Sargosian / Chuckles

बैकफुट पर शिवसेना

जम्मू-कश्मीर पर बड़ा फैसला लेने के बाद भाजपा ज्यादा कॉन्फिडेंस में तो सहयोगी दल बैकफुट में आ चुके हैं। महाराष्ट्र में भाजपा के बढ़ते कद से स्पष्ट है कि अब वह शिवसेना से दबने वाली नहीं। बात-बात पर भाजपा को आंखें दिखाने वाली शिवसेना अभी कुछ अर्सा पहले तक बराबर सीटों पर विधानसभा चुनाव लड़ने की बात कर रही थी। अब लेकिन जूनियर पार्टनर बनने को तैयार होती नजर आ रही है। पहले 135 सीटों पर शिवसेना और 135 पर भाजपा का चुनाव लड़ना तय था। अब लेकिन शिसवेना 110 सीटों पर गठबंधन करने को तैयार है। यानी भाजपा 160 सीटों पर चुनाव लड़ेगी। 18 सीटें गठबंधन के अन्य दलों को दी जाएंगी। लोकसभा चुनाव से पूर्व भी दोनों दलों के बीच सीटों को लेकर भारी बवाल मचा था। शिवसेना प्रमुख लगातार पार्टी के मुख पत्र ‘सामना’ में मोदी सरकार के खिलाफ लिख अपना शक्ति प्रदर्शन करते रहे हैं। अब लेकिन हालात बदल चुके हैं। शिवसेना प्रमुख को अंदाजा है कि महाराष्ट्र पूरी तरह मोदीमय है, इसलिए मन मारकर ही सही शिवसेना के इन चुनावों में जूनियर पार्टनर बनने को तैयार होने की खबर है।

You may also like