[gtranslate]

पश्चिम बंगाल विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष बन चुके भाजपा नेता शुभेंदु अधिकारी इन दिनों खासे चिंतित बताए जा रहे हैं। कभी मुख्यमंत्री ममता बनर्जी के खासमखास रहे अधिकारी ने भले ही नंदीग्राम सीट पर ममता को पटखनी दे डाली हो, राज्य की राजनीति में उनका रसूख कम होता स्पष्ट नजर आ रहा है। राज्य के नए मंत्रिमंडल में सबसे ज्यादा सात मंत्री शुभेंदु के गृह क्षेत्र से ममता ने बनाए हैं। कभी अधिकारी परिवार का गढ़ कहे जाने वाले इलाके में टीएमसी का अब दबदबा कायम हो चला है। सरकार में शामिल किए गए इन सात विधायकों के जरिए ममता बनर्जी अधिकारी परिवार के रहे-सहे वर्चस्व को भी मिटाने का काम करने में जुट गई हैं। कोलकाता के सत्ता गलियारों में बड़ी चर्चा है कि ममता सरकार शुभेंदु अधिकारी के मंत्री रहते लिए गए सभी निर्णयों का स्पेशल ऑडिट कराने की भी तैयारी कर रही है ताकि गड़बड़ी पाए जाने पर उनके खिलाफ भ्रष्टाचार निरोधक कानून के तहत मुकदमा दर्ज कराया जा सके। खबर यह भी गर्म है कि शुभेंदु अधिकारी के खिलाफ चल रहे शारदा चिट फंड घोटाले से जुड़े कुछ महत्वपूर्ण दस्तावेज भी जल्द ही सार्वजनिक कर ममता बनर्जी नए नेता प्रतिपक्ष को बैकफुट में लाने वाली हैं।

You may also like

MERA DDDD DDD DD