[gtranslate]
sport

अब गांगुली की बारी

भारतीय टीम के स्टार खिलाड़ी और सबसे सफल टेस्ट कप्तान विराट कोहली अब क्रिकेट के तीनों प्रारूपों की कप्तानी छोड़ चुके हैं। कोहली ने टेस्ट की कप्तानी से भी इस्तीफा देकर पूरी दुनिया को चैंका दिया। इससे पहले टीम इंडिया को दक्षिण अफ्रीका के हाथों तीन मैचों की टेस्ट सीरीज में 2-1 से हार झेलनी पड़ी थी। केपटाउन में खेला गया आखिरी टेस्ट कोहली के करियर का 99वां टेस्ट मैच था। खबरों के मुताबिक कोहली के कप्तानी छोड़ने के फैसले से भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) चैंक गया था। उन्होंने इसके बाद कोहली से फोन पर बातचीत की थी। बीसीसीआई ने कोहली को उनके 100वें टेस्ट में कप्तानी करने का आॅफर दिया था, जिसे उन्होंने ठुकरा दिया। लेकिन इस सब के इतर यह भी कहा जा रहा है कि कोहली के इस फैसले के पीछे भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड के अध्यक्ष सौरव गांगुली  का हाथ माना जा रहा है। कोहली के टेस्ट की कप्तानी छोड़ने के बाद फैंस ने सोशल मीडिया पर सौरव गांगुली को जमकर निशाने पर लिया। कई फैंस ने सौरव गांगुली के बीसीसीआई अध्यक्ष पद से इस्तीफे की मांग भी की है। कहा जा रहा है कि सौरव गांगुली की जल्द ही बीसीसीआई अध्यक्ष पद से छुट्टी हो सकती है।हालांकि इस साल अक्टूबर में सौरव गांगुली का कार्यकाल खत्म हो जाएगा। दरअसल , सौरव गांगुली के अलावा बीसीसीआई के सचिव जय शाह का भी कार्यकाल  अक्टूबर में खत्म हो रहा है। सौरव गांगुली और जय शाह अक्टूबर 2019 में बीसीसीआई  के अध्यक्ष और सचिव निर्वाचित हुए थे। इससे पहले जब दोनों का बीसीसीआई में कार्यकाल 2018 में खत्म हुआ था तो बीसीसीआई ने कूलिंग आॅफ पीरियड नियम में संशोधन कर कार्यकाल को बढ़ाने की स्वीकृति दी थी।

 

सौरव गांगुली बंगाल क्रिकेट  संघ के संयुक्त सचिव और बाद में अध्यक्ष रह चुके थे, दूसरी ओर जय शाह गुजरात क्रिकेट संघ के सचिव रहे हैं। ऐसे में ये देखना दिलचस्प होगा कि अक्टूबर 2022 के बाद क्या दोनों का कार्यकाल एक बार फिर आगे बढ़ाया जाएगा या नहीं। बीसीसीआई  के नए संविधान के अनुसार राज्य संघ या बोर्ड में 6 साल के कार्यकाल के बाद 3 साल के कूलिंग आॅफ पीरियड पर जाना अनिवार्य है।

हाल ही में भारत को दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ तीन मैचों की टेस्ट सीरीज में 2-1 से शिकस्त मिली। केपटाउन में खेले गए आखिरी टेस्ट में विराट कोहली की जुझारू पारी और ऋषभ पंत की सेंचुरी काम नहीं आई और दक्षिण अफ्रीका ने सात विकेट से हराया। हालांकि इस टेस्ट में खेली गई पारी से कोहली और पंत को ताजा आईसीसी रैंकिंग में जरूर फायदा हुआ है। कोहली आईसीसी की ताजा टेस्ट रैंकिंग में बल्लेबाजों में दो स्थान उठकर सातवें स्थान पर पहुंच गए हैं। उन्होंने केपटाउन में पहली पारी में 79 रन और दूसरी पारी में 29 रन बनाए थे। वहीं, विकेटकीपर बल्लेबाज पंत दूसरी पारी में 100 रन बनाकर नाबाद रहे थे। उनकी बल्लेबाजी रैंकिंग में 10 स्थान का सुधार हुआ और 14वें पायदान पर पहुंच गए हैं। कोहली ने दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ टेस्ट सीरीज के बाद कप्तानी से इस्तीफा दे दिया था। जिसके बाद बीसीसीआई और कोहली के इस फैसले को लेकर काफी चर्चाएं हो रही हैं।

क्या है पूरा मामला

 

गांगुली और शाह ने 2019 अक्टूबर में पदभार संभाला था और तब उनके राज्य और राष्ट्रीय इकाई में छह साल के कार्यकाल में केवल 9 महीने बचे थे। शीर्ष अदालत में दायर इस याचिका में कहा गया था कि बोर्ड ने 9 अगस्त 2018 से लागू कूलिंग आॅफ पीरियड में जाने के नियम में संशोधन कर अपने पदाधिकारियों के कार्यकाल को बढ़ाने की स्वीकृति दे दी है। लेकिन कुछ मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक गांगुली और शाह का कार्यकाल इस साल अक्तूबर में समाप्त हो जाएगा और ऐसे में बीसीसीआई को नया अध्यक्ष मिलने की अटकलें लगने लगी हैं। गांगुली और शाह के कार्यकाल में कई पूर्व क्रिकेटरों को भारतीय क्रिकेट में अहम जिम्मेदारियां भी मिली। इस दौरान राहुल द्रविड़ भारतीय टीम का मुख्य कोच बनने के लिए तैयार हुए तो वहीं वीवीएस लक्ष्मण ने राष्ट्रीय क्रिकेट अकादमी का कार्यभार संभाला। यही नहीं पूर्व कप्तान महेंद्र सिंह धोनी को टी-20 वल्र्ड कप 2021 में भारतीय टीम का मेंटर बनाया गया।

 

गांगुली और विराट के संबंधों पर चर्चा

 

इन उपलब्धियों के अलावा सौरव गांगुली बड़े विवादों का हिस्सा भी बने। गांगुली और विराट के संबंधों पर भी खूब चर्चा हो रही है। कोहली ने दावा किया था कि उनसे टी-20 कप्तानी को लेकर बोर्ड की ओर से किसी तरह की कोई बातचीत नहीं की गई थी। वहीं गांगुली ने कहा कि उन्होंने विराट से टी-20 कप्तानी ना छोड़ने को लेकर अनुरोध किया था।

 

टेस्ट में सबसे सफल कप्तान विराट

 

विराट कोहली ने सात साल तक भारतीय टीम की कप्तानी संभाली और हाल ही में इससे इस्तीफा देकर क्रिकेट जगत में हलचल पैदा कर दी थी। विराट भारत के सबसे कामयाब टेस्ट कप्तान हैं। कोहली की कप्तानी में भारतीय टीम ने 68 में से 40 टेस्ट जीते, जिससे वह विश्व क्रिकेट के सबसे सफल कप्तानों में से एक बनें।

You may also like

MERA DDDD DDD DD