[gtranslate]
Country Science-technology

ऑक्सीमीटर की झंझट खत्म, अब स्मार्टफोन से चेक करें ऑक्सीजन लेवल

देश में कोरोना की दूसरी लहर ने कहर बरपा रखा है। जिससे देश के हर हिस्से में गंभीर स्थिति पैदा हो गई है। ऐसे में लोगों को कई तरह की दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है। लॉकडाउन जैसी स्थितियों में घर से बाहर निकले बिना बहुत सारे चिकित्सा उपकरणों को घर पर रखने की आवश्यकता होती है। इन मुश्किल दिनों में पल्स ऑक्सीमीटर बेहद अहम भूमिका निभा रहा है।

यह ऑक्सीजन लेवल चेकिंग डिवाइस आज हर किसी के घर में उपलब्ध है। ऑक्सीमीटर की मांग बढ़ने से इनके रेट भी बढ़े हैं। लेकिन अब आपको ऑक्सीमीटर की आवश्यकता नहीं है। क्योंकि कोलकाता स्थित स्वास्थ्य स्टार्टअप ने हाल ही में एक मोबाइल ऐप विकसित किया है जिसका उपयोग ऑक्सीमीटर के स्थान पर और समग्र ऑक्सीमीटर की बढ़ती दरों को नियंत्रित करने के लिए किया जा सकता है।

अपने साथ लगातार ऑक्सीमीटर रखने की जरूरत नहीं है।

कोरोना संक्रमित मरीजों में ऑक्सीजन का स्तर गिरना शुरू हो जाता है और फिर फेफड़ों पर भी असर पड़ता है। अगर स्थिति बिगड़ती है तो लोगों को अपनी जान गंवानी पड़ती है। ऐसे में अगर कोई कोरोना वायरस से संक्रमित है तो डॉक्टर उसे समय-समय पर पल्स ऑक्सीमीटर के जरिए अपने ब्लड ऑक्सीजन लेवल यानी एसपीओ2 की जांच करने की सलाह देते हैं। इसके लिए अब आप स्मार्टफोन की मदद ले सकते हैं, लगातार ऑक्सीमीटर लेकर चलने या खरीदने की जरूरत नहीं है।

केयरप्लिक्स वाइटल ऐप एसपीओ 2 की सटीक रीडिंग प्रदान करेगा

एक स्वास्थ्य स्टार्टअप द्वारा विकसित मोबाइल ऐप को CarePlix Vitals कहा जाता है, जो उपयोगकर्ता के रक्त ऑक्सीजन के स्तर, नाड़ी और प्रतिक्रिया दर की निगरानी के लिए काम करता है। इस मोबाइल ऐप का उपयोग करने के लिए, आपको सबसे पहले रियर कैमरे और स्मार्टफोन की फ्लैशलाइट पर उंगली लगानी होगी। कुछ ही सेकंड में डिस्प्ले पर ऑक्सीजन सैचुरेशन (SPO2), पल्स और रेस्पिरेटरी लेवल दिखाई देते हैं।

You may also like

MERA DDDD DDD DD