sport

डीएसपी से बनाया जा सकता है कांस्टेबल

भारतीय महिला टी -20 टीम की कप्तान और राष्ट्रीय टीम की उपकप्तान हरमनप्रीत को पुलिस उपाध्यक्ष (डीएसपी )पद से पदावनत कर कांस्टेबल बनाया जा सकता है। पंजाब सरकार ने डिग्री विवाद उठने के कारण महिला क्रिकेटर हरमनप्रीत कौर पर बड़ी कार्रवाई करते हुए उनसे डीएसपी पद वापस ले लिया है। हरमनप्रीत की स्नातक की डिग्री फर्जी पाई गई है जिसके चलते सरकार ने यह कड़ा फैसला लिया। अब  उन्हें कॉस्टेबल  की नौकरी मिल सकती है।

राज्य की मोगा निवासी और भारतीय महिला क्रिकेट टीम की उप कप्तान हरमनप्रीत को गत एक मार्च को स्वयं मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह और पुलिस महानिदेशक सुरेश अरोड़ा ने एक कार्यक्रम में राज्य पुलिस में डीएसपी के रूप में ज्वाईन कराया था। लेकिन चौधरी चरण सिंह विश्वविद्दालय  मेरठ की स्नातक की जो डिग्री उसने नौकरी के लिये पंजाब पुलिस को दी वह जांच में फर्जी पाई गई।विश्वविद्दालय ने पंजाब सरकार को भेजी अपनी रिपोर्ट में कहा है कि डिग्री पर जो पंजीकरण संख्या दर्शाई गई है वह उसके रिकार्ड में नहीं है।

सूत्रों के अनुसार, राज्य सरकार इस मामले में नरम रवैया अपनाते हुए हरमनप्रीत के खिलाफ एफआईआर या अन्य कोई कानूनी कार्रवाई नहीं करेगी। हरमनप्रीत की शैक्षिक योग्यता अब सीनियर सैकंडरी रह जाने के बाद राज्य सरकार ने उन्हें कांस्टेबल पद पर नियुक्ति की पेशकश की है। जो उनकी योग्यता के मुताबिक है।

 इस मामले में हांलाकि अंतिम फैसला सरकार को करना है और गृह विभाग से इस मामले में पुलिस महानिदेशक (डीजीपी ) से राय मांगी है। तांकि वह इस पर अपनी राय दे सकें। पंजाब सेवा नियमों के अनुसार डीएसपी के पद के लिए स्नातक की डिग्री जरुरी है। भविष्य में जब कभी वह स्नातक की योग्यता हासिल कर लेगी तो उसे पुन: डीएसपी पद पर नियुक्त किया जा सकता है

Leave a Comment

Your email address will not be published.

You may also like