[gtranslate]

सिंधिया इफेक्ट का असर कांग्रेस ही नहीं, भाजपा में भी जमकर असर दिखा रहा है। मध्य प्रदेश भाजपा के दिग्गज और वर्तमान में पार्टी के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष प्रभात झा ने सिंधिया के पार्टी में शामिल होने और उन्हें पार्टी द्वारा राज्यसभा भेजे जाने पर खुलकर असंतोष जता दिया है। पार्टी के पुराने और विश्वस्त नेताओं में इस बात को लेकर भारी नाराजगी है कि वर्तमान नेतृत्व उन्हें दरकिनार कर बाहरी नेताओं को राज्यसभा भेजने में जुटा है। भाजपा ने अपने हिस्से की 11 राज्यसभा सीटों में से केवल 6 खांटी भाजपा नेताओं को ही टिकट दिया है

पांच नेता या तो आयातित हैं या फिर सहयोगी दलों के हैं। इस माह नवंबर में उत्तर प्रदेश से दस राज्यसभा सीटों के लिए चुनाव होना है। पार्टी सूत्रों का दावा है कि इनमें से भी कम से कम चार सीटों पर आयातित नेताओं का राज्यसभा जाना तय है। ऐसे में पार्टी के नवनियुक्त अध्यक्ष जेपी नड्डा को भाजपा के पुराने नेताओं से खासी खरी-खोटी सुनने को मिल रही है।

You may also like