Sargosian / Chuckles

शिवकुमार का गहराता संकट

कर्नाटक की राजनीति का एक बड़ा नाम डीके शिवकुमार इन दिनों भारी संकट में हैं। कांग्रेस के लिए हमेशा संकटमोचक की भूमिका में रहे शिवकुमार केंद्र सरकार की जांच एजेंसी इन्फोर्समेंट डायरेक्ट्रेट द्वारा मनी लॉंन्डिं्रग के मामले में पिछले माह गिरफ्तार किए गए थे। तभी से वे दिल्ली की तिहाड़ जेल में बंद हैं। निचली अदालतों से उनकी बेल हो नहीं पाई है। अब मामला दिल्ली हाईकोर्ट में है। इस बीच ईडी लगातार उनकी कस्टडी अदालत से मांग रही है ताकि उनसे सघन पूछताछ की जा सके। इतना ही काफी नहीं था कि कर्नाटक की येदियुरप्पा सरकार ने दूसरी केंद्रीय एजेंसी सीबीआई को डीके शिवकुमार की जांच करने का अनुरोध कर डाला है। हैरत की बात यह कि तमाम नियम-कानूनों को दरकिनार कर राज्य सरकार ने किसी भ्रष्टाचार या अन्य आरोप में सीबीआई को जांच करने के लिए कहने के बजाए व्यक्ति शिवकुमार की जांच करने को कहा है। यानी सीबीआई समग्र रूप से डीके शिवकुमार के अतीत और वर्तमान को खंगाल कर कुछ ऐसा निकाले जिससे कर्नाटक में भाजपा के लिए बड़ी मुसिबत रहे शिवकुमार को ज्यादा से ज्यादा दिन तक हिरासत में रखा जा सके। हालांकि खबर है कि शिवकुमार के वकील कर्नाटक सरकार के इस बेतुके अनुरोध पत्र का हाईकोर्ट में विरोध करने जा रहे हैं।

You may also like