[gtranslate]
entertainment

सलमान और शाहरुख की वो फिल्म जिसे कहा गया फ्लॉप, लेकन बॉक्स ऑफिस पर किया कमाल

सलमान और शाहरुख की वो फिल्म जिसे कहा गया फ्लॉप, लेकन बॉक्स ऑफिस पर किया कमाल

कौन राखी की दर्द भरी आवाज और ये बंधन तो प्यार का बंधन है… गाने को गाते सलमान खान और शाहरुख खान के चेहरों को भूल सकता है। लेकिन क्या आपको पता है कि एक समय था जब करण अर्जुन लगभग नहीं बनने की कगार पर आ गई थी। डायरेक्टर राकेश रोशन कि इस पुर्नजन्म पर बनी कहानी पर बहुत से लोगों को भरोसा नहीं था। इसके अलावा एक्टर्स को अपनी अलग दिक्कतें भी थीं।

राकेश रोशन ने एक दफा बताया था कि फिल्म के लिए मेरी पहली पसंद शाहरुख खान और अजय देवगन थे। लेकिन जो रोल मैंने उन्हें दिए थे वे उससे खुश नहीं थे और उन्हें आपस में बदलना चाहते थे। शाहरुख, करण का रोल करना चाहते थे और अजय अर्जुन का। मैंने मना किया तो दोनों ने फिल्म छोड़ दी। असल में उन्हें फिल्म की कहानी और पुर्नजन्म के एलिमेंट से दिक्कत थी।

राकेश रोशन ने आगे कहा कि सिर्फ उन्हें ही नहीं मेरी जान पहचान के कई लोगों को इस कहानी से दिक्कत थी। मेरे दोस्त और मेरे क्रू में काम करने वाले लोगों को भी ये कहानी रास नहीं आई थी। लव स्टोरी में ऐसा होता था और लोगों को वो पसंद भी आई थीं। लेकिन करण अर्जुन, एक मां और उसके बेटों की कहानी थी, जिसमें पुर्नजन्म दिखाया जाने वाला था। मुझे अपने विषय पर पूरा भरोसा था। मैंने लोगों से कहा था कि एक मां के बेटों को जिसकी बेरहमी से हत्या की गई हो, अगर उनकी मां कहे कि ‘मेरे बेटे आएंगे’ तो वो जरूर आएंगे।

माना जाता है कि शाहरुख खान और अजय देवगन को सबसे पहले इस फिल्म में साथ लिया गया था। शाहरुख करण का रोल करना चाहते थे और अजय अर्जुन का। लेकिन जब राकेश रोशन ने उनकी ये बात मानने से इनकार कर दिया तो दोनों ने फिल्म छोड़ दी। इसका कारण ये भी था कि दोनों एक्टर्स फिल्म की कहानी से संतुष्ट नहीं थे। इसके बाद राकेश ने सलमान खान और आमिर खान को अपनी फिल्म में लिया।

जब शाहरुख को पता चला कि सलमान और आमिर फिल्म में हैं तो वे राकेश रोशन के पास वापस लौटे। ओर फिल्म में काम करने के लिए राजी हो गए। अगर करण अर्जुन हिट ना हुई होती तो जाने कैसा होता। लेकिन इसमें कोई दो राय नहीं है कि इस फिल्म ने इतिहास रचा था और आज इसे कल्ट क्लासिक के रूप में देखा जाता है।

You may also like