entertainment

हम किसी से कम नहीं

जिस गति से भारत में टीवी ने घर-घर में जगह बनाई है उसी गति से इस छोटे पर्दे से जुड़े लोगों की पॉपुलरिटी और मेहनताना दोनों बढ़ता गया है। आज अगर आप ये सोचते हैं कि टीवी स्टार किसी मामले में बॉलीवुड के नामचीन सितारों से पीछे हैं तो आप गलत हैं। घर-घर तक अपनी दस्तक दे चुके टीवी कलाकार भी उतने ही ग्लैमरस हो चुके हैं जितने बॉलीवुड कलाकार होते हैं और मेहनताने की बात करें तो छोटे पर्दे के कलाकारों का मेहनताना भी बॉलीवुड से कम नहीं है।

आज इस आर्टिकल में कुछ ऐसे ही टीवी सितारों के बारे में चर्चा करेंगे जो कमाई के मामले में कई बॉलीवुड कलाकारों को पीछे छोड़ते हैं। इस लिस्ट में सबसे पहला नाम दया बेन का है। टीवी पर तारक मेहता का उल्टा चश्मा से अपना सिक्का जमा चुकी दया बेन उर्फ दिशा वकानी एक एपिसोड के लिए सवा लाख रुपए लेती हैं। हाल ही में ये खबरें भी आईं की दिशा ने तारक मेहता का उल्टा चश्मा इसलिए छोड़ दिया क्योंकि वह अपना मेहनताना डेढ़ लाख कराना चाहती थी लेकिन इसके लिए प्रोड्यूसर राजी नहीं हुए और दया भाभी ने उन्हें टाटा कर दिया।

इतनी फीस के साथ दया भाभी की महीने भर की कमाई 37.5 लाख हो जाती है। जो कि एक साल में साढे चार करोड़ के आस-पास होती है। आपको जानकार हैरानी होगी कि यह मेहनताना बॉलीवुड की कुछ अभिनेत्रियां पूरी फिल्म के लिए लेती हैं जो कभी-कभी साल भर से ज्यादा का समय ले लेती है। सिर्फ दया भाभी ही नहीं बिग बॉस 11 फेम हिना खान यानी की टीवी की अक्षरा, इशिका मां के नाम से फेमस दिव्यांका त्रिपाठी और चोटी की सारी टीवी अभिनेत्रियां एक-एक एपिसोड के लिए एक लाख रुपए लेती हैं। पवित्र रिश्ता की बहू के रूप में ग्लैमर की दुनिया में कदम रखने वाली अंकिता लोखंडे तो एक एपिसोड के लिए 1.5 लाख रुपए मेहनताना लेती हैं।

ये तो कहानी थी अभिनेत्रियों की। टीवी में अभिनेता भी कुछ इसी तरह का मेहनताना लेते हैं। छोटे पर्दे से बड़े पर्दे पर कदम रख चुके राम कपूर एक एपिसोड में एपिरिएंस के लिए सवा लाख से डेढ़ लाख रुपए तक की फीस लेते हैं। सीआईडी के एसीपी प्रद्युमन की फीस भी इसी के आस-पास है। एसीपी प्रद्युमन यानी की शिवाजी सथाम ने थिएटर के बाद बड़े पर्दे का रुख किया। बड़े पर्दे पर कुछ खास काम न मिलने पर उन्होंने छोटे पर्दे की ओर रुख किया और एक ऐसे मैराथन सीरियल में काम करना शुरू किया जिसने कई लोगों को उनकी जवानी से लेकर बुढ़ापा आने तक उनका मनोरंजन किया। इसी सीरियल के दम पर वह सेलिब्रिटी बन गए।

यहां एक बात और गौर करने वाली है कि जो बॉलीवुड मेहनताने के नाम पर अभिनेता और अभिनेत्रियों की बराबरी की बात करता रहता है उसे एक बार छोटे पर्दे से सीखना चाहिए। यहां चोटी के सभी सितारे लगभग समान मेहनताना ही ले रहे हैं। यहां ऐसे अभिनेता और अभिनेत्री भी शामिल हैं जिन्होंने छोटे पर्दे से बड़े पर्दे तक का सफर तो तय कर लिया है लेकिन छोटे पर्दे से न तो नाता तोड़ा है और न ही छोटे पर्दे पर काम करने के लिए मेहनताने में बढ़ोतरी की। राम कपूर और एसीपी प्रद्युमन ऐसे ही नाम हैं। इसी लिस्ट में एक और नाम आता है रोनित रॉय का। रोनित टीवी के साथ-साथ बॉलीवुड में भी प्रोजेक्ट करते हैं।


इसलिए टीवी को कम आंकने वाले यह देख और समझ लें कि छोटा पर्दा अगर बड़े काम का न होता तो सदी के महानायक को उनके सबसे बुरे दौर में सहारा न मिला होता और छोटा पर्दा अगर सिर्फ एक सीढ़ी जैसा ही होता तो बाकी कलाकारों के साथ-साथ किंग खान भी बार-बार टीवी की तरफ पलट के न आते। टीवी केबल के इस युग में जिस तेजी से टीवी ने घर-घर में अपनी पकड़ बनाई है ऐसे में वो दिन दूर नहीं है जब टीवी पर फिल्में रिलीज होंगी और टीवी कलाकारों का ग्लैमर किसी फिल्मी सितारे से कम नहीं होगा।

You may also like