[gtranslate]
Sargosian / Chuckles

तब्लीगी जमात पर बैकफुट में सरकार 

कोरोना काल में जैसे ही तब्लीगी जमात का मामला सामने आया केंद्र सरकार का पूरा तंत्र जमात और उसके प्रमुख मौलाना साद के पीछे हाथ धोकर पड़ गया था। गोदी मीडिया के हाल तो पूछिए मत। मौलाना साद को खलनायक बनाने में कोई कसर इसने छोड़ी नहीं। अब लेकिन खबर है कि केंद्र सरकार का मन मौलाना को लेकर बदल रहा है। खबर है कि सरकार के इस रूप चलते ही दिल्ली पुलिस मौलाना को गिरफ्तार नहीं कर रही है। दरअसल तब्लीगी जमात मुस्लिमों का ऐसा सबसे बड़ा संगठन हैं जो कभी भी आतंकवाद का सर्मथन नहीं करता। सरकार मौलाना साद के जरिए इस जमात के अनुयायियों को साधना चाहती है। दूसरी तरह यदि वह मौलाना साद को गिरफ्तार करती है तो पाकिस्तान इसका फायदा उठा सकता है।

You may also like