entertainment

लॉकडाउन में फिर से दिखाया जाएगा दूरदर्शन पर ‘रामायण’ सीरियल, दर्शकों ने की थी अपील

लॉकडाउन में फिर से दिखाया जाएगा दूरदर्शन पर 'रामायण' सीरियल, दर्शकों ने की थी अपील

कोरोना वायरस के चलते पूरे देश में लॉकडाउन है। ऐसे में लोगों को घरों से बाहर न निकलने की सलाह दी गई है। जिसके कारण लोग घरों में कैद हो गए हैं। इस समय सभी लोग बोरियत महसूस कर रहे हैं जिसके चलते लोगों ने सरकार से अपील की थी कि रामानंद सागर की रामाणय सीरियल को टीवी पर दिखाया जाए। लोगों की अपील को मानते हुए दूरदर्शन ने घोषणा की है कि इसका प्रसारण शनिवार 28 मार्च से पुनः दूरदर्शन के नेशनल चैनल पर किया जाएगा।

 

दूरदर्शन के मुताबिक, सीरियल का पहला एपिसोड सुबह 9.00 बजे और दूसरा एपिसोड रात 9.00 बजे प्रसारित किया जाएगा। केंद्रीय मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने भी इस बात की जानकारी अपने सोशल मीडिया अकाउंट के जरिए साझा की है।

पिछले कई दिनों से लोगों की ओर से सोशल मीडिया पर मांग की जा रही थी कि रामानंद सागर की रामायण और बीआर चोपड़ा की महाभारत को टीवी पर फिर से दिखाया जाए। इसलिए अब लोगों की मांग को स्वीकार कर लिया गया है। लॉकडाउन की इस स्थिति में फिलहाल रामायण का प्रसारण दोबारा से शुरू कर दिया गया है।

रामानंद सागर की रामायण की रामायण का टेलीकास्ट पहले साल 1987 में दूरदर्शन पर किया जाता था। यह प्रसारण दूरदर्शन पर पहली बार था। वहीं बीआर चोपड़ा की महाभारत का प्रसारण भी साल 1988 में पहली बार दूरदर्शन पर हुआ था। उस समय में लोग रामायण और महाभारत बहुत पसंद करते थे। लोग इसे इतना पसंद करते थे कि अपने घर पर टीवी न होने पर दूसरों के घर जाकर देखा करते थे। जिस समय टीवी पर इसका प्रसारण होता था कि सड़कों पर एक दम सन्नाटा होता था।

रामायण में भगवान राम का किरदार अरुण गोविल ने निभाया था। उनके किरदार को अब भी बहुत पसंद किया जाता है। वहीं सीता का किरदार दीपिका चिखलिया ने निभाया था जिन्हें लोग आज भी सीता के रूप में याद करते हैं। इसमें हनुमान का किरदार दारा सिंह ने निभाया था। रावण का रोल निभाकर अरविंद त्रिवेदी भी काफी लोकप्रिय हुए थे।

साल 1987-88 में रामायण और महाभारत लोगों के बेहद लोकप्रिय धारावाहिक था। इसके किरदारों और पात्रों के कारण ही इसे बहुत पसंद किया जाता था। उस दौर में आम लोगो से लेकर नेता और अफसर तक इसे देखते थे। उस समय में लोग इतने धार्मिक हो चले थे कि गांवों में रामायण के टेलीकास्ट के समय लोग अगरबत्ती जलाकर बैठा करते थे और साथ ही चप्पलें कमरे के बाहर उतार दी जाती थीं।

यह रामायण हर मायनों से एक ऐतिहासिक शो था। उस समय रामायण का हर पात्र इस शो के माध्यम से अमर हो गया था।  इस रामायण लोगों ने खूब सराहा और प्यार दिया। इसके बाद भी कई बार रामायण जैसे धारावाहिक बनाए गए। लेकिन यह वैसा अनुभव नहीं करा पाए जो रामानंद सागर की रामायण को देख लोगों को हुआ करता था। 80 के दशक के लोकप्रिय टीवी धारावाहिक ‘रामायण’ में भगवान राम का किरदार निभाकर अरुण गोविल ने दर्शकों के दिल में ऐसी छाप छोड़ी कि आज तक उन्हें कोई भुला नहीं सका।

You may also like