[gtranslate]
Positive news

लॉकडाउन के बीच RSS कार्यकर्ता कर रहे गरीब लोगों की मदद

लॉकडाउन के बीच RSS कार्यकर्ता कर रहे गरीब लोगों की मदद

कोरोना वायरस से पूरे देश में सम्पूर्ण लॉकडाउन है। कुछ लोग ऐसे भी जिनका गुजारा ही रोज कमाने से होता है लेकिन लॉकडाउन के चलते वे लोग अपने घरों में रहने को मजबूर हैं। ऐसे लोगों का सरकार तो अपनी ओर से हरसंभव मदद करने की कदम उठा ही रही है। पर सरकार के सहयोग के साथ ही कुछ लोग ऐसे भी जो आगे बढ़कर इन लोगों की मदद कर रहे हैं।

हमेशा विवादों में रहने वाली आरएसएस कई राज्यों में अपने कार्यकर्ताओं के जरिए लोगों तो जरूरत की चीजें और राशन पहुंचा रही हैं। आरएसएस से जुड़ा एक संगठन शाहदरा जिले की उन बस्तियों तक राशन पहुंचा रहा है जिनमें जाने से नेता तक कतराते हैं। जिन बस्तियों में यह राशन पहुँचाया जा रहा है उनमें अम्बेडकर बस्ती, शिवजी बस्ती, झिलमिल के राजीव कैम्प और विश्वकर्मा के कुछ गरीब परिवार शामिल है।  सभी कार्यकर्ता प्रति परिवार के लिए राशि दान देते है। जिस राशि से ही गरीब परिवारों की मदद की जाती है।

आरएसएस के कार्यकर्ता यह मदद अपनी निजी पूंजी से कर रहे है। यह सब कार्य धर्म जागरण समन्वय विवेक विहा नगर के कार्यकर्ताओं द्वारा विश्कर्मा शाखा/श्रीकृष्ण शाखा और समाज के सहयोग से किया जा रहा है। जिन लोगों की सहायता की जा रही है वह वो लोग है जिनके पास राशन कार्ड और बीपीएल कार्ड नहीं है।

सबसे खास बात यह है कि मदद करते समय सोशल डिस्टेंस का काफी ध्यान रखा जा रहा है। गरीब परिवारों में एक राशन किट दी जा रही है। जिसमें दाल, आटा, चावल, मसाले, नमक, साबुन, जैसी जरूरत की चीजे वितरित की जा रही है। बस्तियों में रह रहे कुछ लोगों को विशेष जिम्मेदारियां भी दी गई है। आस-पास कोई भूखा न रहे इसके लिए यह सब कार्यकर्त्ता हरसंभव प्रयास कर रहे हैं।

देश के कई स्थानों पर आरएसएस इस तरह के राहत शिविर चला रहा है। इन राहत शिविरों में समाज और अपनी ओर से लोगों से इकट्ठा किए गए राशन, सब्जी, नमक, मसाला, तेल का पैकेट बनाकर जरूरतमंदों को दिया जा रहा है। समाज के लोग भी इस मुश्किल दौर में लोगों की मदद करना चाहते हैं, और संघ के स्वयंसेवक उनकी मदद को लोगों तक वॉलंटियर के रूप में जरूरतमंदों तक पहुंचा रहे हैं।

You may also like