प्रधानमंत्री के प्रमुख सचिव प्रमोद कुमार मिश्रा की गिनती इस वक्त के सबसे ताकतवर नौकरशाहों में की जाती है। यह कहना अतिशयोक्ति नहीं होगी कि वे न केवल सबसे ताकतवर नौकरशाह हैं, बल्कि पीएम के सबसे ज्यादा भरोसेमंद भी। कैबिनेट मंत्री का दर्जा यूं तो उनके अलावा राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोभाल को भी मिला है लेकिन सूत्रों की मानें तो पीके पीएम के सबसे भरोसेमेंद अफसर हैं। मोदी के पहले टर्म में उत्तर प्रदेश के रिटार्यड आईएएस अफसर नृपेन्द्र मिश्रा को पीएम का प्रमुख सचिव बनाया गया था। जानकारों की मानें तो नृपेंद्र मिश्रा चूंकि दिल्ली की नौकरशाही और लुटियंस जोन की राजनीति पर गहरी पकड़ रखते थे इसलिए उन्हें पीएम का प्रमुख सचिव बनाया गया था। प्रमोद कुमार मिश्रा लेकिन तब भी बतौर अतिरिक्त प्रमुख सचिव मोदी के सबसे निकट थे। दरअसल पीएम उन पर गुजरात के दिनों से भरोसा करते आए हैं। पीके मिश्रा मुख्यमंत्री मोदी के तब प्रमुख सचिव हुआ करते थे। अब पीएमओ में सबसे ज्यादा महत्वपूर्ण काम उन्हीं के जिम्मे है। हालांकि एनएसए डोभाल का जलवा भी इस सरकार में कम नहीं है लेकिन उन पर भारी पीके ही बताए जाते हैं।

You may also like