[gtranslate]

पंजाब की राजनीति पर काफी समय तक बादल परिवार का दबदबा रहा है और इस दौरान शिरोमणि अकाली दल के नेताओं में बादल परिवार का करीबी बनने की होड़ लगी रहती थी। लेकिन पंजाब की बदलती सियासत में यह तस्वीर भी बदल गई है। कभी बादल परिवार के करीबी रहे नेता एक के बाद एक किनारा कर रहे हैं। बीबी जागीर कौर के बाद चर्चा है कि एक और करीबी ने बादल परिवार से अपनी अलग राह के संकेत दिए हैं। पंजाब के पूर्व मुख्यमंत्री प्रकाश सिंह बादल के पिछले तीन दशकों से मीडिया और सियासी मामलों के सलाहकार हरचरण बैंस की फेसबुक पोस्ट कुछ ऐसा ही संकेत दे रही है। बैंस ने इस पोस्ट में लिखा ‘सारी उम्र एक व्यक्ति का हथठोका बनकर उसके हर सही-गलत काम को जायज ठहराने की बिना वेतन नौकरी- गुलामी, आज तक तो मेरी जिंदगी की आत्म कहानी इतनी ही है। अब इस जालिम से आजादी की इच्छा है।’ इस पोस्ट के बाद राज्य की सियासत में चर्चाएं गर्म हैं कि जल्द ही हरचरण बैंस बादल परिवार से अलग हो जाएंगे। गौरतलब है कि बादल परिवार से एक के बाद उसके करीबी किनारा करने में लगे हुए हैं। अभी हाल में ही प्रकाश सिंह बादल और सुखबीर सिंह बादल की करीबी रही बीबी जगीर कौर ने उनसे दूरी बना ली और बगावत भी कर दी। बीबी जगीर कौर ने बादल परिवार से बगावत कर शिरोमणि गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी (एसजीपीसी) के प्रधान का चुनाव भी लड़ा। वह इसमें हार गईं, लेकिन उम्मीद से काफी अधिक वोट हासिल कर उन्होंने बादल परिवार के लिए राजनीति में चुनौती पैदा कर दी है।

You may also like

MERA DDDD DDD DD