[gtranslate]
sport

सवालों में चयनकर्ता

टी-20 विश्वकप 2024 के लिए भारतीय टीम की घोषणा के बाद से ही चयनकर्ता सवालों के घेरे में हैं। इससे पहले चर्चा थी कि टीम चयन की बैठक के दौरान वर्तमान में खेली जा रही इंडियन प्रीमियर लीग में खिलाड़ियों के प्रदर्शन को भी तवज्जो दी जाएगी। यह बात खुद टीम इंडिया के मुख्य कोच राहुल द्रविड़ ने कही थी। लेकिन अब जो टीम का ऐलान किया गया है उसमें कई नामों को लेकर सवाल खड़े हो रहे हैं। खेल विशेषज्ञों का कहना है कि हार्दिक जिस तरह से अब तक इस आईपीएल में खेले हैं, उस आधार पर वो कहीं से भी टीम में जगह डिजर्व नहीं करते हैं। ऐसे में उनके चयन पर सवाल उठने लाजमी हैं

 

अगले महीने एक जून से शुरू होने वाले आईसीसी टी 20 विश्वकप के लिए गत सप्ताह भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड ने टीम का ऐलान कर दिया है। इससे पहले चर्चा थी कि टीम चयन की बैठक के दौरान वर्तमान में खेली जा रही इंडियन प्रीमियर लीग 2024 में खिलाड़ियों के प्रदर्शन को भी तवज्जो दी जाएगी। यह बात खुद टीम इंडिया के मुख्य कोच राहुल द्रविड़ ने कही थी कि आईपीएल के आधार पर ही विश्वकप के लिए टीम चुनी जाएगी। लेकिन अब जो टीम की घोषणा की गई है उसमें कई नामों को लेकर चयनकर्ताओं पर सवाल खड़े हो रहे हैं। कहा जा रहा है कि जहां रविंद्र जडेजा और हार्दिक जैसे धुरंधर तेजी से रन बनाने के लिए संघर्ष कर रहे हैं, वहीं अभिषेक शर्मा, आशुतोष शर्मा, शशांक सिंह और रियान पराग जैसे खिलाड़ियों ने धुआंधार बल्लेबाजी कर सबका ध्यान अपनी ओर आकर्षित किया है और दावदारी पेश की। लेकिन इसके बावजूद इन्हें नजरअंदाज किया गया है।

खेल विशेषज्ञों का कहना है कि हार्दिक जिस तरह से अब तक इस आईपीएल में खेले हैं, उस आधार पर वो कहीं से भी टीम में जगह डिजर्व नहीं करते हैं। वहीं रवि बिश्नोई और रिंकू सिंह क्यों बाहर किए गए, इस पर भी सवाल उठ रहे हैं। हार्दिक पूरे आईपीएल में बल्लेबाजी और गेंदबाजी में जूझते हुए नजर आए हैं। ऐसे में उनका चयन कैसे हो गया यह सबसे बड़ा सवाल है। यही नहीं उन्हें टीम का उपकप्तान भी बनाया गया है। जबकि हार्दिक ने विश्वकप 2023 में हुई इंजरी के बाद आईपीएल 2024 में वापसी की, उनको रोहित शर्मा की जगह मुंबई की कप्तानी दी गई, लेकिन उनकी कप्तानी में मुंबई इंडियंस की टीम प्वाइंट्स टेबल में नौवें नंबर पर है। मुंबई ने आईपीएल के 10 मुकाबलों में से महज 3 जीते हैं, अब उसकी प्लेआफ में पहुंचने की उम्मीद भी लगभग समाप्त हो गई है।

यानी ये बात साफ है कि हार्दिक ऐसी टीम की कप्तानी भी नहीं कर पाए, जिसमें चैम्पियंस खिलाड़ियों की भरमार है। अगर हार्दिक बतौर आलराउंडर ही टीम में शामिल हुए हैं तो यह देखना होगा कि वह टी-20 विश्वकप में कितने ओवर कर पाते हैं, क्योंकि वह आईपीएल में तो फिसड्डी रहे हैं। हार्दिक ने आईपीएल के 10 मुकाबलों में 150.38 के एवरेज और 21.89 के स्ट्राइक रेट से 197 रन बनाए हैं। उन्होंने इस आईपीएल में कोई भी ऐसी पारी नहीं खेली है, जिसे याद रखा जाए।

अगर बात करें हार्दिक की गेंदबाजी की, यहां तो उनकी हालत और खराब दिख रही है। आईपीएल के 10 मैचों में उन्होंने 42.17 के एवरेज और 11 के महंगे इकोनाॅमी रेट से महज 6 विकेट लिए हैं। हार्दिक का यह इकोनाॅमी रेट उनका आईपीएल इतिहास का सबसे खराब है। यानी हार्दिक का इस आईपीएल में प्रदर्शन वैसा तो बिल्कुल भी नहीं रहा है कि उनको टीम में ले ही लिया जाए, जबकि वो इंजरी के बाद वापसी कर रहे थे। ऐसे में उनके चयन पर सवाल उठने लाजमी हैं।

दूसरी ओर हार्दिक के अंतरराष्ट्रीय करियर की बात की जाए तो 30 साल के पांड्या ने भारत के लिए 92 टी 20 मैच खेले हैं। इस फाॅर्मेट में उन्होंने 25.43 के एवरेज और 139.83 के स्ट्राइक रेट से 1348 रन बनाए हैं। हार्दिक ने टी20 में 73 विकेट भी लिए हैं, जहां उनका एवरेज 26.71 का है और इकोनाॅमी रेट 8.16 की है।

आईसीसी रैंकिंग में टाॅप 6 के बावजूद नहीं मिला मौका आईसीसी टी-20 रैंकिंग में रवि बिश्नोई नंबर 6 पर हैं, इसके बावजूद वह विश्वकप की टीम में नहीं हैं। जब उन्होंने टीम इंडिया के लिए आखिरी टी20 मैच खेला था तो उन्होंने अफगानिस्तान के खिलाफ बेंगलुरु में हुए मैच में ‘डबल सुपर ओवर’ फेंका था और भारत को जीत दिलाई थी।

यानी इस गेंदबाज में वो माद्दा तो है कि यह अंडर प्रेशर मैच जिता सकता है। बिश्नोई ने अब तक 24 टी-20 मैच खेले हैं, जहां उनके नाम 36 विकेट हैं, वहीं उनका एवरेज भी 19.52 और इकोनाॅमी रेट भी 7.5 है। हालांकि इस आईपीएल में रवि ने 10 मैचों में 6 विकेट लिए हैं, उनका एवरेज 42.17 और इकोनाॅमी रेट 8.53 का है।

ये खिलाड़ी खेलेंगे पहली बार टी -20 विश्वकप

टी-20 विश्वकप 2024 के लिए भारतीय टीम का ऐलान कर दिया गया है। टीम का कप्तान रोहित शर्मा और उपकप्तान हार्दिक पांड्या को बनाया गया है। टीम में युवा और अनुभवी खिलाड़ियों को मौका मिला है। भारतीय टीम में कुछ ऐसे खिलाड़ी शामिल हैं, जो पहली बार टी-20 विश्वकप में खेलते हुए दिखाई देंगे। इनमें सबसे पहला नाम है जायसवाल का। ये अच्छी लय में हैं और चंद गेंदों में मैच का रुख बदल सकते हैं।

यशस्वी जायसवाल: यशस्वी जायसवाल पिछले कुछ समय से रोहित शर्मा के साथ पारी की शुरुआत की जिम्मेदारी संभाल रहे हैं। वह विस्फोटक बैटिंग करने के लिए जाने जाते हैं। वह पहली बार टी20 विश्वकप में खेलते हुए दिखाई देंगे। इससे पहले एशियन गेम्स 2023 में गोल्ड मेडल जीतने वाली भारतीय टीम का जायसवाल हिस्सा रहे हैं।

संजू सैमसन: आईपीएल 2024 में संजू सैमसन ने दमदार प्रदर्शन किया है और अपने दम पर राजस्थान राॅयल्स की टीम को कई मैच जिताए हैं। उन्होंने मौजूदा सीजन में अभी तक नौ मैचों में 378 रन बनाए हैं। उनके शानदार प्रदर्शन की वजह से ही उन्हें टीम इंडिया में चुना गया है। उनका यह पहला टी20 विश्वकप है। संजू ने भारतीय टीम के लिए अभी तक 25 टी 20 मैचों में 374 रन बनाए हैं, जिसमें 77 रन उनका सर्वश्रेष्ठ स्कोर है।

शिवम दुबे: आईपीएल 2024 में शिवम दुबे ने अच्छा खेल दिखाया है। मौजूदा सीजन में उन्होंने अभी नौ मुकाबलों में तक 350 रन बनाए हैं। वह मीडिल ओवर्स में ताबड़तोड़ बैटिंग करते हैं। उनके पास वह काबिलियत है कि वो किसी भी गेंदबाजी आक्रामण की धज्जियां उड़ा सकते हैं। इनका भी यह पहला टी-20 विश्वकप है।

युजवेंद्र चहल: टी -20 विश्वकप 2022 में युजवेंद्र चहल को भारतीय टीम में जगह मिली थी, लेकिन वह एक भी मैच नहीं खेल पाए थे। इस बार वह बेहतरीन लय में नजर आ रहे हैं और टी-20 विश्वकप में प्लेइंग इलेवन में खेलने के बड़े दावेदार हैं।

मोहम्मद सिराज: मोहम्मद सिराज ने भारतीय टीम के लिए साल 2017 में टी 20 से पर्दापण किया था। लेकिन वह टी-20 विश्वकप 2021 और 2022 में नहीं खेल पाए थे। इस बार चयनकर्ताओं ने उन पर भरोसा जताया है और उन्हें टी20 विश्वकप 2024 में भारतीय टीम में मौका मिला है।

कुलदीप यादव: चाइनामैन के नाम से मशहूर कुलदीप यादव ने भारतीय टीम के लिए 35 टी-20 मैचों में 59 विकेट अपने नाम किए हैं और उनके स्पिन के जादू से बच पाना आसान नहीं है। वह काफी किफायती भी साबित होते हैं। उनके तरकश में हर वो तीर मौजूद है, जिससे विरोधी बल्लेबाजों को ध्वस्त कर सकें। उन्हें टी-20 विश्वकप 2024 में जगह मिली है और वह पहली बार टी-20 विश्वकप में खेलते हुए दिखाई देंगे।

गौरतलब है कि टी-20 विश्वकप 2024 में भारत को अपना पहला मुकाबला 5 जून को आयरलैंड के खिलाफ न्यूयाॅर्क के नवनिर्मित नासाउ काउंटी अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट स्टेडियम में खेलना है। टीम इंडिया को चिर प्रतिद्वंद्वी पाकिस्तान, आयरलैंड, कनाडा और सह-मेजबान अमेरिका के साथ ग्रुप-ए में रखा गया है। भारत इसके बाद 9 जून, 2024 को इसी स्थान पर पाकिस्तान के खिलाफ अहम मुकाबला खेलेगा। इसके बाद क्रमशः 12 और 15 जून को यूएसए और कनाडा से भिड़ेगा।

टी-20 विश्वकप के लिए भारतीय टीम: रोहित शर्मा (कप्तान), यशस्वी जायसवाल, विराट कोहली, सूर्यकुमार यादव, ऋषभ पंत, संजू सैमसन, हार्दिक पांड्या (उपकप्तान), रविंद्र जडेजा, शिवम दुबे, अक्षर पटेल, कुलदीप यादव, युजवेंद्र चहल, अर्शदीप सिंह, जसप्रीत बुमराह, मोहम्मद सिराज।

रिजर्व खिलाड़ी: शुभमन गिल, रिंकू सिंह, खलील अहमद और आवेश खान।

रिंकू का टी-20 रिकाॅर्ड बेहतर, नहीं मिले मौके

 

रिंकू सिंह विश्वकप के लिए रिजर्व में शामिल हैं। कई दिग्गज क्रिकेटर कह रहे हैं कि रिंकू का प्रदर्शन इस आईपीएल में उतना बेहतर नहीं रहा है। लेकिन इस खिलाड़ी को भारतीय टीम ने पिछले कुछ महीनों में टी-20 टीम के लिए यूज किया जिसमें रिंकू खरे उतरे इसके बावजूद उनको नहीं चुना है। ऐसे में फिर वही सवाल उठता है कि रिंकू और हार्दिक के लिए अलग-अलग चयन के मानक क्यों हैं?

अगस्त 2023 में अपने डेब्यू के बाद रिंकू सिंह ने 15 टी20 मैच खेले हैं। जहां उन्होंने 89.00 के एवरेज और 176.23 के स्ट्राइक रेट से 356 रन बनाए हैं। खुद दिग्गज क्रिकेटर इरफान पठान ने भी रिंकू सिंह के टीम में न होने पर सवाल उठाए हैं। ऐसे में यह माना जा सकता है कि रिंकू सिंह ने इस आईपीएल में अब तक 9 मैच खेले हैं, जहां उनके नाम महज 123 रन हैं। इस दौरान उनका एवरेज 20.50 और स्ट्राइक रेट 150.00 का है। लेकिन यहां यह बात समझनी होगी कि रिंकू जिस कोलकाता नाइट राइडर्स की टीम से जुड़े हैं, वहां टाॅप आर्डर में सुनील नरेन और फिल साॅल्ट की वजह से उनको उतने मौके नहीं मिले, वहीं टीम मैनेजमेंट ने नंबर तीन पर रघुवंशी को मौका दिया। ऐसे में रिंकू को खुलकर बल्लेबाजी करने का मौका ही नहीं मिला।

रिंकू के इस सीजन के प्रदर्शन से उनके पुराने प्रदर्शन को आंका जाए तो साफ है कि पिछले आईपीएल में उन्होंने धूम मचाकर रख दी थी। रिंकू ने आईपीएल 2023 के 14 मैचों में 474 रन बनाए थे, तब रिंकू का एवरेज 59.25 और स्ट्राइक रेट 149.53 का था।

 

You may also like

MERA DDDD DDD DD