[gtranslate]
entertainment

सितारों के अधूरे काम होंगे पूरे

देश कोरोना महामारी से घिरा है, हर कोई इससे हलकान है। जीवन को पटरी पर लाने की कोशिश हो रही है। इस बीच अलग-अलग क्षेत्र के कई नामचीन हस्तियों का अचानक और असमय जाना दुखद है। जैसे वरिष्ठ आलोचक नंदकिशोर नवल, कथाकार शशिभूषण द्विवेदी, अभिनेता ऋषि कपूर और इमरान खान का जाना हम सब को स्तब्ध कर दिया है। अभिनेता के तौर पर लाखों दिलों पर राज करने वाले ऋषि कपूर और इरफान खान अपने पीछे कई यादें छोड़ गए। इसके साथ ही छोड़ गए अपने अधूरे फिल्म जिसमें वे अभिनय कर रहे थे। अब डायरेक्टर-प्रोड्यूसर इसे श्रद्धांजलि के तौर पर पूरा करेंगे। इससे पहले भी कई ऐसे अभिनेता-अभिनेत्री रहे जिनकी अधूरी फिल्मों पर हुआ काम।

 

अप्रैल के आखिरी दिनों में अभिनेता इरफान खान इस दुनिया को अलविदा कह गए। एक अभिनेता के तौर पर वे सबके दिलों पर राज करते थे। अपने पीछे वह कई यादें छोड़ गए और इसके साथ ही एक फिल्म भी जिसमें वे अभिनय करने वाले थे। इस फिल्म के लिए पहले से ही फाइनल हो चुके थे और उन्हें ध्यान में रखकर स्क्रिप्ट लिखी जा रही थी। फिल्म की कहानी कोरोना वायरस जैसी महामारी से पैदा हुए हालातों पर आधारित है। जिस पर पिछले पांच साल से काम चल रहा था। इस बीच उनके निधन की खबर आई और तब लगने लगा कि अब ये फिल्म नहीं बनेगी। लेकिन अब इस फिल्म को पूरा किया जाएगा और इसके लिए इरफान खान की जगह अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत का नाम फाइनल कर लिया गया है। फिल्म का नाम ‘इमरजेंसी’ होगा। हालांकि बाद में इसका नाम बदला भी जा सकता है। इसके अलावा अभी फिल्म में अहम किरदारों के लिए अभिनेत्री फाइनल किया जाना अभी बाकी है।

अभी हम सब इरफान का गम भुला भी नहीं पाए थे कि अगले ही दिन सुबह-सुबह यानी 30 अप्रैल को एक और अभिनेता ऋषि कपूर के जाने की खबर आई। वे मुंबई के एक अस्ताल में भर्ती थे। पिछले दो साल से कैंसर का इलाज चल रहा थ। अपने जीवन के अंतिम दिनों में वे निर्देशक हितेश भाटिया की फिल्म ‘शर्माजी नमकीन’ कर रहे थे जिसकी ज्यादातर शूटिंग पू हो चुकी थी। अब भले ही वे इस दुनिया में नहीं हैं लेकिन उनके करोड़ों फैंस उनकी अंतिम और अधूरी फिल्म ‘शर्माजी नमकीन’ को सिनेमाघरों में देख पाएंगे। फिल्म के निर्माता ऋषि कपूर को श्रद्धांजलि देने के लिए विजुअल इफेक्ट का सहारा लेंगे और स्पेशल इफेक्ट्स की मदद से फिल्म की अधूरी शूटिंग को पूरा करेंगे। ये फिल्म उनके फैंस के लिए अंतिम अलविदा कहने का एकमात्र मौका है।

पिछले महीने की शुरुआत यानी 5 अप्रैल को दिव्या भारती की पुण्यतिथि थी। छोटी-सी उम्र में तेलगु फिल्म ‘बोबिली राजा’ से अपने करियर की शुरुआत करने वाली दिव्या महज तीन साल में 21 फिल्मों में काम किया था, जिसमें तेरह बॉलीवुड की थी जिनमें से ज्यादातर हिट रही। 1993 में दिव्या की मौत के समय उसके पास 10 फिल्में थी जिसमें दो ‘शतरंज’ और ‘रंग’ उसी साल रिलीज हुई बाकी 8 फिल्में अधूरी रह गई थी जिसे दूसरी अभिनेत्रियों संग फिल्माया गया। इनमें शामिल है रवीना टंडन ‘मोहरा’, श्रीदेवी ‘लाडला’, पूजा भट्ट ‘अंगरक्षक’, रेखा ‘कर्तव्य’, तब्बू ‘विजयपथ’, करीना कपूर ‘हलचल’, मनीषा कोइराला ‘धनवान’, और ममता कुलकर्णी ‘आंदोलन’ इत्यादि। इसके अलावा तीन और फिल्में थी जो कभी रिलीज ही नहीं हुई।

इस क्रम में एक नाम और जुड़ जाता है वो है बाल कलाकार और मॉडल तरुनी सचदेव का। तरुनी रासना, कोलगेट, आईसीआईसीआई बैंक, रिलायंस मोबाइल, एलजी, कॉफी बाइट, गोल्ड विजेता, शक्ति मसाला और स्टार फ्लश ड्रीम्स जैसे प्रोडक्ट्स के लिए कई टेलीविजन विज्ञापनों में काम किया। वह इंडस्ट्री की सबसे व्यस्त बाल कलाकार में से एक थी जिसने टीवी विज्ञापनों, कई तमिल धारावाहिक, 2004 में मलयालम की दो फिल्मों ‘वेल्लिनक्षत्रम’ और सैथीम में अभिनय किया और 2009 में आई हिंदी फिल्म ‘पा’ में अमिताभ बच्चन की सहपाठी के तौर पर, अभिषेक बच्चन और विद्या बालन के साथ काम किया। कलर्स टीवी की प्रसिद्ध धारावाहिक ‘ससुराल सिमर का’ में दुर्गानी के रूप में भी अभिनय किया। इसी दौरान तरुनी की एक प्लेन एक्सीडेंट में मौत हो गई जिसे बाद में तरुनी की भूमिका रुहानिका धवन ने निभाई।

बॉलीवुड में रीमा लागू बहुत ही प्रतिभावान अभिनेत्री, मॉडल और थियेटर कलाकार थी। वह हिंदी और मराठी फिल्मों के साथ ही कई टेलीविजन धारावाहिकों में किए गए अपने दमदार अभिनय की वजह से जानी जाती है। दर्शक सबसे ज्यादा उन्हें उनकी कॉमेडी और फिल्मों में किए गए यंग मदर के किरदार से जानते हैं। रीमा अपने करियर की शुरुआत टीवी धारावाहिकों से की थी। वे कई मशहुर कलाकारों के साथ अभिनय कर चुकी है।

बॉलीवुड के तीनों खान के मां की भूमिका निभाई। 1980 में उनकी पहली फिल्म ‘आक्रोश’ आई थी तब वे 31 वर्ष की थी तभी से वह मां का किरदार करती आ रही थी। वर्ष 2017 में आई मराठी भाषा में ‘देवा’ उनकी आखिरी फिल्म थी। इसी दौरान स्टार प्लस पर आने वाला धारावाहिक ‘नामकरण’ था जिसे वह बीच में छोड़कर दुनिया को अलविदा कह गई। उनकी मौत दिल का दौरा पड़ने से हुआ। रीमा के बाद उनका यह किरदार रागिनी शाह ने किया।

लेख: जनार्दन कुमार सिंह

You may also like