और युगल वर्ग में
सात्विक साईराज रंकीरेड्डी तथा चिराग शेट्टी ने स्विस ओपन में अच्छा प्रदर्शन किया और वे इस लय को कायम रखना चाहेंगे।
पांचवीं वरीयता प्राप्त सिंधु का सामना पहले दौर में मलेशिया की सोनिया चिया से होगा जबकि क्वार्टर फाइनल में वह जापान की अकाने यामागुची से भिड़ सकती है। लंदन ओलंपिक ब्रान्ज मेडलिस्ट विजेता साइना का सामना पहले दौर में सातवीं वरीयता प्राप्त डेनमार्क की मिया ब्लिचफेल्ट से होगा।

पुरुष एकल में श्रीकांत पहले दौर में इंडोनेशिया के टामी सुगिआर्तो से खेलेंगे। विश्व चैंपियनशिप के ब्राॅन्ज मेडलिस्ट बी साई प्रणीत फ्रांस के तोमा जूनियर पोपोव का सामना करेंगे। वह अगले दौर में विक्टर एक्सेलसेन से भिड़ सकते हैं जिन्होंने हाल ही में स्विस ओपन और थाईलैंड ओपन जीता है।

राष्ट्रमंडल खेलों के स्वर्ण पदक विजेता पारूपल्ली कश्यप का सामना पहले दौर में जापान के केंतो मोमोता से होगा जो विश्व रैंकिंग में शीर्ष पर हैं। एचएस प्रणय की टक्कर मलेशिया के डारेन लियू से होगी। समीर वर्मा का सामना ब्राजील के यगोर कोल्हो से होगा। वहीं लक्ष्य सेन थाइलैंड के केंटाफोन वांगचारोन से खेलेंगे।

पुरुष युगल में सात्विक और चिराग का सामना फ्रांस के इलोइ एडम और जूलियन मेइयो से होगा। वहीं अश्विनी पोनप्पा और सात्विक मिश्रित युगल में जापान के युकी कानेको और मिसाकी मत्सुतोमो से खेलेंगे। महिला युगल में अश्विनी और एन सिक्की रेड्डी का सामना थाइलैंड की बेनियापा ऐमसार्ड और नुंताकार्न ऐमसार्ड से होगा।

You may also like

MERA DDDD DDD DD