Sargosian / Chuckles

त्रिवेंद्र पर गहराता संकट

अपनी सरकार को ब्लैकमेल करने और अस्थिर करने के आरोप लगाने वाले उत्तराखण्ड के मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र रावत ने भले ही एक निजी टीवी चैनल के मालिक की गिरफ्तारी कर शुरूआती दौर में कइयों की वाहवाही बटोरी हो, वे अब इस पूरे प्रसंग में हाईकोर्ट समेत अपनी ही पार्टी के वरिष्ठ नेताओं की चौतरफा आलोचना का शिकार हो रहे हैं। राज्य पुलिस इस चैनल के मालिक को रिमांड पर लेने के बावजूद ना तो कथित स्टिंग को बरामद कर पाई, ना ही झारखण्ड पुलिस  एक अन्य मामले में इस व्यक्ति को गिरफ्तार कर कुछ हासिल कर पाई। उत्तराखण्ड हाईकोर्ट ने भी सरकार की नीयत पर शंका जाहिर कर सीएम को डिफेंसिव करने का काम किया। अब जमानत पर रिहा आरोपी चैनल मालिक ने देहरादून प्रशासन को पत्र लिखकर राजधानी के परेड ग्राउंड में सार्वजनिक तौर पर इस स्टिंग को दिखाने की इजाजत मांग सीएम और सरकार की भारी फजीहत कर डाली है। जानकारों की मानें तो जल्द ही मुख्यमंत्री के करीबियों पर किया गया स्टिंग चैनल बाहर आ सकता है। यदि ऐसा हुआ तो सीएम की मुश्किलों में इजाफा होना तय है।

You may also like