[gtranslate]

मुंबई के हाई प्रोफाइल मालाबार हिल्स् स्थित ‘देवगिरी’ पर इन दिनों कइयों की निगाहें हैं। ‘देवगिरी’ एक विशाल सरकारी बंगले का नाम है। पांच बरस पूर्व भाजपा की प्रदेश में सरकार बनने के बाद राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी के नेता और तत्कालीन उपमुख्यमंत्री अजित पवार को यह बंगला खाली करना पड़ा था। पवार इस बंलगे में पंद्रह बरस तक रहे थे। पवार के बाद यह बंगले देवेंद्र फडणवीस सरकार में वित्त मंत्री बने सुधीर मुंगगन्तीवार को एलाट हुआ। अबकी बार इस बंगले को पाने के लिए शिव सेना, कांग्रेस और राष्ट्रवादी कांग्रेस के कई नेता जोर लगाते बताए जा रहे हैं। हालांकि इन नेताओं को राज्य संपत्ति विभाग ने दो टूक बता डाला है कि यह बंगला एक बार फिर से अजित पवार को आवंटित किया जा रहा है। चूंकि बंगला केवल सरकार के मंत्री को ही आवंटित हो सकता है, इसके चलते चर्चा जोरों पर है कि उद्धव ठाकरे मंत्रिमंडल का शीघ्र विस्तार होगा और पार्टी को दगा देने वाले अजित पवार की वापसी बतौर उपमुख्यमंत्री होगी। चर्चा यह भी है कि राकंपा के कई बड़े नेता शरद पवार के भतीजे प्रेम के चलते खासे नाराज हैं।

You may also like