शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे इन दिनों विपक्षी दलों के नेताओं को खासे सुहा रहे हैं। कारण शिवसेना और भाजपा के बीच बढ़ती दूरियां जिसके चलते पच्चीस साल पुराना गठबंधन अब टूटने की कगार पर आ पहुंचा है। पिछले दिनों ठाकरे के जन्मदिन पर कांग्रेस अध्यक्ष ने ट्वीट कर उन्हें सबसे पहले बधाई दी। इसके बाद पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ने भी ठाकरे को शुभकामना दे डाली। जानकारों की मानें तो कांग्रेस महाराष्ट्र में ठाकरे की पार्टी संग समझौता कर सकती है। यही कारण है कि राहुल गांधी ने स्वयं ठाकरे को जन्मदिन की शुभकामनाएं दीं। दूसरी तरफ ममता बनर्जी कांग्रेस से इत्तर विपक्षी दलों का गठबंधन बनाने में जुटी हैं। उनका मानना है कि यदि ऐसा गठबंधन 2019 में केंद्र की सत्ता के करीब आता है तो उनकी पीएम पद पर दावेदारी बढ़ जाती है। मजेदार बात यह कि शिवसेना सांसद संजय राऊत ने अपने नेता की तरफ से राहुल गांधी और ममता बनर्जी का आभार जताया लेकिन प्रधानमंत्री मोदी के बधाई संदेश पर पार्टी ने कोई जवाब तक देना उचित नहीं समझा।

You may also like