[gtranslate]

पिछले कई दिनों से भाजपा और आम आदमी पार्टी के बीच सियासी जंग जारी है। दोनों ही दल एक-दूसरे पर गंभीर आरोप-प्रत्यारोप लगा रहे हैं। एक ओर जहां भाजपा ‘आप’ पर नई शराब नीति में घोटाले के आरोप लगा रही है तो वहीं ‘आप’ भाजपा पर केंद्रीय जांच एजेंसियों (ईडी, सीबीआई) का गलत इस्तेमाल कर सरकार गिराने के आरोप लगा रही है। इस बीच नई शराब नीति में हुए कथित घोटाले के सिलसिले में दिल्ली की राउज एवेन्यू अदालत में दाखिल किए गए आरोपपत्र में प्रवर्तन निदेशालय यानी ईडी ने जो बातें कहीं उससे लग रहा है कि इस जांच का निशाना बहुत सीधा नहीं है। कहा जा रहा है कि यह ‘कहीं पर निगाहें, कहीं पर निशाना’ वाली बात है। दरअसल जांच दिल्ली में चल रही है, छापे दिल्ली के उपमुख्यमंत्री, राज्य के अधिकारियों और कारोबारियों के यहां पड़े लेकिन निशाना तेलंगाना है। इस मामले में तेलंगाना के कई कारोबारियों और नेताओं को इसमें निशाना बनाया गया है और ऐसा लग रहा है कि आने वाले दिनों में जांच की आंच उन तक पहुंचेगी। ईडी के आरोपपत्र में साउथ ग्रुप की बात कही गई है। इस साउथ ग्रुप में जिन लोगों के नाम हैं उनमें एक नाम के कविता का है। इस बीच सीबीआई ने उनसे पूछताछ भी की है। पिछले दिनों दिल्ली भाजपा के नेताओं ने आरोप लगाया था कि तेलंगाना के मुख्यमंत्री के चंद्रशेखर राव की बेटी कविता ने अपने प्रभाव और संपर्क का इस्तेमाल करके शराब के ठेके दिलवाए थे। कविता के अलावा शरत रेड्डी और एम श्रीनिवासुलु रेड्डी का नाम भी इसमें शामिल है। कहा जा रहा है कि साउथ ग्रुप के जरिए आम आदमी पार्टी के संचार विभाग के प्रमुख विजय नायर को एक सौ करोड़ रुपए मिले थे। कविता मुख्यमंत्री की बेटी हैं और शरत रेड्डी बड़े कारोबारी समूह के मालिक हैं और अगले साल मई में तेलंगाना में विधानसभा का चुनाव होना है, जहां भाजपा बहुत जोर लगा रही है।

You may also like

MERA DDDD DDD DD