राज्य सरकार का पलायन आयोग बेशक पहाड़ छोड़ गया हो, लेकिन पूर्व विधायक कृष्ण चंद पुनेठा ने कृषि और पशु पालन के जो अनूठे प्रयोग किए हैं उनसे प्रभावित होकर लोग अब अपने गांव घरों को लौट रहे हैं। गांव में ही 30-40 हजार रुपए प्रतिमाह कमा ले रहे हैं। पुनेठा ने अपने डेरी फार्म में न केवल अमेरिका और फ्रांस जैसे देशों की ज्यादा दूध देने वाली गायों की नस्ल तैयार की हैं, बल्कि ऑर्गेनिक खेती के सफल प्रयोग भी किए हैं। चंद दिनों में हरा चारा पैदा करने की इजरायली तकनीक से भी उन्होंने पहाड़वासियों को परिचित कराया है। पूर्व विधायक पुनेठा के बेटे मयंक पिता के पदचिन्हों पर हैं। मयंक ने डेवलपमेंट ऑफिसर की नौकरी छोड़कर कृषि और पशुपालन में जो अनूठे प्रयोग किए उनके लिए वर्ष 2013 में गुजरात के तत्कालीन मुख्यमंत्री नरेंद्र मोदी ने उन्हें ग्लोबल एग्रीकल्चर अवार्ड से नवाजा था

उत्तराखण्ड में इन दिनों पलायन को लेकर सेमिनार हो रहे हैं। हर जगह बहसें छिड़ी हुई हैं। लेकिन व्यवहारिक धरातल पर पलायन रोकने के प्रयासों की स्थिति यह है कि खुद राज्य सरकार का पलायन आयोग पहाड़ में नहीं ठहर पाया। ‘पहाड़ का पानी और पहाड़ की जवानी’ कभी पहाड़ के काम नहीं आए, जैसी चिंता हर कोई रजानेता व्यक्त करता है। लेकिन व्यवहारिक रूप से किसी ने काम नहीं किया। सीमांत चंपावत जिले में लोहाघाट क्षेत्र के पूर्व विधायक कृष्ण चंद पुनेठा जैसे कुछ लोग अपवाद के तौर पर अवश्य हैं जो युवाओं को दिशा दे रहे हैं कि पहाड़ में रहकर भी आजीविका कमाई जा सकती है।

प्रशिक्षण देते कृष्ण चंद्र पुनेठा

लोहाघाट से करीब सात किलोमीटर दूर मायावती आश्रम से कुछ पहले ही फोरटी गांव स्थित है। इस गांव में भाजपा के पूर्व विधायक कृष्ण चंद पुनेठा का मानस डेरी फार्म स्थित है। यहां आए दिन लोगों का जमावड़ा लगता है। खासकर प्रदेश के बेरोजगार महिला-पुरुष यहां आकर देखते हैं कि किस तरह एक नेता गाय पालकर और आर्गेनिक खेती करके लोगों को स्वरोजगार के लिए प्रेरित कर रहा है। पुनेठा से प्रेरित होकर आस-पास के सैकड़ों लोग अब दूध और सब्जी बेचकर जीविकोपार्जन कर रहे हैं। पूर्व विधायक पुनेठा का मानस डेरी फार्म पर्वतीय क्षेत्र में ग्राम स्वराज, पशु पालन, कृषि प्रौद्योगिकी का प्रेरणा केंद्र बनकर उभरा है। आज से सात साल पहले सिर्फ 5 गायों से डेरी का कार्य शुरू करने वाले पूर्व विधायक आज 28 गाय पाल रहे हैं। इन गांवों के दूध से बनने वाले खोया, पनीर, लस्सी, छाछ को पैक करके पहाड़ के बाजारों में बेचा जा रहा है। डेरी फार्म में एक दर्जन लोगों को रोजगार मिल रहा है।

उत्तराखण्ड में पशु नस्ल सुधार की दिशा में सबसे पहला प्रयोग करने का श्रेय मानस डेरी को जाता है। अमेरिका में जिस तरह सेक्सेड सीमेन से उत्तम किस्म की नसल पैदा की जाती है, वैसा ही प्रयोग इस डेरी फार्म ने भी किया। इसका फायदा यह हुआ कि पहले पहाड़ी गाय जहां महज 3 से 5 लीटर दूध देती थी वहीं अब नई नस्ल की गायों से दूध उत्पादन में काफी वृद्धि हुई। अमेरिकन सेक्सेड सीमेन नस्ल की गाय 25 से 30 लीटर दूध देती है। अमेरिकन सेक्सेड सीमेन नस्ल की गाय देश में सबसे पहले पंजाब में आई थी। पंजाब डेरी फेडरेशन से ही कृष्ण चंद पुनेठा 20 डोज लेकर आए थे। गौरतलब है कि अमेरिकन सेक्सेड सीमेन की प्रक्रिया से 90 प्रतिशत बछिया ही पैदा होती हैं।

मानस डेरी फार्म हाउस ने पर्वतीय क्षेत्र में पहली बार पशु नस्ल सुधार के लिए गिर और एचएफ (हॉस्ट्रेलियन फ्रिजन) का भी प्रयोग किया। जिसमें 3 बछिया 15 माह की हैं। यह प्रयोग कभी ब्राजील में शुरू हुआ था। गिर स्वदेशी गाय है। वह मूलतः गुजरात की नस्ल है। लेकिन दुर्भाग्य से वर्तमान में गिर का ओवा और सीमेन ब्राजील से आयात किया जाता है। अमूमन पहाड़ के लोगों में यह मान्यता थी कि गाय की गिर नस्ल पहाड़ में कामयाब नहीं हो सकती। लेकिन मानस डेरी ने पहाड़ों में इस नस्ल को पैदा किया। यही नहीं बल्कि गिर और एचएफ हॉस्ट्रेलियन फ्रिजन का मिश्रण करके एक नई नस्ल ईजाद की गई है। इन दोनों के मिश्रण से फ्रांस की एबोडेंस नस्ल तैयार हुई है। इस नस्ल की गाय प्रतिदिन 25 से 30 लीटर दूध देती है। मानस डेरी में इस नस्ल की फिलहाल 28 गायें हैं। 30 गायों से दूध का कारोबार कर रहे पूर्व विधायक ने अपने आस-पास के लोगों को भी इस नस्ल के सीमने दिए हैं। जिसके चलते कई गांवों के लोग इस नस्ल की गायों से प्रचुर मात्रा में दूध प्राप्त कर रहे हैं।

मानस डेरी की पहल पर भीमताल, अल्मोड़ा, पिथौरागढ़, लोहाघाट और चंपावत के दर्जनों पशु पालकों ने अब ऐसी ही नस्ल वाली गायों को पालना शुरू कर दिया है। जिससे रोजगार का मार्ग प्रशस्त हो रहा है। आए दिन मानस डेरी में दूर-दराज के लोग आते हैं और कृष्ण चंद पुनेठा से जानकारी लेकर अपने पैरों पर खड़े हो रहे हैं। क्षेत्र के बहुत से लोग जो दिल्ली, मुंबई जैसे महानगरों में रहकर 20-25 हजार की नौकरी कर रहे थे वे अपने घरों, गांवों की तरफ लौट रहे हैं। कृष्ण चंद पुनेठा के अनुसार नई नस्ल की एक गाय से प्रतिमाह करीब 10 हजार की आमदनी हो जाती है। इस तरह जो व्यक्ति दिल्ली-नोएडा में रहकर 20-25 हजार की नौकरी कर रहा था वह दो गाय पाल कर ही इतना पैसा कमा रहा है। ऐसे में उसकी अपने परिवार से दूर रहने की बाध्यता भी खत्म हो जाती है। भीमताल के वीसी उप्रेती सहित आज कई लोगों की लंबी सूची है जो अपने घरों को लौट आए हैं और पशु पालन कर रोजगार का साधन बना रहे हैं।

प्लास्टिक ट्रे में हरा चारा उगाने की तकनीक

पशुपालन के साथ ही भाजपा के पूर्व विधायक कृष्ण चंद पुनेठा ने आर्गेनिक खेती में भी कई प्रयोग किए हैं। जिनमें सिर्फ एक सप्ताह में ही इजरायल की हाईड्रोपोनिक तकनीक से हरे चारे की पैदावार की जाती है। इसमें जमीन की खेती की बजाय प्लास्टिक की ट्रे में ही हरा चारा पैदा किया जाता है। इजरायल पद्धति के अनुसार हाईड्रोपोनिक चारा बनाने के तहत मक्के के बीज से सिर्फ एक सप्ताह में ही 10 से 12 इंच का हरा चारा तैयार हो जाता है। इसके तहत दो दिन तक मक्के के दानों को भिगो के रखा जाता है। इसके अगले दो दिन उन्हें 24 घंटे बोरी में बंद करके छोड़ दिया जाता है। इस दौरान वह अंकुरित हो जाते हैं। इसके बाद उन्हें प्लास्टिक की ट्रे में 2 से 3 सेंटीमीटर में बिछा दिया जाता है। इस पद्धति में पानी की भी ज्यादा जरूरत नहीं पड़ती। सिर्फ दिन में 4 बार स्प्रे करना पड़ता है। एक ट्रे में पूरे दिन में महज आधा लीटर पानी ही लगता है। इस तरह केवल एक सप्ताह में ही 10 से 12 इंच तक मक्का का हरा चारा पैदा हो जाता है। बिना जमीन के भी हरा चारा पैदा करने की यह तकनीक पहाड़ों में बहुत फायदे का सौदा है।

पूर्व विधायक कृष्ण चंद पुनेठा के पुत्र मयंक पुनेठा पहले एलआईसी में डेवलपमेंट ऑफिसर थे। दिल्ली में ड्यूटी करने के दौरान वह घर से दूर रहते थे। लेकिन अब वह अपने गांव में पिताजी का हाथ बंटाते हैं। मयंक पुनेठा अब कृषि क्षेत्र और दुग्ध में दिनों दिन नए प्रयोग कर रहे हैं। इसके चलते 6 सितंबर 2013 को गुजरात सरकार के तत्कालीन मुख्यमंत्री नरेंद्र मोदी ने मयंक पुनेठा को कृषि क्षेत्र में महत्वपूर्ण योगदान के लिए ग्लोबल एग्रीकल्चर एवार्ड से नवाजा था। मयंक ने जैविक कृषि में नया प्रयोग किया है। उन्होंने पॉलीहाउस में इजरायल का खीरा पैदा किया है। इजरायली खीरे का यह बीज सात रुपए का एक पड़ता है। इसकी बेल नहीं होती, बल्कि यह एक पौधा होता है। इसी तरह इजरायली टमाटर भी यहां पैदा किया गया। जिसकी खूब पैदावार हो रही है। इसी के साथ जमीन की बजाय प्लास्टिक के कट्टे में आलू बोने की नई विधि अपनाई गई है। इसमें आलू की बम्पर पैदावार होती है।

बोरी में आलू की खेती

पूर्व विधायक कृष्ण चंद पुनेठा के अनुसार जब वह विधायक थे तो चंपावत टी स्टेट से गुजर रहे थे। उन्होंने टी स्टेट के पास फूलों की खेती होती देखी। इस बाबत जब उन्होंने आस-पास के लोगों से पूछा कि यहां तो पहले बंजर जमीन होती थी, लेकिन इसे हरी-भरी किसने किया। तब लोगों ने बताया कि प्लेंस (मैदान) के एक सरदार जी हैं जिन्होंने किराए पर खेत लेकर खेतीबाड़ी की है। पुनेठा का कहना था कि जब बाहर से आया हुआ व्यक्ति खेतीबाड़ी कर सकता है तो स्थानीय वाशिंदे क्यों नहीं कर सकते। उनका दावा है कि जिस व्यक्ति के पास पांच नाली जमीन, 5 विदेशी नस्ल की गायें और एक पॉलीहाउस हो वह व्यक्ति अपने परिवार का जीवाकोपार्जन बेहतर तरीके से कर सकता है। उसे पालायन करने की बजाय अपने ही गांव, घर और खेत में यह कार्य शुरू कर देना चाहिए। जिससे उन्हें नौकरी करने बाहर जाना नहीं पड़ेगा, बल्कि घर बैठे ही 30 से 45 हजार रुपए प्रतिमाह कमा सकते हैं। आज बहुत से लोग ऐसे हैं जो महानगरों से वापस अपने घरों की ओर लौट रहे हैं और पशु पालन एवं खेती किसानी कर खुशहाल जीवन जी रहे हैं।

18 Comments
  1. Kailash 1 month ago
    Reply

    Hi
    Sir Mayank Je Ka contect number please share kare

  2. minecraft 2 weeks ago
    Reply

    Why people still make use of to read news papers when in this technological globe the whole thing is existing on net?

  3. minecraft 2 weeks ago
    Reply

    It is the best time to make some plans for the future and it’s time to be happy.
    I have learn this put up and if I may I want to suggest you few attention-grabbing issues or advice.
    Maybe you can write next articles relating to this article.
    I wish to learn even more things about it!

  4. minecraft 2 weeks ago
    Reply

    Very good website you have here but I was wondering if you knew
    of any forums that cover the same topics talked about in this article?

    I’d really love to be a part of community where I can get feed-back from other knowledgeable people that share the same interest.
    If you have any recommendations, please let me know.
    Appreciate it!

  5. minecraft 2 weeks ago
    Reply

    I’d like to find out more? I’d love to find out more details.

  6. minecraft 2 weeks ago
    Reply

    Every weekend i used to pay a quick visit this web site,
    because i wish for enjoyment, for the reason that this
    this web site conations really pleasant funny material too.

  7. minecraft 2 weeks ago
    Reply

    Hi! Would you mind if I share your blog with my myspace group?
    There’s a lot of folks that I think would really enjoy your
    content. Please let me know. Thanks

  8. minecraft 2 weeks ago
    Reply

    Hurrah, that’s what I was searching for, what a information! existing here at this web site, thanks admin of this site.

  9. NEAUVIA,歐洲血統透明質酸,目前遍布於全世界56個國家,行政總部在瑞士,卻是源自於意大利的品牌。採用21世紀先進的技術,提取出前所未有的高純度透明質酸,迅速的在全球攻占市場,卓越的品質,領先的技術和平民的價位,已經逐漸的出現在大眾的視線裡,被越來越的人使用。NEAUVIA以系列分女性專用和男性專用,大中小分子以及唇部專用和私處專用,其中私處專用己經在國內一些比較大的整形機構普遍使用。素材提取無與倫比的純淨,運用嶄新PEG鏈結技術-更安全

  10. There is definately a great deal to know about this topic.
    I really like all of the points you made.

  11. 【私服穿搭】夏日裙擺饗宴 ♥♥崔咪’S最愛8款洋裝穿搭 @ B2B崔咪TRAMY :: 痞客邦 :: 剛整理這星期的穿搭竟然都是洋裝耶>3

  12. IELLIOS是由歐盟資助倫敦大學細胞重建研究所研究. 採用諾貝爾生理醫學獎科技 , 透過”納米能量電流” 以最親膚與迅速導入的方式 , 利用電腦化系統去令皮膚再生 , 令皮膚組織在無創傷的情況下自然更新及收緊 . 這治療是無創無痛的 . 完成治療後亦沒有傷口 . 我們是香港第一引入IELLIOS的機構 , 醫生會根據客人不同情況去為你設計不同的組合 .在外國IELLIOS受到很多荷里活明星, 歌手以至政客的追棒 , Madonna的facialist kate somer -field就常用IELLIOS為她護理肌膚 , 令52歲的她肌膚輪廓均保持於30歲的狀態. IELLIOS的訊號技術,採用心臟起博起原理,活躍無法正常運作的心臟細胞。訊號技術可活化及修復愛損皮膚,透過傳送訊號,激活靜止的細胞。IELLIOS的訊號技術給予細胞指令,引發細胞再次生長,令肌膚重回年輕。

  13. BCL 【TSURURI小鼻系列】小鼻專用洗顏海綿的商品介紹 BCL,TSURURI小鼻系列,小鼻專用洗顏海綿

  14. Yesterday, while I was at work, my cousin stole my apple ipad and tested to see if it can survive a 40 foot drop,
    just so she can be a youtube sensation. My apple ipad is now destroyed and she has 83 views.
    I know this is completely off topic but I had to share it
    with someone!

  15. 牙齒 21 hours ago
    Reply

    有關雙眼皮手術、訂書針雙眼皮、上眼皮手術、雙眼皮成形術、縫雙眼皮、等一些詳細敘述或似是而非或有爭議的事項。

  16. stila 【眼部彩妝】月光寶盒的商品介紹 stila,眼部彩妝,月光寶盒

  17. If you are going for finest contents like myself, simply pay a
    quick visit this web site all the time since it offers feature contents, thanks

  18. COMPAGNIE DE PROVENCE 愛在普羅旺斯 【居家香氛系列】玫瑰薰香瓶的商品介紹 COMPAGNIE DE PROVENCE 愛在普羅旺斯,居家香氛系列,玫瑰薰香瓶

Leave a Comment

Your email address will not be published.

You may also like