[gtranslate]
entertainment

लाइफ़ टाइम अचीवमेंट और एक्टिंग आइकॉन अवॉर्ड के नामों की हुई घोषणा  

ऋषिमुम प्रोडक्शन एवं चम्बल सिने प्रोडक्शन के साझा प्रयास से निर्मल पाण्डेय की स्मृति में आयोजित हो रहा निर्मल पाण्डेय स्मृति ऑनलाइन फ़िल्म फेस्टिवल 2020 ने आज लाइफ़ टाइम अचीवमेंट अवॉर्ड एवं एक्टिंग आइकॉन अवॉर्ड के नामों की घोषणा की।

 

फ़िल्म फेस्टिवल संस्थापक, फ़िल्म एवं टीवी शो निर्देशक अनिल दुबे एवं सह संस्थापक, फेस्टिवल असिस्टेंट रवीन्द्र चौहान ने संयुक्त रूप से आज डिजिटल माध्यम से अवॉर्ड के पोस्टर रिलीज कर नामों की घोषणा करते हुए बताया कि फेस्टिवल आयोजन समिति ने निर्मल पाण्डेय स्मृति लाइफ टाइम अचीवमेंट अवॉर्ड भारतीय फिल्म कलाकार, थिएटर आर्टिस्ट और टीवी अभिनेता श्री राजेन्द्र गुप्ता जी एवं निर्मल पाण्डेय स्मृति एक्टिंग आइकॉन अवॉर्ड भारतीय फिल्म कलाकार, थिएटर आर्टिस्ट और टीवी अभिनेता श्री अखिलेन्द्र मिश्रा जी का चयन किया है।

राजेन्द्र गुप्ता छोटे पर्दे पर फैंटसी शो चन्द्रकान्ता में पंडित जगन्‍नाथ की भूमिका के लिए जाने जाते हैं। राजेन्द्र गुप्ता का जन्म 22 फ़रवरी 1945 को पानीपत (हरियाणा) में हुआ था। राजेंद्र गुप्ता ने अपने करियर की शुऱुआत वर्ष 1985 में छोटे पर्दे से की। इसके बाद उन्होंने फिल्मों में भी काम किया। नब्बे के दशक तक आते आते गुप्ता जी करीबन चालीस से अधिक टीवी शो में अपना अभिनय का लोहा मनवा चुके थे। इसके लिए उनका नाम लिम्का बुक ऑफ़ रिकार्ड्स में भी दर्ज है।

अखिलेन्द्र मिश्रा एक भारतीय फिल्म और टेलीविजन अभिनेता हैं, जिन्हें 1990 के दशक में दूरदर्शन की काल्पनिक टेलीविजन श्रृंखला चंद्रकांता में उनके किरदार के लिए जाना जाता है। उनके अन्य अभिनयों  में 1999 की समीक्षकों द्वारा प्रशंसित फिल्म सरफरोश में मिर्ची सेठ का रोल शामिल है।अकादमी पुरस्कार नामांकित फिल्म  लगान में भी अर्जन का किरदार निभाया हिंदू महाकाव्य रामायण के 2008 के टेलीविजन रूपांतरण में राक्षस राजा रावण की भूमिका निभाई।1995 में रिलीज़ हुई वीरगति में सलमान खान के विरोधी का किरदार निभाया था।

 

फेस्टिवल के मुख्य अतिथि रंग जगत व फ़िल्म टीवी अभिनेता गोविंद नामदेव जी है। गोविन्द नामदेव एक भारतीय फिल्म एवं टीवी अभिनेता हैं। इनका जन्म 3 सितंबर 1950 को सागर, मध्‍य प्रदेश में हुआ था। इनके  करियर की शुरुआत साल 1992 में डेविड धवन की फिल्म शोला और शबनम से हुई। उन्होंने हिंदी फिल्मों में कई तरीके के रोल अदा किये, जिसके लिए उन्हें कई सारे अवार्डों से भी सम्मानित किया गया। वह हिंदी सिनेमा में फिल्म ‘बैंडिट क्वीन’, ‘विरासत’, ‘सत्या’, ‘कच्चे धागे’, ‘मस्त’, ‘फिर भी दिल है हिंदुस्तानी’, ‘सत्ता’, ‘सरफ़रोश’, ‘क़यामत’, ‘ओह माय गॉड’ जैसी फिल्मों में अपने अभिनय के लिए जाने जाते हैं।

 

शॉर्ट फिल्म कैटेगरी में ‘मर्द’, ‘ललक’, ‘कचरे वाली लव स्टोरी’, ‘चित्रकार’, ‘द लास्ट ईब’, ‘मेट्रो मजनूं’, ‘कलावा चेलिया’, ‘पी अम्रेला’, ‘द सेक्रेड काऊ’, ‘सेविंग सीता’, ‘लीला’, ‘मन्टो नींद’, ‘हैप्पी बिर्थ डे’, ‘बदलाव’, ‘टेलीफ़ोन’, ‘आई विश’, ‘कमरा खाली है’, ‘रस्सी’, ‘पनिहाई’, ‘हल्लोरी’, ‘न्यू नॉर्मल’, ‘अन एफर्ट’, ‘हालात’, ‘मुखोटा’, ‘लालन’…  माइक्रो शॉर्ट फिल्म कैटेगरी में ओल्ड गेम, हण्टर, ट्रुथ, कोरोना कलाम, लिटिल स्टार, पालछिन, ध्यान रखेगा इंडिया, ड्राइंग बुक, मैजिशियन, भ्रम, उनका शुक्रिया, द लास्ट गेम…  वृत्तचित्र कैटेगरी में द सेक्रेट ऑफ स्नेकस, काला घोड़ा-द फेस्टिवल ऑफ आर्ट, कफ़न-द लास्ट वेल, जितिया- द सोल ऑफ कल्चरल सिटी दाऊदनगर, होमलेस, लेट मी टच द ब्लू स्काई, बदलाव की बयार फिल्मों का ऑफिसियल सेलेक्शन हुआ है।

फ़िल्म फेस्टिवल की ज्यूरी में टीवी व फ़िल्म अभिनेत्री आभा परमार, टीवी व फ़िल्म अभिनेत्री सादिया सिद्दीकी, टीवी अभिनेता आरिफ शाहड़ोली, फ़िल्म समीक्षक व लेखक डॉ कुमार विमलेन्दु, फ़िल्म समीक्षक व लेखक सुनील मिश्र, रंगकर्मी व फ़िल्म निर्देशक अशोक मेहरा है।

 

आयोजन समिति में फेस्टिवल मैनेजर कनुप्रिया, सलाहकार मिथलेश पाण्डेय, टेक्निकल हेड ऋत्विक ऋषभ, मीडिया हेड कविता गाँधी, प्रोग्राम हेड प्रशान्त पचौरी, डिज़ाइन कंसल्टेंट ईशा दुबे, शीलेन्द्र प्रताप सिंह, सतीश कुमार, कल्पना रघुवंशी है।

 

मीडिया पार्टनर के रूप में ‘पाखी’ पत्रिका, ‘दि संडे पोस्ट’, नव प्रवाह, ब्लंट इंडिया, न्यूज़ लाइव चम्बल, हिंदुस्थान समाचार, संदेश वाहक, ए टू जेड टीवी, न्यूज़ टाइम्स, बुन्देली बौछार, तेजस खबर जुड़े हुए हैं।

-जनार्दन कुमार सिंह

You may also like

MERA DDDD DDD DD