Positive news

सुरक्षा के साथ ही जनसेवा भी कर रही सेना

सुरक्षा के साथ ही जनसेवा भी कर रही सेना

भारतीय सेना की वीरता के कारनामों से इतिहास भरा हुआ है, पर देश की जनता की सेवा में हाथ बंटाने में वह किसी सामाजिक संस्था से कम नहीं रही है। ऐसी ही एक और मिसाल सेना ने जम्मू के भारत-पाक सीमा पर बसे गांवों में कायम की है। यहां सेना एक ओर जहां पाकिस्तान की नापाक हरकतों का मुंहतोड़ जवाब दे रही है, वहीं दूसरी तरफ किसानों की हमसफर बनी हुई है।

सेना जम्मू की अंतरराष्ट्रीय सीमा से सटे गांवों और उसके आस-पास के इलाकों में किसानों की मदद कर रही है। किसान बेहतर खेती कर सकें इसके लिए भारतीय सेना उन्हें मुफ्त पंप और बीज दे रही है। सेना इन गांव में जाकर यहां गरीबी रेखा से नीचे रहने वाले किसानों को बेहतर खेती के लिए मुफ्त पंप, उपकरण, बीज और औजार दे रही है और आम किसानों को यह सारी चीजें सस्ते दामों पर दे रही है। किसान कम मेहनत करके अच्छा मुनाफा कमा सकें। इसके लिए सेना ना केवल इन किसानों को प्रशिक्षण दे रही है, बल्कि उन्हें आधुनिक कृषि के लिए जरूरी उपकरण, बीज और खाद्य भी मुफ्त दे रही है।

पाकिस्तान इस साल जम्मू-कश्मीर में सटी अपनी सीमा पर 3200 से अधिक बार युद्ध विराम का उल्लंघन कर चुका है, जिसमें से 2300 से अधिक बार पाकिस्तानी सेना ने यह हिमाकत लाइन ऑफ कंट्रोल पर की है। भारतीय सेना भी पाकिस्तानी सेना का मुंहतोड़ जवाब दे रही है। साथ ही सीमा से सटे किसानों की भी मदद कर रही है।

सीमा से सटे इस इलाके में लोगों की कमाई का इकलौता साधन खेती है और पाकिस्तान की तरफ से की जा रही गोलीबारी उसे प्रभावित करती है। भारतीय सेना न केवल उन्हें पाकिस्तान की फायरिंग से बचा रही है, बल्कि वे किसानों की तरफ मदद का हाथ बढ़ाकर उनके जीवन को भी संवारने लगी है। किसानों ने बताया कि खेती के लिए उन्हें आधुनिक उपकरण दिए जा रहे हैं।

भारतीय सेना ने इन दिनों सीमा से सटे हुए इलाकों में निगरानी के साथ-साथ यहां के किसानों की मदद करना भी शुरू किया है। भारतीय सेना यह कोशिश कर रही है कि पाकिस्तानी फायरिंग से प्रभावित किसानों को आधुनिक कृषि के तरीके सिखाए। सेना ने इस मुहिम को जम्मू में भारत पाकिस्तान सीमा से महज कुछ ही दूरी पर बसे मढ़ गांव में चलाया। गौरतलब है कि जम्मू के अखनूर सेक्टर से सटा मढ़ गांव अंतरराष्ट्रीय सीमा में आता है। गांव से चंद ही किलोमीटर की दूरी से नियंत्रण रेखा शुरू हो जाती है।

You may also like