entertainment

छोटी फिल्म बड़ा हिट

साल 2018 की पहली छमाही गुजर गई। बॉलीवुड या कहें फिल्म उद्योग के लिहाज से पहली छमाही बहुत अच्छी रही। इस समय में रिलीज हुई फिल्मों में से एक दर्जन से ज्यादा फिल्मों ने अच्छा बिजनेस किया। जिनमें छह फिल्में 100 करोड़ के क्लब में भी शामिल हुई। अच्छा बिजनेस करने वालों में कई फिल्में तो छोटे और कम बजट की हैं। इससे नए कलाकरों के साथ कम बजट की फिल्में बनाने वाले निर्माता-निर्देशकों का हौसला चरम पर पहुंच गया है। इस दौरान कई अलग-अलग टेस्ट की मूवी बनी हैं।

यह साल अब तक बॉलीवुड के लिए हर तरह से अच्छा रहा है। फिल्मों की कहानी, स्क्रिप्ट, निर्देशन, एंटरटेंनमेंट और बिजनेस के लिहाज से इंडस्ट्री को फायदा पहुंचा है। बॉलीवुड के ट्रे ड एनालिस्ट तरण आदर्श कहते हैं, ‘इस साल अब तक आई कई फिल्मों ने अच्छा कारोबार किया। जिसने डिस्ट्रीब्यूटरों के चेहरे पर मुस्कुराहट ला दी है। अब उनमें अगले छमाही को लेकर उम्मीद जगी है कि आने वाली महीना भी फिल्म इंडस्ट्री के लिए अच्छा रहेगा। उन्होंने कहा कि अगले छह महीने में रिलीज होने वाली हर फिल्म पर मैं दांव लगाना चाहता हूं। क्योंकि कोई नहीं जानता कि कौन सी फिल्म हिट हो जाए।’

 

इस साल फिल्म ‘राजी’ और ‘सोनू की टीटू की स्वीटी’ ने सबको चौंका दिया। ‘राजी’ में आलिया भट्ट को छोड़कर कोई भी बड़ा कलाकार नहीं था। बिना बड़े कलाकारों वाले इस फिल्म के बारे में किसी ने भी नहीं सोचा था कि यह हिट हो जाएगी। राजी में न केवल आलिया, बल्कि सभी कलाकारों का अभिनय बेहतरीन रहा। आलिया के अपोजिट विकी कौशल है। विकी कौशल को उनकी पहली फिल्म ‘मसान’ से ही अच्छा अभिनेता माना जाता है, लेकिन ‘मसान’ और ‘रमन राघव’ जैसी फिल्मों में उन्हें सिर्फ उनके अभिनय के लिए प्रशंसा मिली थी। पर इंडस्ट्री ने उन्हें गंभीरता से नहीं लिया। आलिया के अपोजिट फिल्म ‘राजी’ में साइन करने के बाद इंडस्ट्री ने विकी कौशल को गंभीरता से लेना शुरू कर दिया। इस साल अभी तक की सबसे ज्यादा बिजनेस करने वाली फिल्म ‘संजू’ में विकी के अभिनय की तरीफ कर रहे हैं। ‘संजू’ देखने के बाद जब दर्शक सिनेमा हॉल से बाहर निकल रहे हैं तो वे सिर्फ रणबीर की नहीं बल्कि विकी कौशल की भी बातें कर रहें हैं।

कार्तिक आर्यन की जिंदगी भी बदल गई है। वे न सिर्फ लगातार नजर आ रहे हैं, एडवर्टीजमेंट्स और इंडोर्समेंट कर रहे हैं, बल्कि कøति सैनन के साथ एक फिल्म भी कर रहे हैं। उनकी गिनती अचानक उन कलाकारों में की जाने लगी है, जिस पर ट्रेड इंडस्ट्री और प्रोड्यूसर दोनों ही पैसा लगाने को तैयार हों। इन छोटे कलाकारों की फिल्में भी 100 के क्लब में शामिल होकर फिल्म समीक्षकों को भी चक्कर में डाल दे रही हैं। फिल्म ‘सोनू की टीटू की स्वीटी’ भी ऐसी ही फिल्म साबित हुई। यह फिल्म 100 करोड़ के क्लब में शामिल हो गई।’

इस साल अब तक छह से ज्यादा फिल्मों ने 100 करोड़ रुपए कमा लिए हैं। मई महीने में एक के बाद एक पांच फिल्में हिट हुई हैं, इनमें ‘एवेंजर्स’, ‘102 नॉट आउट’, ‘राजी’, ‘डेडपूल’ और ‘परमाणु’ शामिल हैं। जून के महीने की शुरूआत भी ‘वीरे-दी-वेडिंग’ की सफलता के साथ हुई। इस फिल्म की ओपनिंग पहले ही दिन 10 .7 करोड़ रुपए की कमाई से हुई। यह अब तक की किसी भी महिला प्रधान फिल्मों को मिली सबसे बड़ी ओपनिंग है। इस फिल्म ने भी 80 करोड़ रुपए कमाए थे। महिला प्रधान फिल्म ने अब ऐसा बिजनेस नहीं किया है। हालांकि, ‘रेस-3’ से ट्रेड एनालिस्ट को काफी उम्मीदें थी। मगर इस फिल्म ने सबको मायूस किया। इसे न तो दर्शकों ने बहुत ज्यादा पसंद किया और न ही क्रिटिक्स ने। सिनेमाघरों में यह सिर्फ 2 हफ्ते ही नजर आई। इसने केवल 165 करोड़ रुपए ही कमाए। सलमान खान की कोई भी फिल्म 250 करोड़ से कम कमाती है तो ये निराशाजनक माना जाता है।

वितरक और ट्रेड एनालिस्ट गिरीश जौहर बताते हैं, ‘रेस-3’ सलमान खान के फैंस के लिए एक हल्के-फुल्के मनोरंजन के समान थी। जबकि हर दर्शक अपने हर चहेते मेगा-स्टार से हमेशा कुछ अलग और ज्यादा की उम्मीद लगाए रहते हैं। कुछ वितरकों का मानना है कि पिछले 4-5 साल बॉक्स ऑफिस के लिहाज से बहुत अच्छा नहीं रहा जिसमें एक किस्म का ठहराव आ गया था। इस साल से धीरे-धीरे बदल रहा है। ऐसा सिर्फ 2-3 फिल्मों के कारण नहीं हो रहा है बल्कि इसकी अलग-अलग जॉनर यानी किस्म के फिल्मों की एक लंबी लिस्ट है। इनमें ‘संजू’, ‘पद्मावत’ और ‘बागी-2’ जैसी बड़ी फिल्में भी शामिल हैं। मीडियम स्केल की ‘सोनू की टीटू की स्वीटी’, ‘राजी’, ‘वीरे-दी-वेडिंग’ और ‘परमाणु’ शामिल है। फिल्मों के जॉनर में जो विविधता इस साल नजर आई है, वो दर्शकों को काफी पसंद आई है।

साल 2018 की पहली छमाही ने कई कलाकारों की जिंदगियां भी बदल कर रख दी हैं। मसलन, रणबीर कपूर, विकी कौशल और कार्तिक आर्यन ऐसे ही कलाकार हैं। रणबीर कपूर इस समय अपनी फिल्म करियर के शीर्ष पर हैं, उनकी फिल्म ‘संजू’ ने बाहुबली-2 जैसी फिल्म का भी रिकॉर्ड तोड़ दिया (एक दिन की सर्वाधिक कमाई का) और ‘पद्मावत’ का वीकेंड बिजनेस रिकॉर्ड भी पद्मावत ने अपनी ओपनिंग वीकेंड पर 114 करोड़ रुपए की कमाई की थी। रणबीर ने ‘संजू’ के अपने परफॉर्मेंस से न सिर्फ अपने समकालीन बल्कि सीनियर अभिनेताओं को भी एक बार डरा दिया है, उनकी फिल्म ने लगभग हर दिन एक नया रिकॉर्ड बनाया है।

छुट्टी न होने के बावजूद उनकी फिल्म पहले ही दिन सबसे ज्यादा कमाई करने वाली फिल्म बन गई है, जो कि 34 .5 करोड़ की थी, सबसे सफल शनिवार यानी 38 .5 करोड़ और अब तक का सबसे ज्यादा कमाई करने वाला रविवार यानी 46 .75 करोड. का रहा था। ये अब तक के तीन सबसे सफल वीकेंड में से एक बन जाता है। इस फिल्म ने ‘टाईगर जिंदा है’ का 115 करोड़ के ओपनिंग वीकेंड का रिकॉर्ड भी तोड़ दिया है। ‘संजू’ को दर्शकों के सभी वर्ग से भरपूर प्यार मिल रहा है और ऐसी उम्मीद है कि वो अब तक की सबसे ज्यादा कमाई करने वाली फिल्म रही। ‘दंगल’ को भी चैलेंज कर सकती है। दंगल के हिंदी वर्जन ने अकेले 375 करोड़ रुपए की कमाई की थी।

2018 की अगली छमाही भी कुछ बड़ी फिल्में लेकर आने वाली है। इनमें ‘थग्स ऑफ हिंदुस्तान’, ‘जीरो’, ‘सुई-धागा’ और कई अन्य फिल्में हैं। बॉक्स ऑफिस पर 2018 बॉलीवुड के लिए सबसे अच्छा साल होना चाहिए, जिसकी बेहद जरूरत थी। क्योंकि पिछले पांच सालों से इस इंडस्ट्री की चाल कुछ धीमी होती जा रही थी। इसे बदलने के लिए ये साल बहुत ही निर्णायक साल माना जा रहा है। एक हद तक इस साल ने अब तक स्टार समीकरण में भी कुछ बदलाव महसूस किए हैं, जिसमें रणबीर कपूर की फिल्में, टाईगर श्रॉफ और रणवीर सिंह जैसे कलाकारों की फिल्मों ने खान हीरोज की फिल्मों जैसी ओपनिंग पाई है। इसका मतलब ये भी है कि अगले जेनरेशन के स्टार्स अब पूरी तरह से तैयार हो रहें हैं। अगर उनके पीछे एक अच्छा डायरेक्टर होता है तो ये स्टार बड़ी संख्या में देश के विभिन्न हिस्सों से दर्शकों को सिनेमा हॉल तक लाने में सफल रहेंगे। ये स्टार अपने दम पर 200 और 300 करोड़ की हिट दे पाएंगे।

You may also like