[gtranslate]

भाजपा यूं तो उत्तर प्रदेश में पूर्ण बहुमत संग सत्ता में काबिज है लेकिन चुनाव पूर्व प्रदेश भर के छोटे-छोटे दलों से किया गठबंधन उसके लिए अब बड़ा सिरदर्द साबित हो रहा है। खासकर सुहेलदेव भारतीय समाज पार्टी के नेता ओम प्रकाश राजभर न केवल योगी आदित्यानाथ, बल्कि पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह तक के लिए बड़ी मुसीबत बन चुके हैं। योगी सरकार में पिछड़ा वर्ग कल्याण मंत्री राजभर लगातार प्रदेश सरकार की नीतियों पर तो कठोर टिप्पणियां कर ही रहे हैं, अब उन्होंने भाजपा पर भी प्रहार करना शुरू कर दिया है। इतना ही नहीं वे खुलकर भाजपा नेतृत्व को चुनौती दे रहे हैं कि यदि वे चाहें तो उन्हें मंत्री पद से हटा दें और उनकी पार्टी संग गठबंधन तोड़ दें। राजभर की नाराजगी के पीछे बड़ा कारण योगी आदित्यनाथ द्वारा उनकी पूरी तरह उपेक्षा करना है। राजभर अपनी पार्टी के लिए लखनऊ में एक भवन का आवंटन और सरकारी निगमों में अपने सहयोगियों की नियुक्ति चाह रहे हैं जिसके लिए योगी तैयार नहीं। खबर है कि काफी समय से राजभर की बयानबाजियों को नजरअंदाज कर रहा भाजपा नेतृत्व अब शीघ्र ही उनके खिलाफ कदम उठाने का मन बना चुका है।

You may also like

MERA DDDD DDD DD