[gtranslate]
Sargosian / Chuckles

फिर बढ़ेगी आजम खां की मुश्किलें

लगभग 27 महीने जेल में रहने के बाद जमानत पर छूटे आजम खां को लेकर खबर है कि उनकी मुश्किलें फिर बढ़ने वाली हैं। प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने उनके विरुद्ध एक और मामला दर्ज करते हुए जांच शुरू कर दी है। ईडी ने भर्ती घोटाले की जांच शुरू करते हुए जल निगम से कई बिन्दुओं पर जानकारी मांगी है। दरअसल, साल 2016 में जल निगम भर्ती के घोटाले का मामला सामने आया था। सबसे पहले आजम खान को 26 फरवरी 2020 को रामपुर से गिरफ्तार किया गया था। इसके बाद से उनके खिलाफ एक के बाद एक मामले दर्ज होते रहे, और जमानत लगातार टलती गई। आखिर में 27 महीने की जेल के बाद उन्हें सुप्रीम कोर्ट के दखल के बाद अंतरिम जमानत पर रिहा किया गया है। आजम पर दर्ज मुकदमों की संख्या अब 90 हो गई है। इनमें 89 पर वह जमानत ले चुके हैं। वर्ष 2019 लोकसभा चुनाव के दौरान आचार संहिता उल्लंघन और भड़काऊ भाषण देने के मामले में उनके खिलाफ 15 मुकदमे लिखे गए तो बाद में मौलाना जौहर अली यूनिवर्सिटी के लिए जमीन कब्जाने के 30 मुकदमे दर्ज हुए। इसके अलावा 12 मुकदमे यतीमखाना प्रकरण में दर्ज हुए। उन पर आरोप है कि सपा शासनकाल में उनके कहने पर घोसियान बस्ती में बने मकानों को तोड़कर लूटपाट की गई और उनके स्कूल के लिए जमीन पर कब्जा किया गया। गौरतलब है कि आजम खां के समर्थकों पर 11 मुकदमे डूंगरपुर प्रकरण में दर्ज कराए गए थे। यहां पहले लोगों के मकान बने थे, जिन्हें नगरपालिका की जमीन बताकर तोड़ दिया गया और गरीबों के लिए आवास बनवा दिए गए। इस प्रकरण में आजम खां नामजद नहीं थे लेकिन, पुलिस ने जब उनके समर्थकों को गिरफ्तार किया तो उन्होंने आजम खां के इशारे पर वारदात करने की बात कही। इसके बाद आजम को भी इन मामलों में आरोपी बनाया गया।

You may also like

MERA DDDD DDD DD