sport

इंग्लैंड ने बनाया विश्व रिकॉर्ड

इग्लैंड ने अंतरराष्ट्रीय वनडे क्रिकेट में सबसे बड़ा स्कोर बनाने का रिकॉड अपने नाम कर लिया है। हालांकि उसने अपना ही 444 रनों का  विश्व रिकॉड तोड़कर वनडे क्रिकेट में 481 रनों का सर्वोच्च स्कोर बना दिया है।

ऑस्ट्रेलिया और इंग्लैंड के बीच खेले जा रही पांच वनडे मैचों की सीरीज के तीसरे वनडे मैच में इंग्लिश टीम ने यह  विश्व रिकॉर्ड बनाया । इस मैच में इंग्लैंड ने पहले बल्लेबाज़ी करते हुए  निर्धारित 50 ओवर में 6 विकेट के नुकसान पर 481 रन बनाए।

इस विशाल स्कोर के साथ इंगलैंड ने ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ नॉटिंघम के ट्रेंट ब्रिज मैदान में इतिहास रच दिया है। ऑस्टे्रलिया टूर पर गई इंगलैंड टीम ने तीसरी वनडे में अपने स्टार बल्लेबाजों एलेक्स हेल्स और जॉनी बेयरस्टो की तूफानी पारियों की मदद यह मुकाम हासिल किया है। । इससे पहले भी वनडे में सर्वोच्च रनों का रिकॉर्ड भी इंगलैंड के नाम ही था। इंगलैंड ने इसी नॉटिंघम के मैदान में 2016 में पाकिस्तान के खिलाफ 444  रन बनाए थे। ऐसा कर उन्होंने श्रीलंकाई टीम का दस साल पुराना रिकॉर्ड तोड़ा था। जब श्रीलंका ने नीदरलैंड के खिलाफ 2006 में 443 रन बना दिए थे।वहीं, इंगलैंड के बल्लेबाजों की  तूफानी फॉर्म का अंदाजा इसी से लगाया जा सकता है जब  पहले 20 ओवरों में ही टीम का स्कोर 160 के पास पहुंच गया था। ओपनर जेसन रॉय और जॉनी बेयरस्टो ने इंगलैंड को तूफानी शुरुआत दी थी। जेसन ने जहां डार्सी शॉट/पेने की थ्रो पर रन आऊट होने से पहले 61 गेंदों में चार छक्कों और सात चौकों की मदद से 82 रन बनाए।

जेसन रॉय का विकेट गंवाने के बाद भी उनके सलामी बल्लेबाज पार्टनर जॉनी बेयरस्टो ने अपना स्टाइल नहीं छोड़ा। उन्होंने एलेक्स हेल्स के साथ मिलकर महज 14 ओवरों में 161 रन की साझेदारी बनाई । बेयरस्टो ने 92 गेंदों पर 15 चौकों और पांच छक्कों की मदद से 139 रन बनाए। इसके बाद जोस बटलर क्रीज पर आए लेकिन वह कुछ खास नहीं कर पाए और महज 11 रन बनाकर आउट हो गए। इसके बाद हेल्स ने कप्तान इयोन मोर्गन के साथ इंगलैंड की पारी को आगे बढ़ाया। दोनों ने 59 गेंदों में 124 रन की पार्टनरशिप के दौरान मैदान के चारों ओर चौके-छक्कों की बरसात कर दी। एलेक्स हेल्स जब आऊट हुए तब इंगलैंड का स्कोर 459 रन था। हेल्स ने महज 92 गेंदों में 16 चौकों और पांच छक्कों की मदद से 147 रन बनाए।

अंत के ओवरों में कप्तान मोर्गन ने  तीन चौके और छह छक्कों की मदद से 67 रन बनाकर इंगलैंड को वनडे इतिहास के सबसे बड़े रिकॉर्ड पर पहुंचा दिया।

 जबाब में ऑस्ट्रेलियाई टीम महज 37 ओवरों में 239 बनाकर ऑल आउट हो गई। और इग्लैंड ने यह मैच 242 रनों की जीत के साथ अब तक की सबसे बड़ी जीत भी अपने नाम दर्ज कर ली।इसके साथ ही इग्लैंड ने पांच वनडे मैचों की सीरज में 3. 0 से बढ़त हांसिल कर ली है।

ऑस्ट्रेलिया की टीम इंग्लैंड से हारने के बाद आईसीसी वनडे रैंकिंग में पिछले 34 साल में अपनी सबसे निचली रैंकिंग पर खिसक गई है। ऑस्ट्रेलिया लगातार पराजयों के बाद छठे स्थान पर खिसक गया है। ऑस्ट्रेलिया को अब शेष मैचों में से कम से कम एक मैच जीतना होगा ताकि वह रैंकिंग में पाकिस्तान से ऊपर पांचवें स्थान पर आ सके।

ऑस्ट्रेलिया इससे पहले जनवरी 1984 में छठे स्थान पर रहा था। ऑस्ट्रेलिया की रैंकिंग से प्रदर्शन में उसकी गिरावट का पता चलता है। ऑस्ट्रेलियाई टीम जनवरी 2017 में पकिस्तान से घरेलू सीरीज में हारने के बाद से वनडे रैंकिंग में गिरावट झेल रही है। इस दौरान ऑस्ट्रेलिया ने 15  वनडे मैचों में 13 मैच गंवाएं हैं जिसमें न्यूजीलैंड, भारत और इंगलैंड के खिलाफ लगातार द्विपक्षीय सीरीज हार शामिल हैं। ऑस्ट्रेलिया इसके अलावा चैंपियंस ट्रॉफी में ग्रुप चरण में बाहर हो गया था।

वनडे के टॉप-3 सर्वाधिक स्कोर

  1. इंग्लैंड 481/6 रन-ऑस्ट्रेलिया- नॉटिंघम (2018)
  2. इंग्लैंड 444/3 रन- पाकिस्तान- नॉटिंघम (2016)
  3. श्रीलंका 443/9 रन-  नीदरलैंड्स- एम्सटेलवीन (2006)

You may also like