[gtranslate]

एक ओर जहां अगले महीने होने वाले पांच राज्यों के विधानसभा चुनावों को लेकर देश की सियासत गरमाई हुई है, वहीं दूसरी तरफ चर्चा जोरों पर है कि पंजाब के पूर्व मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह फिर से कांग्रेस का हाथ थाम सकते हैं। हालांकि इसे लेकर आधिकारिक तौर पर न तो कांग्रेस और न ही अमरिंदर सिंह की तरफ से कुछ कहा गया है। गौरतलब है कि कांग्रेस से अलग होकर सिंह ने अपनी पार्टी पंजाब लोक कांग्रेस का गठन किया था। बाद में उन्होंने पार्टी का भाजपा में विलय कर दिया था। लेकिन अब खबर है कि कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा लगातार सिंह के संपर्क में बनी हुई हैं। इतना ही नहीं अटकलें हैं कि इस दौरान उनकी कांग्रेस में वापसी को लेकर बात हो रही है। सिंह पूर्व पंजाब कांग्रेस अध्यक्ष रहे नवजोत सिंह सिद्धू से तनातनी के बाद पार्टी से अलग हो गए थे। सिंह कांग्रेस में वापसी करेंगे या नहीं? यह अब तक साफ नहीं है। मगर कुछ महीने पहले
राजनीतिक गलियारों में संभावनाएं जताई जा रही थीं कि सिंह को भाजपा केंद्रीय मंत्री या किसी राज्य के राज्यपाल का जिम्मा सौंप सकती है। हालांकि करीब एक साल बाद भी उन्हें लेकर भाजपा ने बड़ा फैसला नहीं लिया है। एक कार्यक्रम के दौरान सिंह ने कहा था कि राहुल को नेता के तौर पर ‘विकसित’ होने की जरूरत है। वे मेरे बच्चों जैसे हैं। उनके पिता मेरे दोस्त थे। ऐसे में कयास लगाए जा रहे हैं कि वे जल्दी ही कांग्रेस का हाथ थाम अपनी पार्टी पंजाब लोक कांग्रेस का विलय कांग्रेस में कर सकते हैं।

You may also like

MERA DDDD DDD DD