प्रसिद्ध राजनीतिक कमंटेटर शोभा डे इन दिनों मुसिबत में हैं। उनकी परेशानी का कारण भारत में पाकिस्तान के पूर्व उच्चयुक्त अब्दुल बसित का एक वीडियो इंटरव्यू हैं जिसमें उन्होंने खुलासा किया कि जुलाई, 2016 में बुरहान वानी के इंकाउंटर बाद उन्होंने भारतीय मीडिया को इस बात के लिए तैयार करने का बहुत प्रयास किया कि वे कश्मीर की अवाम के पक्ष में कम से कम इतना तो कहें कि उन्हें भारत में रहने या न रहने का अधिकार मिले। अब्दुल बसित का इशारा रायशुमारी की तरफ था। बकौल बसित वे किसी भी पत्रकार को इस बात के लिए राजी न कर सके। केवल स्तंभकार शोभा डे ने उनकी बात मानकर एक स्तंभ में लिखा ‘अब समय आ गया है कि रायशुमारी करा कश्मीर मुद्दे को निपटाया जाए।’ शोभा डे के लिए बसित का इंटरव्यूह भारी परेशानी लेकर आया है। अब वे अपनी सफाई देते हुए अब्दुल बसित को झूठा बता रही हैं। मीडिया में लेकिन कम ही ऐसे हैं जो शोभा डे की बात पर यकीन कर रहे हैं।

You may also like